loading...

धड़कन तेज होना घरेलु उपाय

धड़कन तेज होना

धड़कन तेज होना

धड़कन तेज होना

धड़कन तेज होना कारण :

ठंडे पदार्थों को ज्यादा खाने से, मानसिक चिंता, शोक, अत्यधिक क्रोध व दिनचर्या के विपरीत कार्य करने से हृदय की धड़कन तेज हो जाती है। ज्वर, खासी, ब्लड प्रेशर के कारण भी यह रोग हो सकता है।

धड़कन तेज होना लक्षण :

इस रोग में हृदय में दर्द तथा भारीपन का अनुभव होता है। मुंह सूख जाता है। रोगी को तेजी से पसीना व चक्कर आने लगते हैं। बेचैनी व आलस्य के लक्षण दिखाई देते हैं।

धड़कन तेज होना उपचार:

अंगूर:

अंगूर में ह्रदय रोगों को ठीक करने का चमत्कारी गुण होता है इसके नियमित प्रयोग से हृदय रोग नहीं होते। हृदय की धड़कन तेज होने पर तुरंत अंगूर का रस पिए इससे आपको तत्काल लाभ होगा और तुरंत हृदय की धड़कन सामान्य हो जाएगी और घबराहट भी दूर हो जाएगी।

पिस्ता:

पिस्ते  में विटामिन ई की पर्याप्त मात्रा होती है जो हृदय की धड़कनों को सामान्य कर देती है। धड़कन तेज होने पर कितने का प्रयोग करें।

गाजर:

ह्रदय की धड़कन बढ़ने पर गाजर का प्रयोग करें इस सर्वे की धड़कन सामान्य हो जाती है।  ह्रदय की इस दुर्बलता को दूर करने के लिए हर रोज गाजर का रस पिए।

फालसा:

पके हुए फालसा का रस पीने से काफी लाभ होता है ह्रदय की धड़कन है और सामान्य होने पर फालसा के रस में सोंठ व शक्कर मिलाकर पिए।

केला:

 असामान्य धड़कन होने पर केला खाने से लाभ होता है। हृदय रोग में केला लाभदायक होता है।

अनार:

अनार का रस पीने से लड़कों से ठीक हो जाती है।

बेल:

पके हुए बेल का गूदा मलाई के साथ खाते रहने से रूठे की धड़कन सामान्य होती है।

खजूर:

 खजूर के सेवन से दिल की धड़कन ठीक हो  जाती है। ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिए रोजाना खजूर का सेवन करें।

अस्थमा (दमा) का सफल उपचार.
चक्कर आना घरेलु इलाज.
देसी घरेलु उपाय हिंदी में जानकारी
पेट के रोग वशीकरण के उपाय
चेहरे की सुंदरता नौकरी लगने के टोटके
बालों का इलाज लड़की को पटाने के तरीके
 यौन रोगों का इलाज सपनो का अर्थ स्वप्नफल
प्रेगनेंसी की टिप्स खाने के फायदे
मासिक धर्म(पीरियड्स) दिमाग तेज कैसे करे?
 मोटापा कम करे भगवान की पूजा
 दांत के उपाय स्मोकिंग की आदत से छुटकारा
 बाबा रामदेव योगा लाल किताब के टोटके

Leave a Reply