लिवर की सूजन को दूर करने का उपाय
हिंदी में टिप्स

फैटी लीवर की समस्या से छुटकारा पाए लीवर की सुजन के कारण और लक्षण से

फैटी लीवर मतलब लीवर में सुजन होना या लीवर का बढ़ना | आमतौर पर लीवर में फैट होना ठीक है लेकिन अगर ये fat की मात्रा बढ़ जाये, तो इसको फैटी लीवर की बीमारी कहते है | फैटी लीवर का इलाज है, दोस्तों इस लिए आपको घबराने की जरुरत नहीं है |

लीवर को अलग अलग भाषा में अलग अलग नामो से जाना जाता है, इसे मराठी में यकृत और हिंदी में जिगर नाम से जाना जाता है |

तो आइये जानते है, क्या है आपके लीवर में खराबी आने के कारण ? –

लिवर ख़राब होने के कारण क्या है ?

लिवर ख़राब होने के कारण
लिवर ख़राब होने के कारण
  • शराब ज्यादा पिने से |
  • ज्यादा सिगारेट यानिकी धुम्रपान करने से |
  • ज्यादा खट्टा खाने से |
  • नमक का इस्तमाल ज्यादा करने से |
  • पिने के पानी में क्लोरिन की मात्रा ज्यादा होने से |
  • ख़राब मांस खाने से |
  • दूषित पानी पिने से |
  • ज्यादा मसाले दार और चटपटा खाना खाने से |
  • शरीर में विटामिन बी की कमी के कारन |
  • चाय,कॉफ़ी,बहार का खाना खाने से भी आपका लीवर में खराबी आती है |

लिवर खराब होने के लक्षण क्या है ?

लिवर खराब होने के लक्षण
लिवर खराब होने के लक्षण
  • पेट में सूजन आना
  • छाती में जलन होती है भारीपन महेसुस होता है |
  • पेट में जल्दी गैस बनने की समस्या |
  • शरीर में आलसपन आना |
  • शरीर में कमजोरी आना |
  • लीवर बड़ा हो जाता है |
  • मुह का स्वाद ख़राब होता है |

लिवर की सूजन को दूर करने का उपाय क्या है ?

लिवर की सूजन को दूर करने का उपाय
लिवर की सूजन को दूर करने का उपाय

लीवर के रोग कई सारे कारणों से हो सकते है | जिगर शरीर में सबसे महत्वपूर्ण भाग है | शरीर में जिगर पेट के दाहिनी भाग में निचे की तरफ होता है | अगर आपका लीवर ख़राब हो जाये तो आप के बॉडी की काम करने की क्षमता बंद हो जाती है | लीवर डैमेज होने से बचने के लिए कई नियम का आपको पालन करना है |

एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल :

एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल
एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल

फैटी एसिड की समस्या से छुटकारा पाने के लिए एप्पल साइडर विनेगर बहुत ही कारगर टोटका है | यह आपके लिवर का फैट कम करने में बोहोत ही कारागार माना गया है, इससे आपका वजन कम होने लगता है |

आपको बस एक चम्मच सेब का सिरका लेना है और उसे एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाकर दिन में दो बार पीना है | यदि आपको यह कड़वा लगता है तो आप इसमें थोड़ा सा शहद मिला सकते हैं | 2 महीने तक लगातार इसका सेवन करने से आपका वजन भी घटने लगेगा और आपको फैटी एसिड की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा |

नींबू का इस्तेमाल :

नींबू का इस्तेमाल
नींबू का इस्तेमाल

नींबू में विटामिन सी अधिक मात्रा में होने के कारण यह हमारे जीवन में पैदा होने वाले ग्लूटाथिओन को पैदा होने में मदद करता है | यह हमारे लिवर में टॉक्सिन के मात्रा को संतुलित रखता है |

इसलिए आपको एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाकर दिन में दो बार सेवन करना चाहिए, इससे आपका लिवर का फैट कम होने में मदद मिलेगी | नींबू लीवर की सूजन के लिए असरदार घरेलू नुस्खे की तरह काम करता है |

हल्दी का इस्तेमाल :

हल्दी का इस्तेमाल
हल्दी का इस्तेमाल

हिंदी में नैसर्गिक स्वास्थ्यवर्धक गुण होने के कारण यह हमारे शरीर में फैटको हटाने के लिए बहुत ही लाभदायक माना गया है | इसलिए आपको पानी में थोड़ा सा हल्दी मिलाना है और रोजाना इसका सेवन करना है |

अगर आप दूध के साथ इसका सेवन करते हो तो भी आपको उतना ही फायदा मिलने वाला है |

आंवले का सेवन करने से :

आंवले का सेवन करने से
आंवले का सेवन करने से

फैटी लिवर की समस्या के लिए अगर आप घरेलू नुस्खे आजमाना चाहते हो तो उसके लिए आंवला बहुत ही लाभदाई है |

आंवले में विटामिन सी अधिक मात्रा में होने के कारण यह आपके शरीर में लगने वाले विटामिंस अच्छे से उपलब्ध करता है | यदि आप आंवले का रोजाना सेवन करते हो तो इससे आपकी फैटी लिवर की समस्या दूर हो जाती है |

आंवले का रस पानी के साथ:

आंवले का रस २५ ग्राम की मात्रा में एक गिलास पानी में मिलाकर पिने से लीवर के विकार दूर होते है |

पपाया का सेवन करने से :

पपाया का सेवन करने से
पपाया का सेवन करने से

पपाया का सेवन करने से आपको आपके फैट की मात्रा में कमी दिखाई देने लगेगी | यदि आप शहद के साथ पपाया का रोजाना सेवन करते हो तो आपकी लीवर की सूजन कम होने लगती है |

पपीता और नीबू का प्रयोग :

पपीते के बिज निकाल्कार इनको धुप में सुखाकर अछे से बारीक़ पाउडर की तरह चूरन बना ले | अब एक बड़ा चम्मच पपाया के बीजो को लेकर इसमें आधा निम्बू का रस मिला दे | इस चूर्ण और निम्बू का रस का सेवन दिन में दो बार करने से लीवर की सुजन कम होती है|

गुड़ और हरड़ का इस्तमाल:

गुड़ और हरड़ का इस्तेमाल
गुड़ और हरड़ का इस्तेमाल

बड़ी पीले रंग की हरड को पिसले और इसका चूर्ण बना ले | अब इस चूर्ण को डेढ़ ग्राम की मात्रा में लेकर पुराने गुड में मिलाकर गोलिया बनाले |
और इस गोली का सेवन दिन में दो बार करने से आपको जिगर के रोगों में लाभ होगा |

कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *