loading...

गुलदाउदी के गुण फूल की हिंदी में जानकारी

गुलदाउदी के गुण

गुलदाउदी के गुण

गुलदाउदी के गुण

गुलदाउदी को Chrysanthemum कहते है .

सर्दी प्रारंभ होते ही वाटिकाओं में गुलदाउदी केव फूल खिल जाते है | गुलदाउदी का पौधा चीन तथा जपान की देन है | इसके पत्ते गहरे हरे रंग के तथा कटे -फटे से होते है | गुलदाउदी के पौधे 3-4 फीट ऊँचे होते है |
गुलदाउदी फ़ारसी भाषा का शब्द है | उह भृंगराज कुल का पौधा है | गुलदाउदी के पत्ते तासीर में ठंडे होते है | ये पौष्टिक होने के साथ वीर्यवर्ध्दक होते है | यह ह्रदय के लिए हितकारी है |

गुलदाउदी के गुण घरेलू उपाय :

सिरदर्द :

गुलदाउदी के पत्तों को पीसकर मस्तक पर लेप करने से सिरदर्द ठीक हो जाता है |

मुंह की छाले :

गुलदाउदी  के ताजा तथा नरम पत्ते धोकर मुह में चबाने से मुंह के छाले ठीक हो जाते है |

नकसीर :

गुलदाउदी के पतों का ताजा रस की २-3 बूंद नाक में टपकाने से नकसीर में शीघ्र आराम मिलता है |

ह्रदय की दुर्बलता :

गुलदाउदी के फूलों का अर्क तथा इसके फूलों का कंद सेवन करने से ह्रदय को ताकत मिलती है तथा चित्त की प्रसन्नता बढती है |

बवासीर :

गुलदाउदी के ८-१० पत्तों का रस मिश्री के साथ सेवन करने से खुनी बवासीर में शीघ्र लाभ होता है |

गाँठ पकना :

शरीर के किसी भी स्थान पर गाठं पड़ जाने पर गुलदाउदी के पत्तों की गरम पुल्टिस बनाकर बांधने से गांठ पककर फूट जाती है |

मूत्र रोग :

मूत्र त्यागने से कठिनाई होने पर इसके ५-७ पत्ते कालीमिर्च के साथ पीसकर लेने से आराम मिलता है |

आग से जलने पर :

गुलदाउदी के फूल तथा पत्तों को पीसकर जले स्थान पर लेप करने से जलन शीघ्र शांत होती है |

पथरी :

पथरी होने पर पर गुलदाउदी के सूखे फूलों के चूर्ण में १ चम्मच समभाग मिश्री मिलाकर पानी के साथ लेने से पथरी में लाभ होता है |

देसी घरेलु उपाय हिंदी में जानकारी
पेट के रोग वशीकरण के उपाय
चेहरे की सुंदरता नौकरी लगने के टोटके
बालों का इलाज लड़की को पटाने के तरीके
 यौन रोगों का इलाज सपनो का अर्थ स्वप्नफल
प्रेगनेंसी की टिप्स खाने के फायदे
मासिक धर्म(पीरियड्स) दिमाग तेज कैसे करे?
 मोटापा कम करे भगवान की पूजा
 दांत के उपाय स्मोकिंग की आदत से छुटकारा
 बाबा रामदेव योगा लाल किताब के टोटके

Leave a Reply