loading...
loading...

अमरुद के फायदे अमरूद के पत्ते के औषधीय गुण हिंदी में जानकारी

अमरूद के फायदे पत्तो के गुण पत्ते के फायदे , खेती के बारे मे जानकारी आज हम आपको देने वाले है.

अमरुद के औषधीय गुण

अमरुद खाने के फायदे हिन्दी में

अमरुद खाने के फायदे हिन्दी में

शीतकाल में होने वाले मौसमी फलों में अमरुद (gauva) एक गुणकारी फल है जो सारे भारत में उपलब्ध रहता है |

यह कच्चा तथा पका हुआ दोनों हो रूप में उपयोग में लाया जाता है | अमरुद की खेती भारत देश में  Jharkhand, Bihar, Uttar Pradesh, Maharasthra राज्यों में आराम से की जा सकती है |

इस फल में हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का बहुत गुण  है |

भोजन के बाद इसे खाने से कब्ज ,अफारा की शिकायत नही होती | बच्चो के लिए यह बहुत उपयोगी और पौष्टिक होता है |

अमरुद के प्रकार

दोस्तों यह फल पांच प्रकार का होता है –

  1. सेब अमरुद
  2.  बेदाना
  3. करेला
  4. इलाहबादी सफेदा
  5. चित्ते वाला

इलाहबादी अमरुद में गुदा ज्यादा और बीज कम है | जबकि वेदना में बीज नाममात्र का होता है |

कुछ अमरुद अंदर से गुलाबी और कुछ सफेद होते है |

अमरुद के घरेलू आयुर्वेदिक फायदे :

  • भांग का नशा उतारने के लिए :

    अमरुद के पत्तो का रस पिलाने एव फल खाने से भांग का नशा उतर जाता है |

  • दांत के रोगो का इलाज :

    मुह से दुर्गंध या मसडो से खून आता हो तो इसकी छाल को पानी में उबलकर उससे कुल्ल्ला करने से दंत रोग हो जाता है |

  • खुनी बवासीर में लाभकारी :

    इस के  पत्ते तथा छाल लेकर एक कप पानी में भिगाए | सुबह इस पानी को इतना उबालो कि पांचवा भाग शेष रहे | इस पानी को छानकर पिने से खूनी बवासीर में शीघ्र लाभ होता है |

  • उलटी दस्त का इलाज के लिए :

    इसके पत्ते का काढ़ा बनाकर पिलाने से उल्टी व दस्त आने बंद हो जाएगी |

  • बच्चो का दस्त ठीक करने के लिए :

    बच्चो को बार-बार पतले दस्त लगते हो इसके कोमल ताजे पत्ते व जड़ की छाल उबालकर उसका काढ़ा बनाकर २-२ चम्मच सुबह-शाम पिलाने से लाभ होता है |

  • मुह के छाले ठीक करने के लिए :

    अमरूद के कोमल हरे पत्ते चबाने से तथा पत्तो में कत्था लगाकर पान की तरह चबाने से मुह के छाले ठीक हो जाते है |

  • दांतों  का दर्द का इलाज  :

    अमरूद के पत्ते को चबाने या पानी में उबालकर इस पानी में फिटकरी मिलाकर कुल्ला करने से दांतों का दर्द दूर हो जाता है |

  • खूनी दस्त में राहत पाने के लिए :

    इसका मुरब्बा खाने से खुनी दस्त में शीघ्र लाभ होता है |

  • नेत्र रोग का इलाज करने के लिए :

    रात को सोते समय इसके पत्तो की पुल्टिस बांधने से नेत्रों की वेदना , सूजन एव आँखों की लालिमा शीघ्र दूर हो जाती है |

  • सूखी खांसी से बचने का उपाय  :

    अमरुद के रस में शहद मिलाकर पिने से सूखी खांसी ठीक होती है |

  • हैजा का इलाज  :

    अमरूद के वृक्ष का छाल का काढ़ा बनाकर पिलाने से हैजा के  प्राथमिक अवस्था में लाभ होता है |

  • बार बार प्यास की समस्या दूर करने के लिए :

    अमरुद के छोटे –छोटे टुकड़े काटकर पानी में भिगो दे | कुछ समय बाद उस पानी को छानकर पीने से बहुमात्रा के कारण लगने वाली प्यास शमन होता है |

  • मानसिक विकार का घरेलु इलाज :

    इसका एक पाँव इलाहबादी फल  सुबह भोजन के बाद तथा शाम को प्रतिदिन छह हफ्ते तक खाने से मस्तिष्क की मासपेशियो को शक्ति प्राप्त होती है |

  • कब्ज का आयुर्वेदिक उपचार:

    २-३ अमरुद बीज के साथ खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है |

  • स्वस्थ संतान पाने के लिए :

    गर्भावस्था में नियमित रूप से अमरुद का फल  खाने से बच्चा सेहतमंद पैदा होता है |

जानिए-

Leave a Reply