नींद आने के घरेलू उपाय नींद की दवा

नींद आने के घरेलू उपाय और  नींद की दवा का नाम क्या है नींद आने की दवा का नाम ऐसा कई लोग सोचते रहते है.

आज हम आपको नींद आने के लिए क्या करना चाहिए की आपको शांत नींद लगे के घरेलु तरीके के बारेमे जानकारी देने वाले है.

नींद की दवा

नींद आने के घरेलू उपाय

नींद आने के घरेलू उपाय

दोस्तों नींद आने की दवा लेने से आपको एक बार में तो नींद आजायेगी मगर इसका बार बार इस्तमाल करने से आपको इसकी आदत लग जाती है इसके लिए आपको सिर्फ नींद आने के घरेलू उपाय का ही इस्तमाल ही सबसे बढ़िया रहेगा |

पर्याप्त नींद न मिलने से अनेक रोगों का जन्म होता है | इसके लिए हमें पूरी नींद लेनी जरुरी है |

अनिद्रा के कारण कब्ज बढती है , शरीर ढीला तथा बिमारी जैसा रहता है , काम में मन नही लगता ,बुखार जैसी शिकायत रहती है ,सिरदर्द बना रहता है |

शरीर को पुनः ऊर्जा प्राप्त करने के लिए निद्रा जरुरी है |

बच्चो को पर्याप्त नींद न मिलने से उनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम होती है |कम नींद लेने से स्मरणशक्ती कमजोर करती है |

दिमाग की याद रखने की  क्षमता पर भी प्रभाव पड़ता है |

नींद कितना समय लेनी जरुरी है ?

नींद की अवधि कितनी होनी चाहिए , यह तो व्यक्ति की आयु , अवस्था तथा शारीरिक श्रम के ऊपर निभर्य करता है | वे व्यक्ति शारीरिक परिश्रम करते  है , उन्हें एक दिन में कम -से -कम आठ या दस घंटे की नींद बहुत अवश्यक है |

उम्र के हिसाब सेनींद समय
१-३ वर्ष के बालक को१२-१४ घंटे
३-६ वर्ष के बालक को११-१३ घंटे
६-१२ वर्ष के बालक को१० -११ घंटे
१२ -१८ वर्ष के बालक को८-९ घंटे
स्वस्थ युवा लोगो को८ घंटे
प्रौढ़ व्यक्ति को६-७ घंटे
प्रौढ़ मेहनतकश को८-९ घंटे

मस्तिष्क की कार्यकुशलता ,मानसिक  क्षमताओ एव शारीरिक स्वास्थ  में श्रेष्टता लाने  तथा उर्जा-शक्ति हेतु विश्राम की अत्यधिक आवश्यकता होती है |

अत्यधिक थकान एव तनाव में से निकलकर जब बिस्तर पर लेटते है ,तो वही अवस्था विश्राम है |

विश्राम के समय गहरी नींद लेना बहुत महत्वपूर्ण है |

नींद के प्रकार :

आमतौर पर  इसकी तिन अवस्थाए होती है :

  1. जाग्रत अवस्था
  2. स्वप्न अवस्था
  3. सुपुष्त अवस्था

जब आप जाग रहे होते है | तब जाग्रत अवस्था में होते है |

जब सोते समय नींद में कोई स्वप्न देख रहे होते है , तब स्वप्नावस्था होती है तथा जब गहरी नींद में सो रहे होते है , तब वह सुपुष्तावस्था होती है |

नींद आने के घरेलू उपाय :

आज हम नींद आने के घरेलू उपाय में नींद आने के आयुर्वेदिक उपाय बताएँगे. नींद अधिकतर रोगों की सहज दवा है |

वक्ती दिन भर परिश्रम करने के बाद रात को इतनी नींद लेता है कि सुबह उसे बिलकुल आलस न रहे तो वह उसके लिए पर्याप्त होती है |

नींद से शरीर को उर्जा मिलती है , वह रीचार्ज हो जाता है |

गहन निद्रा के लिए कुछ उपाय अपनाए जा सकते है –

  • बिस्तर पर जाने से पूर्व पेशाब अवश्य करे , मूत्र के वेग को कभी न रोके |
  • रात में सोने से पूर्व एक गिलास ठंडा पानी पीकर सोए |
  • मच्छर के काटने से नींद टूट जाती है , मच्छरदानी का उपयोग करे |
  • एक बार और ध्यान दे , रात को पुरे कपड़े पहनकर न सोए | ढीले-ढाले कपड़े कपड़े पहनकर सोए |
  • अकसर मंद रोशनी तथा हवादार कमरे में नींद अच्छी आती है | खुले हवादार कमरे में सोए |
  • गरिष्ठ भोजन से कब्ज बनती है | कब्ज के कारण नींद में बाधा पडती है | रात्रि को पाचक और हलका भोजन करे |
  • सोने का समय तय होना चाहिए , देर तक जागने से निद्रा नाश होता है |
  • चाहे तो एक गिलास ठंडा- मीठा दूध पीकर सोए |
  • परिश्रम करने से नींद अच्छी आती है , जिसकी कार्य –प्रवृत्ति बैठने की है , दो चार की.मी. पैदल चलकर इसे आरामदायक बना सकते है.

मोटापा घटाने का उपाय मोटापे का घरेलु इलाज आयुर्वेदिक दवा.

पेट साफ़ करने के उपाय Pet Saaf kaise kare.

loading...

Leave a Reply