बच्चो को मोटा करने की जानकारी Baby ko Mota karna Tips in Hindi

, , 6 Comments

१ साल बच्चे को मोटा करने के लिए क्या खिलाए ?

नमस्ते दोस्तों, आज हम आपको १ साल के बच्चे को मोटा करने के लिए क्या खिलाए के बारे में जानकारी देने वाले हैं | हम देखते हैं कि बच्चा पैदा होने के बाद काफी पतला होता है, हर किसी को लगता है कि मेरा बच्चा गोल मटोल दिखना चाहिए | बच्चे को गोल मटोल बनाने के लिए मां-बाप क्या-क्या नहीं करते हैं, बहुत सारे मां बाप तो ऐसे होते हैं जो बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए बच्चे को रोजाना विभिन्न प्रकार के पदार्थ खिलाते रहते है |

१ साल बच्चे को मोटा करने के लिए
१ साल बच्चे को मोटा करने के लिए

देखा जाए तो बच्चे का वजन बढ़ना यह बच्चे के शरीर पर निर्भर करता है, जिन बच्चों के शरीर का मेटाबॉलिज्म ज्यादा होता है उन बच्चों का वजन बढ़ने में कोई ज्यादा वक्त नहीं लगता है |

लेकिन कुछ बच्चे ऐसे होते हैं जिनको बहुत कुछ खिलाने के बाद भी उनका वजन नहीं बढ़ता है, देखा जाए तो बच्चे का वजन बढ़ाते समय बच्चे को सभी पौष्टिक पदार्थों का सेवन करवाना चाहिए | जब तक बच्चे के शरीर में सारे पोषक तत्व नहीं आएंगे तब तक बच्चे का वजन नहीं बढ़ सकेगा | १ साल के बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या-क्या करना होगा ? के बारे में आज हम आपको पूरी जानकारी बताएंगे |

बेबी को मोटा करने से क्या होता है ?

बेबी को मोटा करने से क्या होता है
बेबी को मोटा करने से क्या होता है
  • बहुत सारे मां बाप को सवाल होता है कि बच्चा अगर मोटा है तो इससे क्या होगा, दोस्तों हम आपको बताना चाहते हैं कि जो बच्चे मोटे होते हैं वह काफी सुंदर और आकर्षक दिखते हैं | सुंदर और आकर्षक दिखने के साथ-साथ मोटे बच्चों की सेहत काफी संतुलित और अच्छी होती है |
  • बचपन में ही अगर बच्चे के शरीर का ठीक तरह से विकास होता है तो बड़ा होकर बच्चे के शरीर में किसी प्रकार की तकलीफ नहीं रहती है |
  • हम देखते हैं कि बहुत सारे बच्चों के शरीर में पूरी तरह से पोषक तत्व ना होने के कारण बच्चों का विकास ठीक तरह से नहीं होता है | इसीलिए मां बाप ने अपने बच्चे के भोजन में फाइबर, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट्स, मैग्निशियम सारे पोषक तत्वों का समावेश करना चाहिए जिससे आपका बच्चा मोटा और आकर्षक दिखेगा |
  • जो बच्चे मोटे होते हैं उन बच्चों की नींद भी काफी अच्छी होती है | देखा जाए तो १ साल की उम्र में बच्चे की नींद कम से कम १०-१२ घंटे होना जरूरी होता है | जिन बच्चों की नींद १०-१२ घंटे होती है उन बच्चों को किसी प्रकार की बिमारी यां संक्रमण नहीं होता है | ज्यादा नींद लेने से बच्चों के शरीर में मेटाबॉलिज्म प्रक्रिया सही रहती है |

छोटे बेबी को मोटा करने के लिए क्या करे ?

baby ko mota karna in hindi
baby ko mota karna in hindi

हर बच्चे को बचपन से हष्ट-पुष्ट और तंदरुस्त रखने के लिए माता-पिता हर प्रकार की कोशिश करते है | इसलिए छोटे बच्चे के खान-पान बहुत जरुरी होता है | उन्हें खाना थोड़े-थोड़े समय बाद कुछ न कुछ खाने को देना चाहिए |

पोष्टिक खाना दो इससे बच्चे का पेट भी भरा रहता है | एक ही बार सारा खाना न खिलाए | छोटे बच्चो को क्या प्रोटीन युक्त और पोष्टिक खाना देना चाहिए इससे माता-पिता हमेशा परेशान में रहते है ,

बहुत लोग को नही पता होता है , की बच्चो को भोजन में क्या पोष्टिक दिया जाए |वे परेशान रहते की केसे अपना बच्चो को तंदरुस्त रखे |

Zinc वाला आहार दे बच्चों को –Zinc वाला आहार

Zinc वाला आहारकुछ बच्चे बहुत कमजोर दिखते है उनकी उम्र के अनुसार ग्रोथ नही बडती है , क्योकि उन बच्चो को बहुत कम भूक लगती है ,इसलिए वे बहुत कम खाते है |

भूक की कमी ,कम खाना इसका कारण है उनके शरीर में zinc की कमी होती है | इससे माता -पिता बहुत परेशान हो जाते है की क्या पोष्टिक खाना दिया जाए ?

आज हम बताएंगे zinc शरीर में कम होती है , तो बच्चो के आहार में मूंगफली , पालक , मशरूम, तरबूज और दूध भी शामिल करें |बच्चो के आहार में ये नियमित डाईट रखें |

तो बच्चो का वजन बढाने लगता है और उम्र के साथ-साथ उनकी अच्छी तरह से ग्रोथ होती है |

बच्चो को ज्यादा मीठा खाना व नमक नहीं देना है –

ज्यादा मीठा खाना व नमक
ज्यादा मीठा खाना व नमक

आपके बच्चो के आहार में ज्यादा नमक न रहें , इससे बच्चो का बड़ा नुकसान होता है जैसे की बीमारिया घेर लेता है | बच्चो के आहार में ज्यादा नमक हो तो शरीर का पानी सुख जाता है |

शरीर के लिए सोडियम जरुरी है तो नमक के द्वारा मिलता है परंतु ज्यादा नमक खाने से बॉड़ी को हानिकारक होता है | इसलिए बच्चो के आहार में नमक कम होना चाहिए |

बच्चो को बाहर का खाना नहीं खिलाये –

बाहर का खाना
बाहर का खाना

आमतौर पर बच्चो को बाहर का खाना मत दिया करो इससे उनकी पाचन क्रिया अच्छी तरह से नही होती | इससे उनका वजन होने लगता है और कमजोर दीखते है |

पेट की समस्या भी शुरू हो जाती है | इसलिए बच्चो को घर का ही खाना देना चाहिए पोष्टिक और प्रोटीन युक्त |

फल तथा मेवा रोजाना दे बच्चो को मोटा होने के लिए –

ड्राई फ्रूट मेवा
ड्राई फ्रूट मेवा

आपके बच्चे के बढने के उम्र में फल या मेवा खाना बहुत ही जरुरी है इससे बच्चा तंदुरुस्त रहता है |

बच्चो को फल पोष्टिक से भरे तत्व के फल देने चाहिए जैसे की – सेब , संतरा , तरबूज ,केला , अंगूर आदि , इनसे बच्चो को उर्जा भी प्राप्त होती है|
कैलोरी और कोलेस्ट्रोल के लिए बच्चो को बदाम , मेवा , पिस्ता , मूंगफली , काजू आदि खाना चाहिए |

आप बच्चो को ये फल तथा मेवा रोजाना आहार में नियमित हो , तो बच्चा मोटा और हष्ट-पुष्ट रहता है | उनकी प्रतिकारक शक्ति बढ़ेगी |

बच्चे को मोटा करने के लिए माँ के लिए टिप्स :

बच्चे को मोटा करने के लिए
बच्चे को मोटा करने के लिए
  • दूध का स्त्राव बढ़ाना हो तो हर रोज भिगोए हुए मेथी का सेवन करे परंतु ५० ग्राम से कम खाए |
  • शतावरी चूर्ण का सेवन करने से भी दूध का स्त्राव बढ़ता है ,और बच्चे की हालत अच्छी और मोटा बनता है |
  • जब माँ जो भी खाते हो उसका सार या तत्व दूध में उतरता है , इसलिए खाने में प्रोटीन , फल सब्जिया , fats सभी बराबर मात्रा में खाए |
  • नवजात बच्चे को मोटा बनाने के लिए हर १ या २ घंटो के बाद माँ का दूध पिलाना चाहिए |
  • ९ महीने का होने पर केला और घी जैसे नरम पदार्थ खिलाए | बच्चो को बहुत सारा प्यार दो , बच्चा मोटा और तंदरुस्त हो जाएगा |

दस्त का इलाज बच्चों के दस्त रोकने के उपाय

छोटे बच्चों का वजन कम है तो क्या खिलाए ?

छोटे बच्चों का वजन कम है
छोटे बच्चों का वजन कम है
  • बचपन में बच्चों को दिन भर खेलते रहना काफी ज्यादा पसंद होता है, जिसके कारण छोटे बच्चों का वजन बढ़ते समय मां ने अपने बच्चे को रोजाना नाश्ता देना बिल्कुल नहीं भूलना चाहिए | क्योंकि नाश्ता करने से बच्चे के शरीर में तुरंत एनर्जी आती है, रात को नींद में बच्चे के शरीर में जो भी एनर्जी होती है वह खत्म हो जाती है | जिसके कारण बच्चे को अगर सुबह सुबह एनर्जी मिलती है तो बच्चे के शरीर का मेटाबॉलिज्म प्रक्रिया और मजबूत बनेगी |
  • अगर आप १ साल के बच्चों को दूध पिलाती हो तो खाना खाने से एक घंटा पहले अपने बच्चे को दूध पिलाए जिससे १ घंटे के बाद बच्चे को फिर से भूक लगेगी | बच्चे को भूख लगने के बाद आपने बच्चे को फलों का सेवन करवाना चाहिए | फलों का सेवन करने से बच्चे के शरीर को सारे पोषक तत्व मिलेंगे जिससे धीरे धीरे बच्चे का वजन बढ़ सकता है |
  • छोटे बच्चों का वजन बढ़ते समय आपने बच्चों के भोजन में पनीर, चीज, इन जैसे दूध से बनी हुई चीजों का समावेश करना चाहिए | यह चीजे कैल्शियम युक्त होती है, बच्चे के शरीर में जितना ज्यादा कैल्शियम जाएगा उतनी बच्चे की हड्डियां मजबूत होंगी और बच्चे का वजन बढ़ने में भी मदद होगी |

निमोनिया का घरेलू उपचार आयुर्वेदिक इलाज हिंदी में

छोटा बच्चा खाना नहीं खा रहा है तो उसे खाना कैसे खिलाएं ?

छोटा बच्चा खाना नहीं खा रहा है
छोटा बच्चा खाना नहीं खा रहा है
  • बहुत सारे बच्चों में समस्या होती है कि वह खाना खाते ही नहीं है, उन्हें दिनभर खेलना अच्छा लगता है दिनभर मस्ती करना अच्छा लगता है, लेकिन खाना खाना बिलकुल अच्छा नहीं लगता है | छोटा बच्चा खाना ना खाने के कारण मां-बाप बिल्कुल चिंताग्रस्त हो जाते हैं |
  • ऐसे वक्त मां बाप ने अपने बच्चे के पसंदीदार चीजों का सेवन बच्चे को करने के लिए कहना चाहिए | शुरुआती में आपने बच्चों को चॉकलेट या फास्ट फूड का सेवन करने के लिए कहना चाहिए जैसे जैसे बच्चे को खाना खाने की आदत लग जाएगी वैसे-वैसे आपने बच्चे के भोजन में पोषक तत्वों से भरे हुए चीजो का सेवन करना चाहिए |
  • बच्चे को रोजाना चॉकलेट या फास्ट फूड जैसे चीजों का सेवन करने के लिए बिल्कुल ना दे, बच्चों को जितना पोषक तत्व से भरे हुए चीजो का सेवन आप करने के लिए दोगे उतना आपका बच्चा स्वस्थ और निरोगी रहेगा | बच्चों के अंदर खाना खाने की रुचि बढाने के लिए आपने बच्चों के साथ खुद खाना खाना चाहिए जिससे बच्चा और जी लगाकर खाना खाएगा |
  • जो बच्चे खाना नहीं खाते हैं उन बच्चों के खाने में आपने मैंगनीज, मैग्नीशियम और विटामिन b१२ इन पोषक तत्वों को इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि यह सारे पोषक तत्व भूख बढ़ाने में काफी माहिर होते हैं |

वायरल फीवर बुखार का उपचार लक्षण.

बच्चों की सेहत कैसे अच्छी होती है ?

बच्चों की सेहत
बच्चों की सेहत
  • जिन बच्चों का आहार अच्छा होता है उन बच्चों की सेहत ऑटोमेटिक अच्छी होती है, अगर आपको लगता है कि आपके बच्चे की सेहत हमेशा मजबूत होनी चाहिए तो आपने बच्चों को रोजाना सुबह नाश्ता देना जरूरी है | नाश्ते में आपने बच्चे को ओट्स, खीर,नट्स इन चीजों का सेवन करने के लिए देना चाहिए क्योंकि यह चीजे ज्यादा प्रोटीन युक्त होती है |
  • बहुत सारे बच्चे ऐसे होते हैं जो काफी पतले होते हैं, पतले बच्चे बिल्कुल भी अच्छे नहीं दिखते हैं और उनके शरीर में किसी प्रकार की ताकत नहीं होती है | बच्चे को मोटा करने के लिए बच्चे को रोजाना खाना खाने के बाद मक्खन खाने के लिए देना चाहिए | मक्खन में फैट होता है जो शरीर का वजन बढ़ाने के साथ-साथ शरीर को स्वस्थ और तंदुरुस्त बनाता है |
  • बच्चे को सेहतमंद बनाने के लिए मक्खन के साथ साथ शकरकंद का सेवन करने के लिए भी कहे | शकरकंद में विटामिन ए, विटामिन सी, फास्फोरस, पोटेशियम, और मैंगनीज होते हैं जो बच्चे का वजन बढ़ाने के साथ-साथ बच्चे की सेहत संतुलित रखने में मदद करता है |
  • बहुत सारे बच्चे ऐसे होते हैं जो फल और हरी सब्जियों का सेवन करना बिल्कुल नहीं चाहते हैं | लेकिन मां बाप ने जोर जबरदस्ती से बच्चों के डाइट में फल जैसे कि पपीता, आम, अननास इन फलों को बच्चे को खाने के लिए देना चाहिए | बच्चे के शरीर में अमीनो एसिड संतुलित रखने का काम आलू करता है इसलिए बच्चों को उबले हुए आलू भी खाने के लिए दे |
 

6 Responses

  1. ankita jaiswal

    March 28, 2017 5:06 pm

    bahut dhanyawad….apka dia hua nuska kaam aaya….ab mere bache ka weight badhne laga hai…aur health me bhi sudhar hai

    Reply
  2. mamita yadav

    September 19, 2017 4:07 pm

    Mera baby 14 month ka hai o kuchh bhi khata nahi ha jabarjasti kar ke khilana padta hai mujhe koi upay btaye mai kause khilau

    Reply
  3. Panchi

    March 6, 2018 3:36 am

    Mera bccha 11 month ka hai lekin uska weight sirf 7 and half kg hai….bht hi kamjor hai…Khana b thikse nahi xati hai…kuch upay dijie…humlog bht zyda pareshan ho gye hai

    Reply
  4. Kavita

    January 4, 2019 10:49 pm

    Mere 2 baby h 1 year and 2an half Dono bhot suke ss h khana khate hi potty kr jate h unhe Kya khilau jo wo mote ho jaye

    Reply

Leave a Reply