नाम से वशीकरण कैसे करे वश में करने के टोटके हिंदी में

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको नाम से वशीकरण करने का तरीका बताएँगे इस आसन टोटके के इस्तमाल से आप किसी को भी वश में कर सकते हो जिससे आप प्यार करते हो और अपनी प्रेमिका को पत्नी को मनाने के लिए इस्तमाल कर सकते हो|

नाम से वशीकरण कैसे करे

नाम से वशीकरण

नाम से वशीकरण

अगर आपका पति किसी गैर औरत के साथ या फिर अपनी पत्नी किसी और को प्यार कर रही हो आपके तरफ ध्यान नहीं दे रही है तो आप इसका इस्तमाल कर सकते हो|

हमारे फोटो से वशीकरण करने के टोटके में हमने आपको किसी और को फोटो के इस्तमाल से आप वश में कर सकती/सकते हो|

तो आज हम आपको कुछ ऐसे मंत्र और टोटके बताने वाले जिसको आप किसी रूठे हुए को मनाने के लिए इस्तमाल कर सकते हो|

नाम से वशीकरण करने के टोटके  :

अपने प्यार को पाने के लिए उपाय करने के लिए आपको कुछ बातो का ख्याल रखना है इस नाम से वशीकरण के टोटके में आपको सिर्फ किसी का अच्छा करने के लिए ही इस्तमाल करना चाहिए|

नाम से वशीकरण करने का मंत्र :

नाम से वशीकरण करने के लिए आपको निचे दिए हुए मंत्र का जप करना है|

“ओम हारीम कुरूम पिसचिनी ( जिसका वशीकरण करना है उस व्यक्ति  का नाम लें) मं वशियम भवन्ति “

नाम से वशीकरण करने का मंत्र का जप कैसे करे जानकारी हिंदी में :

  1. ऊपर दिए हुए वशीकरण मंत्र का इस्तमाल आप किसी को वश में करने के लिए इस्तमाल कर सकते हो|
  2. इस मंत्र का प्रयोग आपको लगातार ५ शुक्रवार जाप करना है|
  3. मंत्र का जाप करने के बाद एक सफ़ेद कागज़ लेकर इस कागज़ के ऊपर अपने प्रियजन का नाम लेकर इस कागद में मोर की कलगी रखकर कागज़ में लपेट ले इसके बाद आपको ऊपर दिए हुए मंत्र का जाप करना है|
  4. अब इसको घर के किसी गुप्त जगह पर रखना है ध्यान रहे की यह सिर्फ आपको ही पता हो|
  5. ७ दिनों बाद इस को निकालकर एक शांत जगह पर इसके ऊपर देसी घी डालकर इसको जला दे|

इस सरल प्रयोग से आप अपने पति को पत्नी को प्रेमिका को दोस्त के नाम से वशीकरण कर सकते हो| इस क्रिया को करने के समय आपको अपने आप पर विश्वास और नकारात्मक विचार नहीं आने देना है|

वशीकरण के प्रभावशाली टोटके लाल किताब टोटके हिंदी में|

किसी को वश में करने का मंत्र हिंदी में जानकारी|

नोट- ऊपर दी गयी जानकारी केवल आपके जानकारी के हेतु है, इसका प्रयोग किसी को नुकसान करने के लिए नहीं करना है|

ऊपर दी गयी हुई जानकारी अन्य ज्योतिष वेबसाइट से संकलित किया गया है | हमारा समाज के प्रति अंधश्रद्धा में बढ़ावा देना उद्देश नहीं है |

 

32 Comments

  1. satish May 4, 2017
  2. SUNIL SINGH May 6, 2017
    • kaisekare May 6, 2017
  3. Ravi Verma May 15, 2017
    • kaisekare May 17, 2017
  4. kishan May 30, 2017
  5. Anjali shroff June 3, 2017
  6. brhmanand luhar June 7, 2017
  7. aman June 21, 2017
  8. J P DEEPAK Sharma June 22, 2017
  9. Nisha August 1, 2017
    • Amit August 22, 2017
  10. suchita August 1, 2017
    • SANDEEPVAISHYA September 2, 2017
  11. gautam August 3, 2017
    • vashikaran September 15, 2017
  12. kundan kumar August 14, 2017
  13. manoj yadav September 1, 2017
  14. pawan September 10, 2017
  15. nivedita verma September 13, 2017
  16. VIVEK KUMAR BHARTI September 17, 2017
  17. Jaanvi September 18, 2017
  18. rohit bhardwaj September 27, 2017
  19. Krishna October 3, 2017
  20. Shashi Ranjan Kumar October 3, 2017
  21. Sona October 4, 2017
  22. Subhash pradhan October 10, 2017
  23. Pooja October 11, 2017
    • Pooja October 11, 2017
  24. Aarohi Gupta October 13, 2017
  25. Shubh Kumar October 13, 2017
  26. Bulupatro October 21, 2017

Leave a Reply