Baby ko Mota karna Tips बच्चो को मोटा करने की जानकारी हिंदी में

आज हम Baby ko mota karna in hindi me chote bacche ko mota tandurust banane ke tarike janenge.

Baby ko mota karna tips in Hindi

baby ko mota karna in hindi

baby ko mota karna in hindi

हर बच्चे को बचपन से हष्ट-पुष्ट और तंदरुस्त रखने के लिए माता-पिता हर प्रकार की कोशिश करते है |

इसलिए छोटे बच्चे के खान-पान बहुत जरुरी होता है | उन्हें खाना थोड़े-थोड़े समय बाद कुछ न कुछ खाने को देना चाहिए |

loading...

पोष्टिक खाना दो इससे बच्चे का पेट भी भरा रहता है | एक ही बार सारा खाना न खिलाए |

छोटे बच्चो को क्या प्रोटीन युक्त और पोष्टिक खाना देना चाहिए इससे माता-पिता हमेशा परेशान में रहते है ,

बहुत लोग को नही पता होता है , की बच्चो को भोजन में क्या पोष्टिक दिया जाए |वे परेशान रहते की केसे अपना बच्चो को तंदरुस्त रखे |

Zinc वाला आहार दे बच्चों को –

Zinc वाला आहार

Zinc वाला आहार

कुछ बच्चे बहुत कमजोर दिखते है उनकी उम्र के अनुसार ग्रोथ नही बडती है , क्योकि उन बच्चो को बहुत कम भूक लगती है ,इसलिए वे बहुत कम खाते है |

भूक की कमी ,कम खाना इसका कारण है उनके शरीर में zinc की कमी होती है | इससे माता -पिता बहुत परेशान हो जाते है की क्या पोष्टिक खाना दिया जाए |

आज हम बताएंगे zinc शरीर में कम होती है , तो बच्चो के आहार में मूंगफली , पालक , मशरूम, तरबूज और दूध भी शामिल करें |बच्चो के आहार में ये नियमित डाईट रखें |

तो बच्चो का वजन बढाने लगता है और उम्र के साथ-साथ उनकी अच्छी तरह से ग्रोथ होती है |

बच्चो को ज्यादा मीठा खाना व नमक नहीं देना है –

ज्यादा मीठा खाना व नमक

ज्यादा मीठा खाना व नमक

आपके बच्चो के आहार में ज्यादा नमक न रहें , इससे बच्चो का बड़ा नुकसान होता है जैसे की बीमारिया घेर लेता है | बच्चो के आहार में ज्यादा नमक हो तो शरीर का पानी सुख जाता है |

शरीर के लिए सोडियम जरुरी है तो नमक के द्वारा मिलता है परंतु ज्यादा नमक खाने से बॉड़ी को हानिकारक होता है | इसलिए बच्चो के आहार में नमक कम होना चाहिए |

बच्चो को न खिलाए बाहर का खाना –

बाहर का खाना

बाहर का खाना

आमतौर पर बच्चो को बाहर का खाना मत दिया करो इससे उनकी पाचन क्रिया अच्छी तरह से नही होती | इससे उनका वजन होने लगता है और कमजोर दीखते है |

पेट की समस्या भी शुरू हो जाती है |इसलिए बच्चो को घर का ही खाना देना चाहिए पोष्टिक और प्रोटीन युक्त |

फल तथा मेवा रोजाना दे बच्चो को मोटा होने के लिए –

ड्राई फ्रूट मेवा

ड्राई फ्रूट मेवा

आपके बच्चे के बढने के उम्र में फल या मेवा खाना बहुत ही जरुरी है इससे बच्चा तंदुरुस्त रहता है |

बच्चो को फल पोष्टिक से भरे तत्व के फल देने चाहिए जैसे की – सेब , संतरा , तरबूज ,केला , अंगूर आदि , इनसे बच्चो को उर्जा भी प्राप्त होती है|
कैलोरी और कोलेस्ट्रोल के लिए बच्चो को बदाम , मेवा , पिस्ता , मूंगफली , काजू आदि खाना चाहिए |

आप बच्चो को ये फल तथा मेवा रोजाना आहार में नियमित हो , तो बच्चा मोटा और हष्ट-पुष्ट रहता है | उनकी प्रतिकारक शक्ति बढ़ेगी |

बच्चे को मोटा करने के लिए माँ के लिए टिप्स –

  • दूध का स्त्राव बढ़ाना हो तो हर रोज भिगोए हुए मेथी का सेवन करे परंतु ५० ग्राम से कम खाए |
  • शेतावरी चूर्ण का सेवन करने से भी दूध का स्त्राव बढ़ता है ,और बच्चे की हालत अच्छी और मोटा बनता है |
  • जब माँ जो भी खाते हो उसका सार या तत्व दूध में उतरता है , इसलिए खाने में प्रोटीन , फल सब्जिया , fats सभी बराबर मात्रा में खाए |
  • नवजात बच्चे को मोटा बनाने के लिए हर १ या २ घंटो के बाद माँ का दूध पिलाना चाहिए |
  • ९ महीने का होने पर केला और घी जैसे नरम पदार्थ खिलाए | बच्चो को बहुत सारा प्यार दो , बच्चा मोटा और तंदरुस्त हो जाएगा |

दस्त का इलाज बच्चों के दस्त रोकने के उपाय

निमोनिया का घरेलू उपचार आयुर्वेदिक इलाज हिंदी में

वायरल फीवर बुखार का उपचार लक्षण.

5 Comments

  1. ankita jaiswal मार्च 28, 2017
  2. Devyani अप्रैल 7, 2017
  3. Sonu Kumar मई 8, 2017
  4. mamita yadav सितम्बर 19, 2017
  5. Panchi मार्च 6, 2018