loading...

मूली के फायदे और नुकसान हिंदी में जानकारी

दोस्तों आज हम मूली के गुण यानिकी मूली के फायदे हिंदी में और मूली के नुकसान के बारेमे जानने वाले है | मूली को इंग्लिश में raddish कहते है और मराठी में मुळा कहा जाता है |

मूली के फायदे

मूली के फायदे

मूली के फायदे

मूली का उपयोग सलाद और तरकारी के रूप में किया जाता है और औषधि के रूप में भी किया जाता है | मूली की जड़ जमीन के अंदर होती है |
मूली के प्रकार २ होते है एक छोटी और बड़ी होती है | छोटी मूली पाचक , रुचिकारी , हल्की , ज्वर , त्रिदोषनाशक , श्वास , नासिका रोग , गरम , कंठ रोग और नेत्र रोग नाशक होती है | जबकि बड़ी मूली रुखी गरम भारी और त्रिदोष पैदा करने वाली होती है |

मूली में सोडियम फास्फोरस , क्लोरिन तथा मैग्नीशियम भी होता है | विटामिन ‘ ए , बी सी , भी इसमें पाए जाते है | भोजन के साथ हर रोज मूली खाने से से व्यक्ति अनेक बीमारियों से मुक्त रह सकता है |मूली सौंदर्यवर्ध्दक भी है |

मूली के फायदे :

  • मोटापा :
    मूली के रस में नमक और नींबू का रस मिलाकर हर पीने से मोटापा दूर होकर शरीर सुडौल बन जाता है |
  • मूत्र जलन :
    मूत्र की जलन व् रुकावट दूर करने के लिए मूली की जड़ का रस तथा उसके बीजो का चूर्ण १-१ चम्मच सुबह-शाम पीने से लाभ होता है|
  • मासिक धर्म में रूकावट :
    मासिक धर्म में रुकावट हो तो मूली के बीजो का चूर्ण १ चम्मच सुबह -शाम पानी के साथ लेने से रुका हुआ मासिक स्त्राव होने लगता है |
  • बिच्छू काटने पर :
    बिच्छू या जहरीले किट के काटने पर मूली का रस लगाने से लाभ होता है |
  • गुदे का दर्द :
    १ तोला कलमिशोरा , आधा पाँव का रस खरल करके चने समान गोलिया बना ले १-१ सुबह-शाम पानी के साथ खाने से गुदे का दर्द ठीक हो जाता है |
  • कब्ज दूर करने के लिए :
    कच्ची मूली पत्ते सहित खाने से कब्ज दूर हो जाता है |
  • तिल्ली :
    मूली टुकड़े १५-२० दिनों के लिए सिरके में डाल दे | दिन में 3 बार तिल्ली के रोगी सेवन करने से कुछ ही दिन में तिल्ली खुल जाती है |
  • पेट दर्द ठीक करने के लिए  :
    मूली के रस में नमक डालकर पीने से पेटदर्द ठीक होता है |
  • नेत्र रोग :
    मूली का रस निकलकर एक बरतन में कुछ दे रखे और निथारकर शीशी में भर ले | २-३ बूंद आँख में डालने से फुला . धुंध , जाला आदि नेत्र रोग ठीक हो जाते है |
  • भूक खुलना :
    एक कप मूली के रस में १ चम्मच अदरक का रस और १ चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीने से भूक बढती है तथा पेट संबंधी सभी रोग नष्ट हो जाते है |
  • सौंदर्य वर्ध्दक :
    मूली का हर रोज सेवन करने से रंग निखरता है , खुश्की दूर होती है , रक्त साफ़ होता है तथा चेहरे की झईया , किल मुंहासे साफ़ होते है|
  • मधुमेह :
    सुबह भोजन से पहले भरपूर मूली खाने से या मूली का रस पीने से मूत्र में शुगर आना बंद हो जाता है |
  • बवासीर :
    हल्दी के साथ मूली खाने से बवासीर में लाभ होता है |
देसी घरेलु उपाय हिंदी में जानकारी
पेट के रोग वशीकरण के उपाय
चेहरे की सुंदरता नौकरी लगने के टोटके
बालों का इलाज लड़की को पटाने के तरीके
 यौन रोगों का इलाज सपनो का अर्थ स्वप्नफल
प्रेगनेंसी की टिप्स खाने के फायदे
मासिक धर्म(पीरियड्स) दिमाग तेज कैसे करे?
 मोटापा कम करे भगवान की पूजा
 दांत के उपाय स्मोकिंग की आदत से छुटकारा
 बाबा रामदेव योगा लाल किताब के टोटके

Leave a Reply