loading...
 

देसी घरेलु नुस्खे

घरेलु उपाय / तरीका

शादी के टोटके प्यार पाने के तरीके
मोटापा का इलाज नौकरी चाहिए ?
६ पैक बनाये तुरंत लड़की का चक्कर
सपने में देखना गलती से प्रेग्नंट हो ?
आंटी को पटाना है ? चुदाई के लिए लड़की चाहिए ?
रंडी के साथ सेक्स ? किसी के भी साथ सेक्स करना है ?
लड़की के ब्रैस्ट पुरुष का लिंग
loading...
loading...

बरगत का पेड़ के फायदे हिंदी में

बरगत का पेड़ के फायदे हिंदी में

बरगत का पेड़

बरगत का पेड़

बरगत का वृक्ष सभी जगह पाए जाता है | इस पेड़ को इंग्लिश में banyan Tree भी कहते है और मराठी में वड कहते है , इसके benefits कई सारे है | उसकी टहनियों से रेशे निकलकर जमीन तक पहुंचकर जमीन में घुस जाता है और मोटे होकर नए पेड़ का रूप धारण करता है |

इन रेशों को ‘ बरगत की जटाए ‘ भी कहते है | इस प्रकार के पेड़ चारों तरफ जटाए लटककर नए वृक्ष के रूप में बढती जाती है और इसका परिवार भी बढ़ता जाता है | इसका दूध सूर्योदय से पूर्व पत्ते तोड़कर ज्यादा मात्रा में प्राप्त किया जा सकता है |

बरगत का पेड़ के घरेलू नुख्से :

  • वमन :

    इस पेड़ की जटा लगाकर उसकी राख को पानी में भिगोकर , निधारकर पानी पिलाने से वमन रुख जाता है |

  • बिवाइया :

    पैर की फटी एडियो में बरगत का दूध लगाने से बिवाइया मिट जाती है |

  • भंगदर :

    बरगत के दूध में रुई का फाहा भिगोकर भंगदर पर रखकर बाँध दे | कुछ ही दिनों के प्रयोग से भंगदर नष्ट है |

  • मूत्ररोग :

    बरगत के पत्तो का काढ़ा बनाकर पीने से मूत्र की रुकावट जलन , खून आना आदि मूत्र रोग दूर होता है |

  • दस्त :

    एक बताशे में एक बूंद बरगद का दूध रख कर खिलाने से छोटे बच्चो का दस्त ठीक हो जाता है |

  • कमर दर्द :

    पेड़ का  दूध कमर पर लेप लगाने से कमर दर्द ठीक हो जाता है |

  • मस्से:

    मक्खन को पानी से 100 बार धोकर इसके कोमल पत्ते बारीक पीसकर मिलाए | शौच से निवृत्त होकर सुबह शाम इस मरहम को मस्सो पर लगाने पर आराम मिलाता है |

  • जलने पर :

    इस पेड़ के कोमल पत्ते दही के साथ पीस कर जले हुए अंगो पर लगाने पर आराम मिलाता है|

  • मधुमेह :

    बरगद की छाल को काढ़ा बनाकर पीने से मूत्र में शक्कर जाना मधुमेह में बंद हो जाता है |

  • फोड़ा :

    बरगद मुलायम पत्तो को बांधने से फोड़ा जल्दी पक कर फुट जाता है |

  • दंत रोग :

    बरगत की शाखा ओ से लटकने वाली जोड़ो से दातुन करने पर दांतों व मसूड़ो के रोगो से मुक्ति मिलती है |

  • रक्तस्राव :

    बरगद की छाल व कोंपलों को चोट लगे स्थान पर बांधने से खून आना रुक जाता है |

मटर के फायदे और नुकसान हिंदी में .

loading...

Leave a Reply