ब्रैस्ट कैंसर हिंदी में जानकारी लक्षण उपाय और कारण जाने

आजकल महिलाओ में सबसे ज्यादा पानेवाला कैंसर है, ब्रैस्ट कैंसर यानिकी स्तनों का कर्क रोग स्तनों का कैंसर | ब्रैस्ट कैंसर होने की कई सारी वजह है मगर स्तनों का कैंसर होने से बचना तो मुमकिन नही है |

Navigate:

ब्रैस्ट कैंसर की जानकारी

स्तन कैंसर महिलाओ के लिए सबे बड़ा खतरा है | स्तन कैंसर तो जानलेवा है और इसको निकालने के लिए महिलाओ को स्तनों का ऑपरेशन करके निकलना पड़ता है और बिना स्तन के महिला को अपना आकर्षण खोंन पड सकता है |

ब्रैस्ट कैंसर हिंदी
ब्रैस्ट कैंसर हिंदी

इसलिए हमेशा ब्रैस्ट कैंसर की जानकारी से जागरूक रहना चाहिए |

ब्रैस्ट कैंसर होने के लक्षण :

वैसे तो स्तनों का कैंसर होने के कई सारे लक्षण है |

जानते है ब्रैस्ट कैंसर होने के लक्षण, शुरुवाती दिनों में स्तन कैंसर के लक्षण नजर जल्दी नहीं आते, लेकिन जब यह बढ़ने लगता है तब इसके कुछ लक्षण सामने आने लगते हैं, जानते है क्या है ब्रैस्ट कैंसर के लक्षण ?

ब्रैस्ट कैंसर होने के लक्षण
ब्रैस्ट कैंसर होने के लक्षण

स्तनों में दर्द होना : 

आमतौर पर महिलाओ को मासिक धर्म के समय स्तनों में दर्द होता है | मगर अगर आपके पीरियड्स के बाद भी आपके स्तनों में वैसा ही दर्द हो रहा है तो आपको तुरंत डॉक्टर से बात करनी चाहिए |

स्तनों में गांठ होना :

अगर आपके स्तन में गाठ या सुजन हो रही है तो आपको आगे जाकर ब्रैस्ट कैंसर होने की कुछ संभावना हो सकती हैं | ब्रैस्ट में गाँठ शुरुआत में चावल के दाने के आकार में बराबर होती है | इसके लिए आपको तुरन अपने डॉक्टर से बात करनी है इस बारेमे |

स्तनों का आकार बदलना :

अगर अचानक से आपका एक स्थन या दोनों ब्रैस्ट बढने लगे तो इसका कारन ब्रैस्ट कैंसर भी हो सकता है | छाती का आकार बढ़ने के कई कारण हो सकते है |

या आप स्तनों की मालिश करके भी बढा सकते हो मगर एकदम अचानक से बढ़ना आपके लिए खतरा हो सकता है | इसके लिए आप अपने फॅमिली डॉक्टर से बात करना उचित रहेगा |

निप्पल में बदलाव :

आपके ब्रैस्ट के निप्पलस से अगर किसी प्रकार का तरल पदार्थ या खून निकल रहा है तो ये भी ब्रैस्ट कैंसर की सुचना देता है , हाँलाकि ऐसा दूसरे कारणों की वजह से भी हो सकता है इसलिए आपको हमेशा आपके चिकित्सक से मिलते रहना चाहिए |

निप्पल का आकर बढ़ना या निप्पल का कलर में बदलाव पिंक या काले निप्पल ,निप्पल में खुजली होना भी आपके लिए हानिकारक हो सकता है |

तो ये थे ब्रैस्ट कैंसर के लक्षण हिंदी में | स्तनों में कैंसर के कारन आपको कई सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है | अब जानते है स्तन के कर्करोग यानि की स्तनों का कैंसर के अलग अलग घरेलु इलाज/उपाय/नुस्खे/तरीके |

महिला की छाती स्तनों के आकार के ज्योतिष लक्षण

स्तन के कर्क रोग से बचने के लिए उपाय:

कर्क रोग से बचने के लिए
कर्क रोग से बचने के लिए
  • रोजाना एक्सरसाइज (व्यायाम) करना चाहिए |
  • खाने में कम मसाले वाले पदार्थ खाने चाहिए |
  • अपने वजन का खयाल रखना चाहिए |
  • नशीली चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए |
  • हमेशा अपने शरीर के बदलाव की जाँच करनी चाहिए |
  • Mammogram जाँच करनी चाहिए स्तनों पर गांठ लग रही है तो |
  • स्तन MRI करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा |
  • प्रेगनेंसी के बाद कम से कम १ साल तक बच्चे को दूध पिलाना आपके लिए भी सेहतमंद रहेगा |
  • शादी के बाद जल्द ही बच्चा पैदा करने से खतरा बचता है क्यूंकि देरी से बच्चा पैदा करने से आपके हारमोंस में बदलाव आ सकते है |
  • किसी भी प्रकार की दवाई लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेकर ही मेडिसिन टेबलेट ख़रीदे |

वैसे तो स्तनों का कैंसर होने के कई सारी वजह है कुछ तो पता भी नहीं है |

निप्पल में दर्द क्यों होता है और इसके इलाज क्या है

ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए क्या आहार लेना चाहिए ?

ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए आहार
ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए आहार

दोस्तों जैसे कि हमने आपको पहले ही बताया ब्रेस्ट कैंसर बहुत ही भयानक होता है, क्योंकि ब्रेस्ट कैंसर की वजह से महिला को शारीरिक कष्ट उठाने पड़ते हैं और उसके घर वालों को भावनात्मक कष्ट उठाने पड़ते हैं |

इसलिए यदि आप अपने खान-पान की तरफ से ध्यान देती हो तो आने वाले समय में आपको ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए मदद होगी |

ब्रेस्ट कैंसर से बचाव पानी के लिए हमारे रोजमर्रा की जिंदगी में हम क्या खाते हैं, यह बहुत मायने रखता है | यदि हम हमारे आहार की तरफ से ध्यान देते तो ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए जरूर मदद मिलेगी |

रोजमर्रा के खाने में दाल का सेवन और बींस का सेवन करें:

महिलाएं अपने खाने में दाल का सेवन करती है या फिर बींस का सेवन करती है, तो उन्हें फोलिक एसिड अधिक मात्रा में मिलता है जो कि ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए बहुत फायदेमंद होता है |

हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए :

महिला के शरीर में विटामिन बी और फाइबर की कमी होने के कारण भी ब्रेस्ट कैंसर की समस्या हो सकती है इसीलिए महिलाओं को हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे कि पालक मेथी इनका सेवन करना चाहिए जो हम हमें फाइबर अधिक मात्रा में देती है और इससे हमारी एस्ट्रोजन की मात्रा कम होने लगती है |

डेयरी उत्पाद का सेवन करना चाहिए :

शरीर में कैल्शियम आयरन की कमी होने के कारण 19% महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होता है, यदि वह रोजाना रात को सोते समय दूध का सेवन करती है या फिर डेयरी उत्पाद का इस्तेमाल करती है, तो उन्हें ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए फायदा होगा |

ब्रोकली का सेवन करें :

ब्रोकली का सेवन करने से हमें शरीर में प्रोटीन का समतोल बनाए रखने में फायदा होता है, हमारे सेहत के लिए यह बहुत ही लाभदायक है इसलिए ब्रोकली का सेवन करना चाहिए |

मछली का सेवन करना चाहिए :

यदि हम हमारे खान पान में मछली का सेवन करते हैं तो हमें ओमेगा 3 फैटी एसिड अधिक मात्रा में मिलता है, जो कि महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर से लड़ने के लिए मदद करता है |

अलसी का सेवन करना चाहिए :

अलसी को इस कर सलाड में डालकर खाने से हमें ब्रेस्ट कैंसर से छुटकारा मिल सकता है और आपको ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा कम हो जाएगा |

अनार का सेवन करें :

अनार का सेवन करने से हमारे शरीर में रोग प्रतिकारक शक्ति बढती है, जो हमें ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए बहुत ही फायदेमंद है |

दोस्तों यह था ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए क्या खाना चाहिए |

अब हम जानेंगे, कैंसर की बीमारी से बचने के लिए हमें क्या नहीं खाना चाहिए ?

ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए क्या नहीं खाए ?

ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए क्या नहीं खाए
ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए क्या नहीं खाए

आमतौर पर हम हमारे सेहत पर ध्यान नहीं देते और जो चाहे वह खा लेते, लेकिन यदि हम हमारे खान-पान की तरफ ध्यान देते हैं और कुछ चीजों को खाने में शामिल नहीं होने देते हैं तो हमें ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए मदद मिलेगी |

केमिकल युक्त दुध का सेवन नहीं करना चाहिए:

ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए आपको केमिकल युक्त दूध का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि आजकल बाजार में दूध के उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए जानवरों को केमिकल्स और हार्मोन स्टेशन लगाए जाते हैं जिसके कारण दूध आपके लिए घातक हो जाता है |

इसलिए हो सके तो आपको शुद्ध दूध का ही सेवन करना चाहिए |

पैकेज प्रोडक्ट से बच्चे :

जो अन्न पदार्थ पैकेज किए जाते उनमें प्रिजर्वेटिव डाले जाते हैं, जो हमारे सेहत के लिए बहुत ही हानिकारक होता है इसलिए हम आपको सलाह देंगे की, हो सके तो आपको पैकेज फूड्स का सेवन करने से बचना चाहिए |

मीठी चीजों का ज्यादा सेवन ना करें :

मीठी चीजो का सेवन करने से हमारे शरीर में अतिरिक्त फाइटर चर्बी बढ़ने लगती है, जो हमें अस्वस्थ बनाने के लिए काफी है | इसलिए हम आपको सलाह देंगे की मीठी चीजों का सेवन कम करें |

वनस्पति तेल का सेवन ना करें :

वनस्पति तेल यानी कि वेजिटेबल ऑयल में कुछ पदार्थ कैसे होते हैं, जिसके कारण पोलीसैचुरेटेड फैट की मात्रा बढ़ती है, जो आपके लिए बहुत हानिकारक होता है |

तो दोस्तों यह था ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए क्या नहीं खाना चाहिए के बारे में जानकारी, यदि आप लोग इन बातों का ख्याल रखते हो तो आपको आने वाले समय में ब्रेस्ट कैंसर की समस्या नहीं होगी |

स्तन बढ़ाने के उपाय ब्रैस्ट कैसे बड़े होते है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *