कान में फुंसी होने से कान बहने का उपचार कैसे करे ?

, , Leave a comment

कान में फुंसी क्यों होती है ?

अक्सर आपने देखा होगा कि  लोगों के चेहरे पर पिंपल्स के दाने निकल आते हैं और वह कुछ आसान घरेलू नुस्खे से ठीक भी हो जाते हैं, लेकिन कभी आपने देखा है कि अपने कान में फुंसी होने पर वह तुरंत चली जाए नहीं ना डांस तो इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे असरदार घरेलू नुस्खे बताने वाले हैं जिसका इस्तेमाल से आप अपने काम में होने वाली फुंसी से छुटकारा पा सकते हैं |

हमारे कान में फुंसी होने के कई कारण है, जैसे कि कान में कुछ चीजें बाहर से डालना या फिर अधिक मात्रा में शरीर में हीट का मौजूद होना यह भी आपके कान में फुंसी होने के लिए प्रमुख कारण है |

  • यदि आपके कान में कुछ चला जाता है और आप उसकी तरफ ध्यान नहीं देते हैं तो इससे आपके कान में पिंपल्स यानी की फुंसी होने की समस्या हो सकती है |
  • कान में फुंसी होने के कारण आपके कान में बहुत दर्द होने लगता है और आपका सर दर्द कर सकता है |
कान में फुंसी कान दर्द
कान में फुंसी क्यों होती है

कान में फुंसी होने से कान दर्द में दर्द होता है | आज हम आपको कान दर्द का इलाज बताएँगे यह ऐसे घरेलु नुस्खे और उपचार है की आपको कोई दवा लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी |

कान शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा हे | यह सुनने की इन्द्रिय हे | इसके अभाव  में पूर्ण संसार ही सुना हो जाता हे | इसलिए कान की देखभाल जरुरी है |

कान में अक्सर फुंसी निकल आती है | और पीड़ा होती है | इसके कारण अन्दर से कान दी दीवारे सूज जाती है |

कान की फुंसी से छुटकारा पाने के लिए घरेलू नुस्खे :

कान की फुंसी से छुटकारा
कान की फुंसी से छुटकारा
  • लहसुन की कली का इस्तेमाल :

अगर आप लहसुन की कली को अच्छे से पीस लेते हो और उसमें दो चम्मच सरसों का तेल मिलाते हो और इसे धीमी आज पर गरम करके अपने कान में ठंडा होने के बाद रुई के इस्तेमाल से लगाते हो, तो इससे आप की कान की फुंसी दूर होने लगती है | यह प्रयोग करने से जल्द ही आपके कान की फुंसी निकलने में मदद मिलेगी |

कान में चोट लगने से कान में घाव बन जाता है | और कान से लाल पिला मवाद निकले लगता है | कभी कभी कान में फुंसी निकल आती है | फुंसी फूटने पर कान में घाव बन जाता है | बच्चो में  यह शिकायत ज्यादा दिखने को मिलती है |

कान की फुंसी के कारण कान में सूजन आने पर क्या करें ?

कान की फुंसी के कारण दर्द
कान की फुंसी के कारण दर्द

अक्सर हमारे कान में फुंसी होने के कारण कान का हिस्सा सूज जाता है इस सूजन को दूर करने के लिए आपको-

नमक का इस्तेमाल करें :

चार पांच चम्मच नमक को लेकर इसे धीमी आंच पर भूनना चाहिए और एक साफ कपड़ा लेकर उस पर नमक को रखना है और कान में आने वाली सूजन के ऊपर इसे हलके से सेखना है | इससे आपका दर्द कम होने में मदद मिलेगी और सूजन भी कम होने लगेगी |

अदरक के रस का इस्तेमाल :

अगर आपके कान में फुंसी हो गई है और आपका काम में सूजन आ गई है तो आप अदरक के रस का इस्तेमाल कर सकते हो इसके लिए आपको आधा चम्मच शहद और चुटकी भर नमक लेकर इसमें थोड़ा सा अदरक का रस मिलाना है और इसका अच्छे से पेस्ट बनाने के बाद रुई के इस्तेमाल से अपने कान के फुंसी वाले हिस्से में लगाना है इससे आप की कान की फुंसी तो दूर हो जाएगी और आपके कान की सूजन भी दूर हो जाएगी |

नीम का इस्तेमाल करें :

नीम में आयुर्वेदिक गुण मौजूद होने के कारण यह हमारे शरीर को निरोगी बनाने के लिए लाभदाई है | यदि आप चार से पांच नीम की पत्तियां लेते हैं और उन्हें अच्छे से बारिक करके पीस लेते हैं और यह पत्तियों से निकला हुआ रस को शहद के साथ मिलाकर रुई की मदद से अपनी काल में लगाते हो तो इससे आप की कान की फुंसी दूर हो जाती है और फुंसी के कारण होने वाला सूजन भी कम होने लगता है |

कान बहने का कारण क्या है ?

कान बहने का कारण
कान बहने का कारण

ज्यादातर लोगों का कान में मैल होने के कारण कान बहने लगता है और यह आम बात है लेकिन क्या आपको पता है कि कान का बहने से आपका बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है |

यदि आपको पता नहीं है कि आपको कान बहने का कारण क्या है ? तो आप यह जानकारी अच्छे से पढ़े –

  • कान के अंदर बैक्टीरियल यानी कि वायरल इनफेक्शन होने के कारण कान बहने की समस्या होने लगती है|
  • सर्दी या जुखाम जैसी बीमारियां होने के बाद भी हमारे कान से पानी निकलने लगता है कई बार सफेद रंग का निकलता है तो कई बार पीले रंग का पानी निकलता है |
  • कान के परदे में खरोच आने के कारण भी हमारे कान से पीला पानी निकलने लगता है, या फिर कई बार हमारे कान से सफेद पानी निकलने लगता है |
  • कान बहने का प्रमुख कारण है कान का परदे को चोट लगना |
  • अधिक तेज आवाज आने के कारण भी हमारे कान के अंदर परेशानियां हो सकती है, इससे हमें कान बहने की समस्या होने लगती है |

कान बहने से बचने के लिए सावधानिया:

कान बहने से बचने के लिए
कान बहने से बचने के लिए

निम्न सावधानिया बरते :

  • बच्चे को कान में नुकीली चिज ना डालने दे |
  • बच्चे को कान में थप्पड़ न मारे | इससे बच्चा हमेशा के लिए बहरा हो सकता है |
  • फर्श पर ना सोये क्यूंकि कान में कीड़ा जा सकता  है |

मुंह की दुर्गंध सांसों की बदबू दूर करने के उपाय हिंदी में

कान बहने के लक्षण क्या है ?

कान बहने के लक्षण
कान बहने के लक्षण

जानिए –

कई लोगों के कान बहने लगते हैं और उन्हें पता भी नहीं चलता है कि उनका कान से पानी आ रहा है या कुछ गड़बड़ी है | यदि आपको कान बहने के लक्षण पता है तो आप इससे अपने कान का इलाज जल्दी करवा सकते हो |

कान बहने का प्रमुख लक्षण है –

  • कान से सफेद दिया हल्का पीला रंग का पानी आना |
  • कान से भूरे रंग का स्राव निकलना |
  • कान से पानी निकलते वक्त दुर्गंध आना |
  • कान में दर्द होने लगना |
  • कान में सनसनाहट महसूस होना |
  • कान का लाल होना भी आपके कान बहने का प्रमुख लक्षण है |
  • कान में इंफेक्शन होना कान बहने का कारण माना गया है | कान बहने पर कान से अलग-अलग प्रकार के तरल पदार्थ निकलने लगते हैं इसे ऑटोरिया नाम से कहा जाता है | अगर आपका कान बहने लगा है तो आपको तुरंत इसका इलाज करना चाहिए |

कान बहने का घरेलु इलाज कैसे करे ?

कान बहने का घरेलु इलाज
कान बहने का घरेलु इलाज
  • कान में चोट लगी हो तो तुरंत कान के डॉक्टर को दिखाए |
  • कान में अनाज का जाने पर सरसों का तेल गर्म कर ठंडा होने पर कान में डाले, इससे दाना उपर आ जायेगा |
  • कान में फुंसी होने पर प्याज का रस हल्का गर्म करके कान में डाले और रुई लगा दे |
  • कान बहाने पर सरसों के तेल में लहसुन की कालिया खूब पकाकर इनको तेल में  मसल दे ,
    तेल को छान कर सुभह शाम दो बूंद कान में डाले |
  • कान बहाने पर काले तलसी का अर्क कान में दो तिन बार दिन में डाले |
    अवश्य आराम मिलेगा |
  • पिप का बहाव रोकने के लिए महुआ, जामुन, चमेली, आर आवला के पत्ते और बढ़ के जड़ की खाल सबका रस सरसों के तेल में पकाकर तेल को कान में डाले अवश्य फायदा होगा |

मुंह में छाले होने के कारण लक्षण और घरेलु इलाज हिंदी में

कान दर्द का घरेलु इलाज हिंदी में

 

Leave a Reply