गुलाब का फूल की जानकारी घरेलु उपाय हिंदी में

गुलाब का फूल हिंदी में

गुलाब का फूल
गुलाब का फूल

गुलाब फूलों का राजा कहा जाता है , गुलाब अपनी सुंदरता व खुशबू के लिए ही नही प्रसिध्द है अनेक औषधीय गुणों से भी भरपूर प्रसिद्ध है | गुलाब को इंग्लिश में rose कहते है|

सारे भारत में गुलाब के पौधे पाए जाते है | गुलाब शीतलता प्रदान है | गुलाब का रस रक्तशुद्ध करने वाला होता है | गुलाब में विटामिन ‘ सी ‘ प्रचुर मात्रा में पाया जाता है | गुलाब के फूलों से गुलाब जल , गुलाब अर्क , गुलकंद , गुलाब इत्र आदि बनाए जाते है | गुलाब का शरबत मस्तिक को बल व शीतलता प्रदान करता है | गुलाब आँखों के लिए रामबाण औषधि है |

गुलाब के आयुर्वेदिक नुख्से :

आँखों की जलन :

आँखों में गुलाब जल डालने से आँखों की जलन कम होती है |

कान का दर्द :

गुलाब के फूलो का ताजा रस की कुछ बूंदें कान में डालने से कान का दर्द दूर हो जाता है |

loading...

दाद :

गुलाब के अर्क में नींबू का रस मिलाकर लगाने से दाद मिट जाते है |

कब्ज :

हर रोज दूध के साथ गुलकंद खाने से कब्ज दूर हो जाता है |

दाह :

गुलाब में गोपीचंद मिलाकर लेप लगाने से दाह में लाभ होगा |

मुंहासे :

गुलाबजल , ग्लिसरीन और नींबू का रस मिलाकर हर रोज रात को लगाने से मुंहासे कम हो जाते है और चेहरा निखरने लगता है |

मुंह के छाले :

गुलाब को पानी में उबाले, अब इस पानी से कुल्ले करने से लाभ होता है |

गर्भाशय शूल :

गुलाब के फूलो को पीसकर योनि में रखने से गर्भाशय शूल में लाभ होता है |

प्यास :

गर्मियों में प्यास जादा लगती हो तो गुलकंद का शरबद दिन में दो बार पिए |

हड्डियों की मजबूती बढाने के लिए :

रोज २ चम्मच गुलकंद खाने से हड्डियों को बल मिलता है |

रक्तस्त्राव :

चोट लगे स्थान पर गुलाब के फूलो का सुखा चूर्ण बुरकने से रक्त बहना बंद होकर घाव शीघ्र ठीक होता है |

होटों का कालापन :

गुलाब की पत्तिया पीसकर उसमे ग्लिसरीन मिलाकर होटों पर लगाने उनकी गुलाबी चमक लौटे आती है |

श्वास रोग :

गुलाब के फूलो को बनफशा के शरबत के साथ चाटने से लाभ होगा |

नेत्र ज्योति :

काले सुरमे के साथ गुलाब का अर्क आँखों में डालने से नेत्र ज्योति बढती है व आँखों की जलन कम होती है |

ह्रदय की दुर्बलता :

गुलाब का चूर्ण में समभाग मिश्री मिलाकर मिश्रण की १ चम्मच की मात्रा गाय के दूध के साथ सेवन करने से लाभ होगा |

हाजमा :

हर रोज भोजब के बाद गुलकंद खाने से हाजमा ठीक रहता है |

क्या आपको यह लेख पसंद आया ?
Download Nulled WordPress Themes
Premium WordPress Themes Download
Download Nulled WordPress Themes
Download Nulled WordPress Themes
ZG93bmxvYWQgbHluZGEgY291cnNlIGZyZWU=
download huawei firmware
Free Download WordPress Themes
udemy paid course free download
loading...

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...