धातु रोग गुप्त रोग का इलाज कैसे करे

Dhatu rog ka ilaj hindi me  धातु रोग के घरेलू उपाय धातु रोग का देसी इलाज आयुर्वेदिक इलाज क्या है हिंदी में धातु रोग की दवा पतंजलि रामदेव बाबा जी ने बनायीं है .

धातु रोग क्या है हिंदी में ?

धात गिरने को ही घातु रोग कहते है,इसको शुक्रमेह भी कहा जाता है (Dhatu girne ko Shukrameh bhi kahte hai) .  धातु रोग का मतलब यही होता है की लडको का पुरुष का वीर्य यानिकी धात मूत्र निकलते वक़्त बह जाता है . इसके कारण मर्दों का स्पर्म काउंट कम हो जाता है .

हस्तमैथून करने के फायदे जानिए हिंदी में .

तो जानते है

धात रोग क्या होता है :

धातु रोग कोई बीमारी नही है दोस्तों . इस में बस जब आप ज्यादा कामुक हो जाते हो या कामुक भावना में रहते हो तब आपका लिंग (लंड) खड़ा हो जाता है .

loading...

तब आपके लिंग को हिलाने के या सेक्स न करने के बिना ही लिंग से सफ़ेद वीर्य की तरह या पानी की तरह धारा सी आती है और ये धारा बहुत कम होने की वजह से ये आपके लिंग के बहार नहीं आपाती मगर जब आपका लिंग बोहोत समय से खड़ा है तो वो धारा पानी जैसी आपके लिंग से बहार आती है .

इसी के कारण आपका विर्य की मात्रा कम होने लगती है और ये आपकी यौन समस्या बन जाती है.

धातु रोग होने के कारण :

धात रोग होने के कई सरे रीज़न है दोस्तो आज कल के इन्टरनेट वाले ज़माने में लड़के लडकिया ज्यादा सेक्सी विडियो देखती है और अश्लील किताबे पढ़ती है .

इसी के कारण उनमे वासना भरी पड़ी है इसीलिए वो अकेले की अकेले कुछ न कुछ सोचते बैठते है लड़के तो खयाल ही खयाल में लड़की को या किसी आंटी को चोदने के बारे में सोचते रहते है और लडकिया भी कई बार लड़के के लिंग के बारेमे सोच कर अपना पानी की धारा बहार निकाल देती है .

इसी कारण उनको कई सारे प्रॉब्लम हो आगे बढ़कर सामना करना पड सकता है . इसको शुक्रमेह कहते है .

पढ़े –

सेक्स करने का सही तरीका क्या है .

धात रोग का प्रमुख कारण क्या है?

Causes of Discharge Weakness in hindi

  1. दिमागी कमजोर होने से आपको अपने आप पर कंट्रोल करना मुश्किल होता है.
  2. हमेशा किसी न किसी गलत बातो का सोचना .
  3. मर्दों का वीर्य पतला होना .
  4. अधिक मात्रा में यानिकी ज्यादा हस्तमैथून करने से .
  5. किसी बीमारी के समय पर ज्यादा दवाई लेने से .
  6. विटामिन्स की कमी होने के कारण.

धातु रोग के घरेलू उपाय

धातु रोग धात गिरने का उपचार हिंदी में
धातु रोग धात गिरने का उपचार हिंदी में

धात रोग के आयुर्वेदिक घरेलु उपाय

(dhatu rog treatment in hindi) 

  • तुलसी अश्वगंधा की मदत से :
    तुलसी से धात गिरने का उपचार
    तुलसी से धात गिरने का उपचार

     तुलसी की जड़ को अच्छी तरह सुखाकर उसका चूर्णं बनाकर इस चूर्णं को एक ग्राम की  मात्रा में ले और एक ग्राम अश्‍वगंधा का चूर्णं में मिक्स कर के  खाएं और ऊपर से दूध पी जाएं इससे आपको बहुत फायदा होगा .

  • इलायची तुलसी और मिश्री की मदत से :
    इलायची से धात गिरने का उपचार
    इलायची से धात गिरने का उपचार

     इस आयुर्वेदिक उपाय के लिए आपको ५० ग्राम इलायची लेकर और १५ से २० तुलसी के पत्तो को  व १० ग्राम मिश्री का क्‍वाथ बनाकर इसको पीने से धातु रोग का इलाज होता है.

  • इलायची और हिंग की मदत से :
    हिंग से धात गिरने का उपचार
    हिंग से धात गिरने का उपचार

     इलायची के दाने और सेंकी हुई हींग की  लगभग तीन रत्‍ती चूर्णं को घी और दूध के साथ मिलकर पीने से पेशाब में धातु का स्राव बंद हो जाता है.

  • गिलोय के इस्तमाल से: 
    गिलोय के इस्तमाल से धात की बीमारी का इलाज
    गिलोय के इस्तमाल से धात की बीमारी का इलाज

    घर पर ही धात रोग से बचने के लिए आपको 2 चम्मच गिलोय के पत्तो का रस निकाल कर गिलोय के रस में 1 चम्मच शहद (honey) मिलाकर लेना चाहिए.

  • उड़द की दाल से धातु रोग उपचार :

    उड़द दाल से धात की बीमारी का इलाज
    उड़द दाल से धात की बीमारी का इलाज
  1. बीस ग्राम उड़द की दाल का आटा करके उस आटे को गाय के दूध में उबाल ले  और फिर इसमें थोडी मात्रा में घी मिक्स करके कुनकुना ही पीना है और इसका सेवन रोज करने से पेशाब की नली से धातु का स्राव का इलाज पूरी तरह से हो जाएगा.
  2.  उड़द की दाल को पीसकर उसे खांड में भुन लिया जाए और खांड में मिलाकर खाएं तो भी जबरदस्त लाभ जल्दी ही मिलता है.
  3. उड़द की दाल सेक्‍स पॉवर बढ़ाने और उसकी समस्‍या को दूर करने में बहुत सहायक होती है.
  • आंवला से घरेलु उपाय के तरीके :

    आंवला से धात की बीमारी का इलाज
    आंवला से धात की बीमारी का इलाज
  1. रोज सुबह आंवले का जूस यानिकी आंवला का रस खली पेट 2 चम्मच आंवले के रस को शहद के साथ मिलाकर पिने से जल्द ही धात रोग ठीक होने लगता है .
  2. सुबह शाम आंवले के चूर्ण को दूध में मिला कर लेने से भी धात रोग में बहूत लाभ मिलता है!

धात रोग के लक्षण :

Dhat Rog Penis (पेनिस रोग) rog Ke Lakshan Kya Hai hindi me :
  • वीर्य का पतला होना.
  • लिंग के मुह से लार टपकती है .
  • शरीर में कमजोरी होती है .
  • हमेशा नर्वस रहना .
  • पेट साफ़ न होना कब्ज का होना.
  • शरीर का हिस्सा कापने लगता है कमजोरी के कारण .
  • चक्कर आने लगता है.
  • पेशाब के वक्त वीर्य निकलना.

लडकिया कैसे करती है हस्तमैथून घर पर .

धातु रोग और गुप्त रोग का इलाज कैसे करें :

बहुत सारे पुरुषों को धातु रोग की समस्या का सामना करना पड़ता है, दोस्तों अगर आप धातु रोग और गुप्तरोग के समस्या से गुजर रहे हो तो जल्द से जल्द आपने इस समस्या को दूर करने का प्रयास करना चाहिए | जब किसी पुरुष को धातु रोग होता है तब उसे अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है | जैसे कि, जब वह पुरुष अपनी पत्नी के साथ या गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स करने की शुरुआत करता है तभी उसका लिंग बैठ जाता है | जिसके कारण वह अपने पत्नी को या गर्लफ्रेंड को संतुष्ट नहीं कर पाता है, दोस्तों हम सबको तो पता ही है अगर आप आपके सेक्स पार्टनर को पूरी तरह से संतुष्ट नहीं करोगे तो आपका पार्टनर आपसे बिल्कुल नाराज़ हो जाएगा | इसलिए अपने गुप्तांगों के रोग पर और धातु के रोग पर इलाज करना चाहिए | आज हम देखेंगे धातु रोग और गुप्त रोग का इलाज कैसे करें के बारे में जानकारी |

धातु रोग और गुप्त रोग का इलाज कैसे करें -:

धातु रोग क्या होता है -:

  • जब कोई पुरुष सेक्स करने के लिए उत्तेजित हो जाता है तब उसके लिंग में से पानी के रंग जैसी पतली लेस बाहर निकलने लगती है | लिंग में बहुत ज्यादा उत्तेजना आने से वीर्य बाहर भी आ सकता है | अगर कोई पुरुष काफी देर तक उत्तेजित रहा तो पुरुषों के लिंग से वीर्य भी बाहर निकल जाता है |
  • बहुत सारे लोगों को यह समस्या होती है, बहुत सारे पुरुष तो ऐसे होते हैं जो हमेशा सेक्स के बारे में सोचते रहते हैं | अगर आपको भी हमेशा से इसके बारे में सोचने की और पोर्न वीडियोस देखने की आदत है तो यह आदत आपने जल्द से जल्द छोड़नी चाहिए नहीं तो आपको धातु रोग होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है | अगर आपको सपने में खुद को सेक्स करते हुए देखने की आदत है तो भी आपको धातु रोग होने की संभावना ज्यादा होती है | अगर आपको यह समस्या नहीं होनी चाहिए तो आपने सबसे पहले खुद के मन पर काबू रखना बहुत ज्यादा जरूरी है, अगर आप खुद के मन पर काबू नहीं रखोगे तो आपको गुप्तांगों की और गुप्त रोग की समस्या बहुत ज्यादा बढ़ती हुई नजर आएगी |

धातु रोग और गुप्त रोग के प्रमुख कारण -:

  • जैसा की हमने पहले बताया कि आपने खुद के मन पर काबू रखना चाहिए | वैसे ही गुप्त रोग से बचने के लिए आपने खुद के शरीर पर काबू रखना सीख लेना चाहिए | अगर आप हमेशा कामुक और अश्लील विचार करते हो तो आपको धातु रोग बहुत ज्यादा हो सकता है| अगर आप दिनभर किसी ना किसी काम में बिजी हो तो आपने अन्य विचार आपके मन में नहीं लाना चाहिए | अगर आपका मन शांत नहीं रहेगा तो आपको धातु रोग हो सकता है, हर रोज बहुत ज्यादा तनाव में रहने से भी धातु रोग होता है | इसलिए कभी भी किसी भी बात का ज्यादा तनाव ना ले, जिस बात का आप तनाव लेते हो उस तनाव को आपने काल्ड से जल्द जिंदगी से निकाल देना चाहिए | आपने जितना हो सके उतना खुश रहने का प्रयास करना चाहिए |
  • अगर आप को बुढापे में धातु रोग की समस्या आती है तो आपने ज्यादा मात्रा में दवाइयों का सेवन कम कर देना चाहिए | बहुत ज्यादा मात्रा में विभिन्न दवाइयों का सेवन करने से भी धातु रोग होने की संभावना होती है | क्योंकि बाजार में बहुत सारी दवाइयां ऐसी मिलती है जिनमें केमिकल्स की मात्रा ज्यादा होती है |
  • शरीर में केमिकल की मात्रा ज्यादा होने पर धातु रोग और गुप्त रोग हो सकता है | अगर आप हमेशा सशक्त रहोगे तो आपको बीमारी होने की संभावना ही नहीं है, अगर आपको बीमारी नहीं होगी तो आप विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल नहीं करोगे जिससे आप हमेशा स्वस्थ रहोगे |

धातु रोग के आयुर्वेदिक तरीके -:

  • धातु रोग और गुप्तरोग को जिंदगी से निकालने के लिए आपने आपकी जीवनशैली को सुधारना बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है | धातु रोग होने से आपके शरीर में पूरी तरह से शिथिलता जाती है जिसके कारण आप आपके सेक्स पार्टनर के साथ सेक्स नहीं कर पाते हो | धातु रोग होने पर आपने हर रोज सुबह आंवले का सेवन करना चाहिए, प्रतिदिन सुबह अगर आप खाली पेट आंवले के रस को शहद में डालकर यह मिश्रण खाते हो तो आपका शरीर बिल्कुल मजबूत बनने लगेगा | आंवला धातु के रोग को नष्ट करने के लिए एक बहुत ही जाना माना होता है, शाम के वक्त भी आपने शहद और दूध का सेवन करना चाहिए जिससे धातु रोग कम करने के लिए आपको लाभ मिलेगा |
  • धातु रोग कम करने के लिए अपने हर रोज ३ से ४ ग्राम तुलसी के बीज और चीनी का सेवन करना चाहिए, अगर आप खाना खाने के बाद तुलसी के पत्तों का सेवन करते हो तो आपको इस समस्या से छुटकारा मिलेगा |
  • सेक्स करने से पहले या दिन में कभी भी आप मूसली का सेवन करोगे तो आपको धातु रोग नहीं होगा | हर रोज ५०० ग्राम गाय के दूध के साथ आपने मूसली चूर्ण डालकर यह दूध पी लेना चाहिए | मूसली चूर्ण पीने से आपके शरीर में शक्ति आती है, शरीर में पर्याप्त मात्रा में शक्ति होने पर आप धातु रोग पर काबू मिला सकते हो |
  • उड़द की दाल खाने से भी धातु रोग और गुप्त रोग नहीं होता है | उड़द की दाल धातु रोग पर जबरदस्त परिणामकारक साबित होता है | गर्मी के दिनों में ज्यादा मात्रा में उड़द की दाल ना खाए क्योंकि उड़द की दाल गर्म होती है |

धातु रोग होने के लक्षण जान ले -:

  • जब किसी पुरुष को धातु रोग होता है तब उसके लिंग के मुख से लार टपकना शुरू हो जाता है | पुरुषों का वीर्य पूरी तरह से पानी जैसा पतला हो जाता है जिससे पुरुष के शरीर में पूरी तरह से कमजोरी आ जाती है |
  • पुरुष अगर किसी भी बात का तनाव लेता हैं तो उन्हें धातु रोग की समस्या और ज्यादा होने लगती है | धातु रोग होने से पुरुषों का पेट बिल्कुल साफ नहीं रहता है, जिससे उनको विभिन्न बीमारियां होने की संभावना होती है |

यह थे धातु रोग और गुप्त रोग का इलाज कैसे करें के बारेमे जानकारी |

यूरिन इन्फेक्शन का घरेलू इलाज
loading...

20 Comments

  • @रहमानी देसी दवाखाना@

    यहाँ हर बीमारी का इलाज देसी जड़ी बूटियो से किया जाता है।
    जेसे:> शुगर,कोलेस्ट्रोल,यूरिक एसिड,रेसा,बी पी बढ़ना,ब्लोकेज,बवासीर,टी बी,पथरी,गंजापन,सेहत ना बनना आदि
    यहाँ पर ओरतो और मर्दों के गुप्त रोगों का इलाज किया जाता है।
    मर्दों के रोग:> नामर्दी,सुप्न्दोश,धात,वीरज का पतलापन,लिंग का सही विकास ना होना ,नसों का ढीलापन,लिंग से खून या पीप आना,सुक्राणु की कमी,शुगर से आई हुई कमजोरी,बचपन की गलतियो से आई कमजोरी,मनचाहा सेक्स टाइम आदि।
    ओरतो के रोग:>लुकोरिया,पीरियड का सही समय पर ना आना,गर्भवती ना होना,बच्चे का अधूरे गिरना,सेक्स की इच्छा ना होना आदि।

    शर्म सोडे वैद जी से मिलें ।
    हर तरफ से निराश रोगी सेवा का एक मोका जरुर दें।
    दवाई फोन पर घर बैठे भी मंगवा सकते हैं।
    हमारा पता है:> नवान्सहर रोड, कर्याम,144514,नवासहर,(पंजाब)
    फोन:> 9876210383,9814398306
    #बीस वर्ष का तजुर्बा#

    • Sir dhat rog ki sab se achi medicine kya hai

      • Doctor mughe dhat rog hua hai ilaj ke upay batao medicine ka bhee use Kar chuke hai

        • Mera name shrvan mahto gram kuriya mujhe dhatu rog ka bimari hai aap mujhe help karege sir

  • Pesab Krte waqt kbhi kbhi lip lipa sa padarth nikalta h kya yah koi bimari h plz apna sujhaw de

  • Dhat ki dava kitne ki h

    • क्या आप धात की समस्सया से परेशान है?
      क्या आप जगह-जगह इलाज करवाके थक चुके है?
      तो घबराये मत एक फोन कॉल से आपकी यह समस्सया दूर हो सकती है।तो आज ही दवाई के लिए आर्डर करे।
      पिछले 20 साल से स्थाई है रहमानी दवाख़ाना।
      100% ग्रंटिड इलाज।
      1 माह का कोर्स है।
      मूल्य 1500 रु:

      • Dhat ki samasaya hai ?

      • Sir jab mai girlfriend se bat karta hu to mera ling khada ho jata hai aur pani nikalne lagata hai ye mujhe march se ho rha please dawa batayen

        • Sex karo ya koi bimari nahi hai

  • Sir i am Mr.Pushpendra Age-23 Year Mujhe kabhi kabhi Peshab karne me jalan si hoti h Aur Peshab karne k baad 4_5 boond Safed paani ki nikalti h To aap Mujhe koi dava Bataye…..

  • sir i am mithilesh kumar age 22 year mujhe bar bar peshab hota hai aur dhatu bhi nikalata hai aur mera virya patala ho gya hai aur mere ling ke upar hamesha dard bana rahata hai to aap mujhe koi dava bataye

  • Mai md asif from up sir mere ling ee dhat girta rahta hai aur pesab ke waqt bhi girta hai aur ling patla chhota hai night falt bhi hota hai bhot jaldi hir jata hai dawa kr kr ke presan ho gya ju thik ni ho rha

  • लिंग हिलाने के बाद जलन होती है ! ऐसा क्यों होता है ? मेरी शादी नही हूई है.और मेरी उम्र 32 साल है ! पहले मेरा धातू बहूत जादा आता था. अब पतला पाणी आता है .इलाज बताए ? मैं हस्त मैथून रोज नही करता, महिने दो महिने मै एक बार करता हू ! फिर भी पतला पाणी आता है.क्यू? इलाज बताए

    • कैसे करे

      Ji aapne apne khan paan ke tarf dhyan dena chaiye aur virya badhaane ka khaane ka sevan jyada karna chahiye. Aur ho sake to aapko rojana raat ko sote samay 1 glass haldi wala dudh pina chahiye.

  • What ka samasiya hai 3-4 years

  • Really very nice information
    keep it up good work

  • Sir I’m Mr Girja charan mehrauli new Delhi 110030 sir Mujhe swapndosh h or dhaat bhi padti h sir mere ko 8 saal ho gya h Mujhe koi dava btaiye sir Mai bhut pareshan hu bhut Jyada pershan hu meri age 25 h
    Sir btaiye plzz

  • Sir pehle that aati thi ab ling se Pani niklta h koi ilaj batey

  • Mera famali kay gupthang say pani girtha hay kiya karu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...