loading...
loading...

पीठ का दर्द कमर दर्द का घरेलु इलाज

loading...

पीठ का दर्द

"<yoastmark

पीठ का दर्द कमर दर्द  आदमी की उसके जीवन में कभी कभी होता है |जिससे वो बहुत परेशान रहता है |

सच तो यह है पीठ का दर्द भाग दौड भरी जीवन का आधुनिक उपहार है | kamar dard ka ilaj baba ramdev in hindi

पीठ दर्द का  कारण :

शरीर में पीठ का दर्द का कारण यानिकी कमर दर्द में  रिढ की हड्डी व उसके जुडी मासपेशीया है.

जीनमे गलत ढंग से बैठ्ने ,खडे होने और लेटने के समय आवश्यकता से अधिक दबाब पडने से दर्द होने लगता है |
कमर का दर्द के कारण कई सरे हो सकते है. जानिए करे कमार दर्द का घरेलु इलाज बाबा रामदेव योगा से भी हो सकता है.

जब बच्चे स्कूल में बैंच पर बैठकर काम करते है तो गरदन ,सिर व कमर को आगे की तरफ झुका लेते है |

इस स्थिती में बैठकर काम करने से पीठ का दर्द की संभावना ज्यादा  बढ जाती है |

हम में से ज्यादातर लोग विशेषकर घरेलू औरते कोई भी व्यायम नही करती |

अकसर घंटो तक बिस्तर पर पडे रहना या गलत मुद्रा में बैठना ,उठना और सोना कमर दर्द का कारण बनता है |

आमतौर ४० वर्ष के बाद आदमी के रीढ की हड्डीयो का क्षरण शुरु हो जाता है |

हड्डीयो में कैल्शियम और खनिज की कमी होने के कारण मांसपेशिया कमजोर हो जाती है |

इसके अलावा पोषक की कमी , लंबी बिमारी की वजह से पीठ का दर्द शुरू हो जाता है |

पीठ दर्द का उपाय :

अपने ,उठणे ,बैठ्ने ,झुकने ,लेटने ,चलने के गलत मुद्राओं को सुधार लाकर हम पीठ का दर्द को रोक सकते है |

कैसे बैठे :

ऊँची एडी के चप्पल व सैंडल ज्यादा समय तक नही पहने ,इससे मासपेशिया  पर जादा दबाब पडता है |

जमीन से कोई भी वस्तू को उठाते समय अपनी पीठ को न झुकाकर हमेशा घुटनो को मोडकर ही वस्तु को उठना चाहिए |
हमेशा सीधे बैठकर ही भोजन करना चाहिए ,न कि कमर को आगे की और झुकाकर |

कुछ भी लिखते -पढते समय हमारी गरदन और सीर आगे की और झुके होने चहिए |
उँचाई पर रखी किसी वस्तु को उतारने के लिए उचकने की जगह स्टूल आदी को उपयोग करना चहिए |

कैसे खडे हो :

कभी भी लगातार खडे रहना हो तो हमेशा पांव की स्थिती बदलकर खडे रहना चहिए |
हमेशा आरमदाई चप्पल ,जुते व सैंडल पहनने चहिए |रात को गहरी निंद सोने से मासपेशिया को बल मिलता है और खून की हारमोन की मात्रा बढती है |

पीठ दर्द का उपचार :

जानिए पीठ का दर्द कम करणे के कुछ जरुरी उपाय

  • लहसून को सरसो के तेल में खूब अच्छी तरह पकाकर उसी में मसल दे ,सुबह धूप में बैठकर इसकी मालिश करे |
  • पीठ मै दर्द लगातार हो तो सोने से पहले पीठ की सोने से पहले पीठ की बैंगन-हल्दी से सिंकाई करे |
    फिर रुई रखकर बाँध दे |
    इससे रीढ की हद्दी को गरमहट मिलेगी और दर्द में राहत महसूस होगी  |
  • दो लिटर पानी में फिटकरी डालकर उबाले ,गुनगुना रहने पर कोई सूती कपडा रखकर पीठ पर से डाले|
    ऐसा करने से कमर दर्द में अवश्य आराम मिलेगा |
  • हल्दी ,कपूर को सरसो के तेल में पकाकर पीठ की मालिश करे |
    इसके बाद आधा घंटा धूप में अवश्य बैठे |
  • सोने से पूर्व महानारायण तेल की मालिश धीरे-धीरे करे एक छोटा चम्मच हल्दी या गुनगुने पानी  से सेवन चार दिन नियमित करे |
    ठंडी चीजे चावल दही ,आइसक्रीम न खाए तथा ए .सी ,पंखा में ना सोए |

गठिया रोग होने के कारण और गांठ के घरेलु उपचार हिंदी में.

पेट की चर्बी कम करने के उपाय योगा (असरदार तरीका)

loading...
देसी घरेलु उपाय हिंदी में जानकारी
पेट के रोग वशीकरण के उपाय
चेहरे की सुंदरता नौकरी लगने के टोटके
बालों का इलाज लड़की को पटाने के तरीके
 यौन रोगों का इलाज सपनो का अर्थ स्वप्नफल
प्रेगनेंसी की टिप्स खाने के फायदे
मासिक धर्म(पीरियड्स) दिमाग तेज कैसे करे?
 मोटापा कम करे भगवान की पूजा
 दांत के उपाय स्मोकिंग की आदत से छुटकारा
 बाबा रामदेव योगा लाल किताब के टोटके

Leave a Reply