कौंच बीज – एक घरेलु देसी वियाग्रा

कौंच बीज के फायदे : कौंच बीज चूर्ण, कौंच के बीजों से बना हुआ हुआ पाउडर है। कौंच को कपिकच्छु, कवंच और आत्मगुप्ता नाम से भी जाना जाता है |

कौंच बीज
कौंच बीज

Botanical Name: Mucuna pruriens |
Family Name : Fabaceae Family |

लैटिन नाम : mucuna  pruricus 

अंग्रेजी : cowhage

हिन्दी : कौच ,केवांछ

मराठी : कुहिलेवे बीज

गुजरती :  कवचाना बीज

बंगला : आलाकुशी 

कौंच के बीज का देसी viagra की तरह इस्तमाल होता है | इस बीज का इस्तमाल सेक्सुअल प्रॉब्लम के लिए एक आयुर्वेदिक टॉनिक (दवाई) की तरह किया जाता है क्यूंकि कौंच के बिज या कौंच पाक में सेक्स पॉवर यानिकी यौन शक्ति बढाने की शक्ति है, इस को नेचुरल वियाग्रा भी कहा जाता है, और हा बाजार में मिलने वाली वियाग्रा की तरह इसका कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं है, इसका उपयोग पूरी तरह सुरक्षित है |

कौंच के बीज का इस्तेमाल कौंच पाक जैसी आयुर्वेदिक औषधि के आलावा दूसरी दवाओं में भी इस्तमाल होता है | कौंच का बीज की खाने की पूरी, पकवान और लड्डू  भी बनाये जाते हैं |

कौंच का बीज के इस्तमाल से शरीर में वात और पित्त विकार कम होता है और कफ को बढ़ाते है | इसका उपयोग यौन अंगों पर होता है|

कौंच बीज के फायदे क्या है ?

कौंच बीज के फायदे
कौंच बीज के फायदे

पित्त विकार को कम करता है:

कौंच बीज का सेवन करने से हमारे शरीर की पाचन क्रिया मजबूत हो जाती है और इसका प्रमुख फायदा है कि हमें पित्त बीमारी से छुटकारा मिल जाता है |

कई सारे लोग होते हैं जो  खाना खाने के बाद एक ही जगह पर बैठे हुए होते हैं और इसी कारण उन्हें पित्त जैसी बीमारी होने लगती है | इसलिए कौंच बीज का सेवन उन्हें करना लाभदाई होता है |

शरीर में वात का विकार दूर करने में असरदार :

अगर किसी को वात की बीमारी है तो उस व्यक्ति को कौंच के बीज के पाउडर का सेवन करना चाहिए, क्योंकि यह हमारे शरीर में खून का प्रभाव अच्छा करने में मदत करता है | इसलिए कारण हमारे शरीर में खून की कमी महसूस नहीं होती है और यह प्रमुख कारण है, जिससे हमारे शरीर में वात का विकार दूर हो जाता है |

लिंग खड़ा होने की समस्या:

कई सारे लोगों को परेशान करती रहती है, लेकिन यदि वह कौंच बीज के पाउडर का सेवन करते हो और व्यक्ति में लिंग खड़ा होने की समस्या से छुटकारा मिल जाता है क्योंकि लिंग खड़ा होने के लिए हमारे शरीर में खून का फ्लो अच्छे से होना चाहिए और यह कौंच के बीज के कारण हो जाता है |

शीघ्रपतन का इलाज करने के लिए :

कई सारे लोग ऐसे होते हैं जिन्हें शिघ्रपतन जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है इसमें उन व्यक्तियों को जल्दी झड़ने की समस्या होने लगती है, तो यदि आप कौंच बीज का सेवन करते हो तो आप के लिंग में से वीर्य निकलने में जल्दबाजी नहीं होगी |

शुक्र पात का आयुर्वेदिक इलाज :

जैसे कि हमने आपको पहले ही बताया कि शीघ्रपतन जैसी बड़ी बीमारियों का उपाय करने के लिए कौंच बीज बहुत लाभदाई है, इसीलिए आपको वीर्य पतन यानि कि शुक्राणु का निकल जाना इस समस्या का इलाज कौंच बीज से जल्द ही हो जाता है |

कौंच बीज में सेक्स करने की इच्छा को बढ़ाने की क्षमता होती है, क्योंकि कौंच बीज में एल डो पा होता है, जो हमारे शरीर में डोपामाइन निकलने में मदत करता है और डोपामाइन निकलने से हमें सेक्स करने की इच्छा जल्दी होती है|

मांसपेशियों के दर्द में आराम मिलता है :

शरीर में खून का प्रभाव अच्छे से होने के कारण हमारे शरीर में मांसपेशियों में दर्द नहीं होता है और यदि हम कौंच के बीज का सेवन करते हैं, तो हमारे शरीर में खून का प्रभाव अच्छे से होता है जो कि हमारे मांसपेशियों में दर्द होने से बचाता है |

प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है :

कई सारे लोग ऐसे होते हैं जिन्हें शादी होने के बाद भी बच्चा नहीं होता है, लेकिन वह जान नहीं पाते हैं कि इसके पीछे कारण क्या है अगर आपको पता चल जाता है कि बच्चा पैदा करने में आपकी फर्टिलिटी कम है, तो आपको कौंच के बीज का सेवन करना चाहिए |

इसका सेवन करने से आपकी फर्टिलिटी का लेवल बढ़ जाता है और प्रजनन क्षमता बढ़ने के कारण आपको बच्चा पैदा  करने में कोई परेशानी नहीं होती है |

सेक्स प्रॉब्लम की समस्या दूर हो सकती हैं :

यदि आप कोच के बीज का सेवन करते हो तो इसके कारण आपके लिंग में तनाव बढ़ने लगता है और इसी से हम सेक्स करने में सक्षम हो जाते हैं, यदि हम सेक्स करते समय हमारा लिंग खड़ा ही नहीं हुआ तो हम सेक्स कैसे कर सकते हैं | इसलिए आपको कौंच बीज का सेवन करना चाहिए | इसका सेवन करने से आपकी सेक्स की कमी दूर हो जाती है |

योन ग्रंथियों को मजबूत करता है :

कौंच बीज का सेवन करने से हमारी ग्रंथियां मजबूत होने लगती है, क्योंकि उन ग्रंथियों में खून का प्रभाव अच्छे से होने से ताकत आ जाती है और यह हमारी ग्रंथियों को मजबूत बनाने के लिए बहुत लाभकारी माना गया है |

कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवा :

शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने के कारण हमारे शरीर में मोटापा नहीं लगता है और यदि हम हमारे शरीर की तरफ ध्यान नहीं देते हैं, तो हमारी पेट की चर्बी बढ़ने लगती है और इस चर्बी बढ़ने के कारण हमारे सेक्स परफॉरमेंस पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है |

यदि हम कौंच बीज का सेवन करते हैं तो हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की संख्या अच्छे से रहेगी इसीलिए हमें कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने नहीं देना चाहिए,  इसी का इलाज करने के लिए आपको चीज का सेवन बहुत प्रभावशाली तरीके से कर सकते हो |

कौंच बीज से देसी वियाग्रा बनाने का तरीका :

कौंच बीज पाउडर, सफ़ेदमूसली पाउडर और असगंध पाउडर तीनों एक समान मात्रा में लेकर इसको अच्छी तरह मिक्स करलें | इन तीनों आयुर्वेदिक जडीबुटी को मिलाने से वियाग्रा से दस गुना ज्यादा पॉवरफुल देसी वियाग्रा बनाने के लिए इस्तमाल किया जाता है | इस देसी वियाग्रा का इस्तमाल करने से आपके लिंग में योनी को अपना जोर दिखाने की ताकत आती है इसको मर्दाना कमजोरी का इलाज के लिए भी इस्तमाल किया जाता है, जैसे चुदाई करने के वक़्त लंड खडा न हो पाने का इलाज |

कौंच के बीज पावडर का इस्तमाल कैसे करते है ?

कौंच बीज पाउडर को आप ऐसे भी ले सकते हैं | ५ ग्राम की मात्रा में  कौंच बीज पाउडर एक ग्लास मिश्री के साथ मिले हुवे दूध के साथ सुबह और शाम में लेने से शीघ्रपतन, लिंग की कमज़ोरी, लंड का ढीलापन इत्यादि समस्या दूर होती है |

Download WordPress Themes Free
Download WordPress Themes
Free Download WordPress Themes
Download WordPress Themes Free
online free course
download huawei firmware
Download Nulled WordPress Themes
ZG93bmxvYWQgbHluZGEgY291cnNlIGZyZWU=