loading...

हिचकियां आना हिचकी की दवा उपचार

हिचकियां आना हिचकी की दवा उपचार

हिचकियां आना

हिचकियां आना

हिचकी आने के कारण व लक्षण :

हमारा यह भ्रम रहता है कि अगर हमें कोई याद करता है तो हमें हिचकी आती है। और हम हिचकी आने पर कुछ नहीं करते और उसे नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन हिचकी आने का वास्तविक कारण किसी का याद करना नहीं होता।

हिचकियां आने का वास्तविक कारण है आहार नलिका में आई रुकावट। वैसे हिचकी आना नुकसानदायक नहीं है किंतु यदि नहीं तो इसमें रोगी की जान भी जा सकती है। यह बेहद चिंता जनक स्थिति उत्पन्न ना हो सकती है तो आज हम जानेंगे हिचकी की दवा क्या है और आप कैसे इस हिचकी की दवा का घरपर इस्तमाल कर सकते हो 

हिचकी का उपचार :

नींबू:

एक चम्मच नींबू का रस व एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से हिचकी बंद हो जाती है। इसमें स्वादानुसार काला नमक भी मिलाया जा सकता है।

गन्ना:

गन्ने का रस पीने से हिचकियां पूर्णता बंद हो जाती है।

अदरक:

हिचकियों का प्रभावी उपचार करने के लिए ताजा अदरक के टुकड़ों को चूसना कारगर औषधि है इसे तत्काल लाभ मिलता है। अदरक के प्रयोग से आप हिचकियों को समाप्त कर सकते हो।

ब्लैक बेरी:

ब्लैकबेरी खाने से हिचकियां बंद हो जाती है। जब-जब आपको हिचकी आए तब-तब ब्लैकबेरी का सेवन करें।

इमली:

इमली के पानी या इमली को खाने से हिचकी आना बंद हो जाता है। छिलका रहित इमली के 1 ग्राम बीज चूसने से हिचकियां रुक जाती है।

जायफल:

पानी के साथ जायफल को घिसकर पीने से हिचकी रुक जाती है।

शरीफा:

हिचकियों में शरीफा का सेवन लाभदायक होता है। इससे हिचकियां बंद हो जाती है।

पानी:

हिचकी रोकने के लिए आप पानी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। हिचकी आने पर थोड़ा सा पानी पी लें हीचकिया बंद होगी।

ह्रदय को स्वस्थ कैसे रखें
धड़कन तेज होना घरेलु उपाय.
देसी घरेलु उपाय हिंदी में जानकारी
पेट के रोग वशीकरण के उपाय
चेहरे की सुंदरता नौकरी लगने के टोटके
बालों का इलाज लड़की को पटाने के तरीके
 यौन रोगों का इलाज सपनो का अर्थ स्वप्नफल
प्रेगनेंसी की टिप्स खाने के फायदे
मासिक धर्म(पीरियड्स) दिमाग तेज कैसे करे?
 मोटापा कम करे भगवान की पूजा
 दांत के उपाय स्मोकिंग की आदत से छुटकारा
 बाबा रामदेव योगा लाल किताब के टोटके

Leave a Reply