महिला शरीर के रहस्य जो आपको पता भी नहीं होंगे

, , Leave a comment

महिला शरीर के रहस्य

महिला शरीर के रहस्य
महिला शरीर के रहस्य

महिला शरीर के कई रहस्य होते है। जो कि ज्यादातर कुछ औरतों के रहस्य आपको भी पता नहीं होंगे | तो आज हम आपको कुछ ऐसे महिला शरीर के गुप्त रहस्य बताएँगे जिससे आप जान सकते हो महिला का अंग क्या क्या कर सकता है |

स्त्री के शरीर की जानकारी :

नमस्ते दोस्तों,आज हम देखेंगे स्त्री के शरीर की जानकारी | जो लड़के उम्र में आने लगते हैं उन्हें स्त्री के शरीर की जानकारी मालूम करना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है | बहुत सारे लड़कों को स्त्री के शरीर की जानकारी ना मिलने पर वह इंटरनेट की सहायता लेते हैं, क्योंकि हर किसी को स्त्री के शरीर की तरफ आकर्षण होता है | स्त्री का शरीर होता ही ऐसा है, स्त्री का शरीर बहुत ही सुंदर होता है, स्त्री के शरीर को बहुत सारे ऐसे अंग होते हैं जो पुरुषों को आकर्षित करते हैं | स्त्री के शरीर के साथ हर किसी को मजाक मस्ती करना अच्छा लगता है, बहुत सारे बड़े उम्र वाले लोगों को स्त्री का शरीर बहुत ज्यादा अच्छा लगता है | दोस्तों आज हम देखेंगे स्त्री के शरीर की जानकारी |

महिला शरीर के गुप्त रहस्य

आईए जानते हैं स्त्री शरीर के रहस्य हिंदी में –

  • गर्भावस्था के दौरान निकलने वाला हार्मोन निप्पल के रंग को गाढ़ा या काला कर देता है। लेकिन इसका रंग परिवर्तन होने से कोई खतरा नहीं होता।
  • स्तनपान करवाना माँ मे सकारात्मक बदलाव लाता है।
  • महिलाओं के स्तनों का वजन लगभग 500 ग्राम होता है।
  • लड़की को पहली बार पीरियड आने के बाद 24 साल में तुरंत पूरी तरह से विकसित हो जाते हैं।
  • ज्यादातर महिलाओं का बाया स्तन दाहिने स्तन से बड़ा होता है।
  • पूरी दुनिया में 70% महिलाएं अपने स्तनों के आकार से कुछ नहीं है।
  • 80% पुरुष जब भी किसी महिला से पहली बार मिलते है तो उसके स्तनों को निहारते हैं।
  • 40 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है।
  • बच्चे को दूध पिलाने से दिल की बीमारी और स्तन कैंसर से मां का बचाव होता है।
  • निप्पल से तब भी तरल पदार्थ निकल सकते हैं अगर आप स्तनपान ना करवा रही हो।
  • औरत के स्तनों का दूध गाय के दूध से मीठा होता है।
  • प्राचीन रोम में महिलाए काम करने के दौरान अपने स्तनों पर पट्टी बांधा करती थी।
  • सोते समय महिलाओं के निप्पल भी सेक्स की वजह से लिंग की तरह उत्तेजित हो जाते हैं।
  • पेट के बल सोने से आपके स्तनों का आकार चेंज हो सकता है।
  • दुनिया में 8 तरह के निप्पल होते हैं।
  • लड़कियां भी अपने स्तनों को ऐसे ही देखती है जैसे लड़के देखते हैं।
  • दुनिया की 50% महिलाएं ब्रेस्ट कैंसर की जांच नहीं करवाती है।
  • महिलाओं के स्तनों को दबाने पर जो हार्मोन रिलीज होता है वही हार्मोन गले लगने पर भी रिलीज होता है।
  • सिगरेट और शराब पीने वाली महिलाओं के स्तन बड़े हो जाते हैं।
  • वजन बढ़ने से स्तनों का आकार बढ़ जाता है।

तो दोस्तों यह थे महिला शरीर के रहस्य जो की काफी अजीब है जो आपको पता नहीं होंगे|

जानिए की

महिलाओ के पीरियड्स कैसे होते है ?

स्त्री के शरीर की जानकारी -:

महिला शरीर के गुप्त रहस्य
महिला शरीर के गुप्त रहस्य
  1. स्त्री का शरीर पुरुषों के शरीर से बहुत ज्यादा चिकना और मुलायम होता है, शरीर की त्वचा मुलायम रहती है जिसके कारण कोई भी व्यक्ति स्त्री के तरफ आकर्षित हो जाता है | स्त्री के त्वचा का रंग बहुत ही शुभ्र होता है जिसके कारण स्त्री की सुंदरता और ज्यादा बढ़ जाती है |
  2. स्त्री की कमर बहुत ज्यादा सुंदर होती है, सारे मर्दों को स्त्री की कमर बहुत ज्यादा अच्छी लगती है | स्त्री के कमर को सौभाग्यदायक माना जाता है, अगर स्त्री की कमर बिल्कुल परफेक्ट नहीं रही तो इससे देखने वाले का नजरिया बदल जाता है | अगर किसी स्त्री की कमर टेढ़ी, चपटी, लंबी, छोटी, रोम युक्त हो तो यह अशुभ माना जाता है | इसलिए स्त्री ने अपने शरीर की तरफ हमेशा ध्यान रखना चाहिए |
  3. पुरुषों के चेहरे पर जैसे बाल होते हैं वैसे स्त्री के चेहरे पर या शरीर पर बाल नहीं होते हैं, स्त्री के जांघों में और गुप्तांगों पर ही बाल होते हैं | मर्दों को पूरे शरीर पर बाल होते हैं जिसके कारण पुरुषों को बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है | शरीर पर बाल ना होने के कारण स्त्री की त्वचा मुलायम और चमकीले दिखती है |
  4. स्त्री के शरीर में गर्भाशय होता है, गर्भाशय ७ सेंटीमीटर लंबा और ५ सेंटीमीटर चौड़ा होता है | गर्भाशय का वजन लगभग ३५ ग्राम होता है, गर्भाशय में ही महिला के बच्चे की ग्रोथ होती है | गर्भाशय के झुकाव से बच्चे के जन्म पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है |
  5. स्त्री को हर महीने में ४ दिन महावारी आती है, महावरी मतलब पीरियड होती है | स्त्री के योनि से तीन-चार दिनों में रक्त स्त्राव होता है, स्त्री को मासिक धर्म १० से १२ वर्ष की उम्र में ही शुरू हो जाता है | स्त्री का शरीर १८ वर्ष की आयु तक पूरी तरह से विकसित हो जाता है, १८ वर्ष के बाद स्त्री प्रजनन करने के लिए सक्षम होती हें |

यह थी स्त्री के शरीर की जानकारी |

महिलाओं की योनी का आकार कैसे कम होता है 

 

Leave a Reply