loading...
 

देसी घरेलु नुस्खे

घरेलु उपाय / तरीका

शादी के टोटके प्यार पाने के तरीके
मोटापा का इलाज नौकरी चाहिए ?
६ पैक बनाये तुरंत लड़की का चक्कर
सपने में देखना गलती से प्रेग्नंट हो ?
आंटी को पटाना है ? चुदाई के लिए लड़की चाहिए ?
रंडी के साथ सेक्स ? किसी के भी साथ सेक्स करना है ?
लड़की के ब्रैस्ट पुरुष का लिंग
loading...
loading...

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण और बचने के घरेलु उपाय

ब्रेस्ट कैंसर को स्तन कैंसर कहा जाता है.

ब्रेस्ट कैंसर

"<yoastmark

आज हम ब्रैस्ट के लक्षण और ब्रैस्ट कैंसर के उपाय के बारेमे जानकारी देने वाले है.

स्तन  कैंसर भारतीय महिलाओं में दूसरा सबसे अधिक पाया जाने वाला कैंसर है|

ग्रामीण महिलाओं की अपेक्षा शहरी महिलाओं में यह जानलेवा रोग अधिक पाया जाता है|

इसी तरह शहरी समाज के उच्च वर्ग की महिलाओं में स्तन कैंसर के मामले में अधिक संख्या में देखे जाते है|
स्तन कैंसर को साइलेंट किलर माना जाता है, क्योंकि यह चुपचाप हमला करता है|

आरंभिक अवस्था में ही रोग की पहचान हो जाने से जान का जोखिम कम रहता है|

देश में स्तन कैंसर के मामलो में तेजी से वृद्धी हो रही है| हर २२ में से एक भारतीय महिला को स्तन कैंसर है|

उम्र के साथ स्तन कैंसर की आशंका भी बढती जाती है|

जिस मरीज की माँ,मौसी या बहन को कैंसर हो तो उसे कैंसर होने की आशंका अधिक होती है|

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण :

रक्तदोष के कारण प्राय: महिलाओं में स्तन शोध हो जाती है|

यह शोध धीरे-धीरे बढती जाती है तथा घाव का रूप धारण कर लेती है|

इसमे स्तन पर नीली-नीली शिराए उभर आती है,वहा की चमड़ी सख्त तथा काली सी पड जाती है |

हर समय स्तन में दर्द की चुभन और जलन महसूस होती है |रात्रि के समय कष्ट जादा बढ़ जाता है |

स्तन कड़क होना, स्तन की त्वचा पर घाव होना, निप्पल का अन्दर की ओर धस जाना, रक्तस्त्राव होना, बगल में गाठ हो जाना और हाथ में सुजन आ जाना कुछ ऐसे प्रारंभिक लक्षण है जो स्तन कैंसर की ओर संकेत करते है|

ब्रेस्ट कैंसर की जाँच कैसे करे :

महिलाए स्वयं इन लक्षणों को देख सकती है| इसलिए आवश्यक है की वे महीने में कम-से कम एक बार अपनी जॉच स्वयं करे|

ब्रेस्ट कैंसर से बचाव :

  • सबसे पहले तो महिलाओं को एस रोग के प्रति जागरूक होना चाहिए| मोटापा न चढ़ने दे, चिकनाई वाला भोजन सिमित मात्रा में खाए,
  • शराब का सेवन बिलकुल न करे, नियमित रूप से व्यायाम करे,विटामिन सी का सेवन पर्याप्त मात्रा में करे.
  • संतरा , मौसमी , निमू, चकोतरा तथा पत्तेदार सब्जियों का अधिक सेवन करे|
  • स्वयं अपनी स्तनों का कम-से-कम प्रति सप्ताह परिक्षण अवश्य किया करे|
  • सोया का सेवन करे – सोयाबीन,सोया आटा,किसी भी रूप में सोया का सेवन करे|सोया कैंसर से सुरक्षा देता है|
  • गाजर, आडू, अखरोट, पपीता, टमाटर, मटर, शकरकंद,नाशपाती का सेवन करे|
  • विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थो को अपने भोजन में शामिल करे| विटामिन सी को एंटी कैंसर माना जाता है|यह आवला,
  • संतरा,अमरुद,निमू,पपीते, आदि में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है|
  • अंकुरित दालो व बीन्स का सेवन करे| मुंग, चना, उड़द, दाल आदि के अतिरिक्त आलू, भुट्टा आदी का सेवन भी करे|
  • स्तन-गाठ का पता लगते ही योग्य चिकित्सक से इलाज कराए |

बांझपन (infertility) का आयुर्वेदिक उपचार हिंदी.

जल्दी प्रेग्नेंट होने के टिप्स हिंदी में Jaldi pregnant hone ke tips in hindi.

loading...

Leave a Reply