loading...

पसलियों में दर्द सीने का दर्द का इलाज

पसली में सूजन सीने का दर्द

पसली मे दर्द

पसली मे दर्द

पसलियों में दर्द का कारण :

पसली व सिने का दर्द संक्रमण के अलावा सर्दी लगने, अनियमित आहार-विहार तथा कमजोर होने के कारण होता है। इसके अलावा दूषित जल के सेवन से भी यह दर्द उत्पन्न हो जाते हैं।

पसलियों में दर्द सूजन उपचार :

  • अदरक: 30 ग्राम अदरक या सोंठ को पीसकर आधा किलो पानी में उबालकर छानकर दिन में 4 बार पिए इससे पसली में सूजन दर्द ठीक हो जाता है।
  • गाजर: गाजर को उबालकर उनका रस निकाल लें इस रस में शहद मिलाकर पीने से सीने का दर्द ठीक हो जाता है।

 

जलन से उत्पन्न दर्द :

दर्द का कारण व लक्षण:

आग से जलने पर त्वचा मी दाहा उत्पन्न ना हो जाता है। यदि त्वचा ज्यादा ना जली हो तो फफोले हो जाते हैं। जबकि ज्यादा जलने पर घाव हो जाता है जिस में तीव्र जलन होती है। त्वचा में फफोले हो जाने पर उसमें मवाद पड़ जाता है व बदबूदार स्त्राव होने लगता है।

दर्द का उपचार:

  • आम : आग से शरीर का कोई अंग जल जाए तो आम के पत्तों को जलाकर इनकी भस्म को जले हुए पर  बुरकिये। इससे जला हुआ अंग ठीक हो जाएगा।
  • गाजर : कच्चे गाजर को पीस कर आग से जले हुए अंग गया स्थान पर मरहम की तरह लेप करने से वह मिट जाता है। साथ ही दाह के परिणाम स्वरुप त्वचा में बनने वाला पिप बनना भी बंद हो जाता है।
  • केला : आग से जल जाने पर जले हुए स्थान पर खूब पके केले के गूदे को फेंट कर मरहम की तरह लगा दे इसे तुरंत ठंडक मिलती है व दाह शांत हो जाता है।
  • नारियल : आग से जले हुए स्थान पर तुरंत ही चुने का निकला हुआ पानी और नारियल का तेल समान मात्रा में मिलाकर लगाने से जलन तत्काल शांत हो जाती है तथा फफोले इत्यादि भी नहीं पड़ते इस उपचार को दिन में दो बार अवश्य करें।
हकलाना तोतले पन का इलाज हिंदी में.
पेशाब का रुकना कारण व इलाज उपचार.
देसी घरेलु उपाय हिंदी में जानकारी
पेट के रोग वशीकरण के उपाय
चेहरे की सुंदरता नौकरी लगने के टोटके
बालों का इलाज लड़की को पटाने के तरीके
 यौन रोगों का इलाज सपनो का अर्थ स्वप्नफल
प्रेगनेंसी की टिप्स खाने के फायदे
मासिक धर्म(पीरियड्स) दिमाग तेज कैसे करे?
 मोटापा कम करे भगवान की पूजा
 दांत के उपाय स्मोकिंग की आदत से छुटकारा
 बाबा रामदेव योगा लाल किताब के टोटके

Leave a Reply