पथरी का इलाज (किडनी स्टोन ट्रीटमेंट विदाउट सर्जरी)

0
105
पथरी का इलाज
पथरी का इलाज

आजकल ज्यादातर लोगो में पथरी यानी कि किडनी स्टोन की समस्या पाई जाती है, और इसी किडनी स्टोन की समस्या के कारण उन्हें अपने रोजाना के जीवन में बहुत तकलीफ का सामना करना पड़ता है | इसी लिए हमें कभी भी पथरी की समस्या को आसानी से नहीं लेना चाहिए |

तो अब हम देखते है क्या होता है यह और कैसे हम इस पथरी से बच सकते है ? और किडनी स्टोन ट्रीटमेंट विदाउट सर्जरी कैसे किया जाता है|

पथरी क्या होती है ?

गुर्दे की पथरी यानी कि किडनी स्टोन, नमक और मिनरल से बनी हुई एक ठोस जमावट होती है | पथरी के कारण हमेशा पेट में दर्द हो रहा है ऐसा हमें महसूस होता है |

पथरी
पथरी

पथरी गेहू के दाने जितनी छोटी भी हो सकती है और गोल्फ की गेंद जितनी बड़ी भी हो सकती है | इसलिए पथरी होने पर ट्रीटमेंट लेना काफी ज्यादा जरूरी होता है |

बहुत सारे लोग पथरी होने पर इस बात को नजरअंदाज करते हैं, दोस्तों हम आपको बताना चाहते हैं कि इस बात को नजरअंदाज बिल्कुल ना करें, क्योंकि कई बार पथरी जानलेवा भी बन जाती है |

कई बार पथरी होने पर लोग इस बात को नजरअंदाज करते हैं, क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि कई बार पथरी मूत्र पथ के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाती है |

लेकिन कई बार पथरी मूत्र वाहिनी से बाहर निकलती ही नहीं है, क्योंकि पथरी का आकार बड़ा हो चुका होता है | ऐसे वक्त हमें ऑपरेशन करना पड़ता है, इसलिए पथरी होने पर तुरंत डॉक्टर से ट्रीटमेंट लेना आपके लिए सही होता है |

यह एक साधारण प्रक्रिया है| इसमें शरीर के क्षारिक तत्व पेशाब के साथ बाहर आते है | परन्तु जब ये शरीर से बाहर नहीं निकल पाते तो वाही रुक जाते है और धीरे-धीरे जमने लगते है| और कुछ समय बाद पथरी का रूप धारण कर लेते है| यह पथरी तीनो दोषों वात, पित्त, कफ के प्रकोप से होती है| अधिकतर यह वात, पित्त, कफ तथा वीर्य में अवरोध उत्पन्न होने पर बनाने लगती है|

गुर्दे की पथरी कैसे होती है ?

गुर्दे की पथरी
गुर्दे की पथरी

पेशाब में जब कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है तो यह कैल्शियम गुर्दे की कोशिकाओं में जमा होने लगता है, आगे चलकर जिसका रूपांतर पथरी के रूप में हो जाता है |

जो लोग काफी भारी कैल्शियम वाला भोजन सेवन करते हैं, उन लोगों को पथरी होने की संभावना ज्यादा होती है | सही मात्रा में कैल्शियम का सेवन करना हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता है |

हमारे शरीर में जब कैल्शियम और फास्फेट के गुण अत्यधिक मात्रा में हो जाते हैं तब पथरी होने की संभावना ६०% से ज्यादा बढ़ जाती है |

सामान्य रूप से देखा जाए तो जो लोग काफी कम पानी पीते हैं उन लोगों को पथरी की समस्या ज्यादा आती है, इसलिए ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करना सही होता है |

पथरी की बीमारी उम्र के ३० साल से लेकर ४० साल तक ज्यादा देखी जाती है, महिलाओं के मुताबिक पथरी की बीमारी पुरुषों के शरीर में ३ से ४ गुना अधिक देखी जाती है | इसलिए पथरी की बीमारी होने पर पुरुषों ने जल्द से जल्द अच्छे उपाय अपनाना चाहिए |

पथरी होने पर पथरी का दर्द, पथरी का स्थान, पथरी का आकार, पथरी की चौड़ाई, इस आधार पर डॉक्टर हमें ट्रीटमेंट देते है |

गुर्दे में पथरी होने के लक्षण क्या होते है ?

गुर्दे में पथरी होने के लक्षण
गुर्दे में पथरी होने के लक्षण
  1. बहुत सारे लोगों के पेट में हल्का सा दर्द होता है, पेट में जब हल्का दर्द होता है तब इस बात को हम नजरअंदाज करते हैं | लेकिन रोजाना अगर पेट में दर्द हो रहा है तो यह पथरी होने का एक बड़ा लक्षण होता है |
  2. गुर्दे की पथरी का दर्द आमतौर पर रात के समय या सुबह सुबह शुरू होता है | इसलिए रात के समय और सुबह के समय अगर पेट में तेज दर्द होता है तो यह पथरी का लक्षण है |
  3. गुर्दे में जब पथरी होती है तब पेशाब करते समय काफी दर्द महसूस होता है, बहुत सारे लोगों को पेशाब करते समय दर्द होता है लेकिन लोग इस बात को नजरअंदाज करते हैं जिसके कारण पथरी बढ़ते ही जाती है |
  4. कई बार मूत्र में खून आना, मूत्र में धुंधलापन महसूस होना, मूत्र में असामान्य गंध आना यह कुछ सामान्य पथरी के लक्षण है |
  5. पेशाब करने के बावजूद भी जब हमें लगता है कि हमने फिर से पेशाब के लिए जाना चाहिए तो आपने समझ जाना है कि आपको पथरी की समस्या आना शुरू हो गया है | गुर्दे की पथरी होने पर मनुष्य बार- बार थोड़े थोड़े वक्त के बाद पेशाब करने की इच्छा महसूस करता है |

गुर्दे की पथरी का रामबाण इलाज कैसे करे ?

गुर्दे की पथरी का रामबाण इलाज
गुर्दे की पथरी का रामबाण इलाज

गुर्दे की पथरी होने से पहले हर किसी ने जान लेना चाहिए कि पथरी कैलशियम स्टोन, यूरिक एसिड स्टोन, स्ट्रूवाइट स्टोन, सिस्टिन स्टोन, इन चार प्रकार के होती है |

  1. गुर्दे की पथरी होने पर ज्यादा से ज्यादा पानी पीना जरूरी होता है ,ज्यादा से ज्यादा पानी पीने से पानी मूत्र में मौजूद पथरी पैदा करने वाले पदार्थों को बाहर निकाल देता है |
  2. पथरी का आयुर्वेदिक इलाज देखते समय गुरु जी ने बताया है कि दिनभर में इतना पानी पिए कि आप अपने दिन भर में २ लीटर से ज्यादा मूत्र विसर्जन करना चाहिए |
  3. बहुत सारे लोगों के शरीर में कैल्शियम की मात्रा काफी कम होती है या काफी बढ़ जाती है | दोस्तों हम आपको बताना चाहते हैं कि शरीर में कैल्शियम की मात्रा हमेशा संतुलित रखने की कोशिश करें, बढ़ती उम्र के हिसाब से जरूरी कैल्शियम की मात्रा अगर आप लेते हो तो पथरी की समस्या नहीं आती है |
  4. अपने आहार में सोडियम की मात्रा बिल्कुल कम खाए, उच्च सोडियम आहार लेने से पथरी की समस्या काफी ज्यादा बढ़ जाती है | इसलिए सोडियम की मात्रा को कम रखें और कैल्शियम की मात्रा को संतुलित रखें |
  5. पथरी की समस्या आने पर रेडीमेड मुर्गी, अंडे, समुद्री भोजन जैसे पदार्थों को संतुलित खाए जिससे आपके शरीर में उच्च प्रोटीन रहेगा और पथरी की समस्या धीरे-धीरे कम होने लगेगी |

गुर्दे की पथरी को कैसे ठीक करें ?

गुर्दे की पथरी को ठीक करने के लिए अपने शरीर की सारी गतिविधियों को संतुलित रखने की कोशिश करें, हमारे देश में महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली,राजस्थान, गुजरात इन राज्यों में गुर्दे की पथरी की समस्या काफी ज्यादा देखी जाती है |

गुर्दे की पथरी को कैसे ठीक करें
गुर्दे की पथरी को कैसे ठीक करें

इसलिए गुर्दे की पथरी को ठीक करने के लिए अपना आहार संतुलित रखने की कोशिश करें, जिन लोगों के शरीर में संतुलित मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, इस तरह के सारे पोषक तत्व होते हैं उन लोगों को पथरी की समस्या आमतौर पर नहीं आती है |

कई बार महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर काफी कम हो जाता है, जिसके कारण भी पथरी की जोखिम बढ़ जाती है | इसलिए ऐसे वक्त उच्च प्रोटीन, नमक या ग्लूकोस वाले आहार का सेवन चिकित्सक की सलाह से करना चाहिए |

अगर आपके परिवार में किसी व्यक्ति को पथरी होता है तो आगे के परिवार में पथरी होने की संभावना बढ़ जाती है | इसलिए पथरी की समस्या होने पर इस समस्या को जल्द से जल्द निपटाना फायदेमंद होता है |

पथरी होने के कारण क्या है ?

पथरी होने के कारण
पथरी होने के कारण

अधिक मामलो में तो पथरी बनने के कारण क्षारीय तत्वों का शरीर से बाहर न निकल पाना ही होता है|
इसके लक्षण होते है-

  1. मूत्राशय सूज जाता है |
  2. पेडू के आस-पास दर्द होता है|
  3. पेशाब काष्ट के साथ आता है|
  4. मूत्र में बकरे के पेशाब जैसी दुर्गन्ध आती है|
  5. मूत्र त्याग करते समय जोर की पीड़ा होती है|
  6. मूत्राशय में दर्द के कारण रोगी तिलमिलाने लगता है|
  7. मूत्र की धार फटी हुई रूप में आती आती है|
  8. कभी कभी पेशाब के साथ रक्त भी आता है|
  9. पेट में अत्यंत जलन और भयंकर दर्द होता है|

पथरी का रंग लाल, काला, पिला, नीला अथवा सफ़ेद होता है | यह कांटेदार, त्रिकोनी या चपटी आदि कई तरह की और चिकनी होती है|

किडनी स्टोन में सावधानिया:

किडनी स्टोन में सावधानिया
किडनी स्टोन में सावधानिया
  • किडनी स्टोन के रोगी को पर्याप्त मात्र में पानी पीना चाहिए|
    पकवान, अधिक गरम चीजे, तेज मिर्च-मासाले, मासं, मछली, अंडा आदि ना खाए|
  • एक विशेष सावधानी जरुर बरतनी चाहिए की वीर्य के आवेग को बीच में ना रोकना चाहिए,
  • यदि ऐसा है तो यह लिंग का मुत्रद्वार में सुखकर अवरोध पैदा करता है आर पथरी को जन्म देता है|

किडनी स्टोन का इलाज करे ९ घरेलु तरीको से :

किडनी स्टोन का इलाज
किडनी स्टोन का इलाज

दोस्तों आजकल बाबा रामदेव जी के आयुर्वेदिक इलाज से भी आपको फायदे होते है. अब घरेलु इलाज से पथरी को निकला जा सकता है| इसके लिए निचे दिए हुआ बाबा रामदेव के घरेलू नुस्खे में पथरी की दवा पतंजलि अपनाये यह बहुत ही असरदार है |

  1. पथरी को पर्याप्त मात्रा में चौलाई का साग अपने भोजन में शामिल करे|
  2. मुली के ३० ग्राम बीज आधा लीटर पानी में उबाले, आधा शेष रहने पर छानकर पिए|
    दो सप्ताह इस्तेमाल करने पर पथरी गलने लगती है|
  3. दूब को जड़ सहित उखाड़कर उसकी पत्तिया अलग करे| मिश्री डाल कर इन्हें घोंट-पिस्कार शरबत बनाए|
    एक गिलास की मात्रा में दिन में दो बार कुछ दिन पिने से पेशाब खुलकर आता है|
  4. बड़ा सा प्याज साफ़ करके उसे पीसकर उसका रस निकाले, कपडे में छानकर एक कप की मात्रा में सुबह-शाम खाली पेट सेवन करे|
  5. पेठे के रस में हिंग तथा कालीमिर्च डालकर सुबह सेवन करे|
  6. भोजन में खीरा , तरबूज, ककड़ी का सेवंन अधिक करे या सेंध नमक डालकर इनका रस पिए|
  7. दो तोला हल्दी तथा ३५० ग्राम गुड मिलाए| इसमे से आधा चम्मच रोज कांजी के साथ सेवन करे|
  8. गाजर का रस नित्य सेवन करनेसे यह गुदारे के पठारी को तोड़कर निकाल देता है|
  9. गन्ने का रस अधिक पेशाब लाता है, इससे पेडू की जलन और दाह शांत होती है|

क्या पथरी का ऑपरेशन करना चाहिए ?

देखा जाए तो किसी को भी नहीं लगता है कि हमारा ऑपरेशन होना चाहिए, अगर आपको लगता है कि आपने पथरी का ऑपरेशन नहीं करना चाहिए तो सबसे पहले आपने जान लेना चाहिए कि आपके पेट में पथरी कितनी बड़ी है |

पथरी का ऑपरेशन
पथरी का ऑपरेशन

पथरी का ऑपरेशन करने से पहले रक्त परीक्षण करना जरूरी होता है, रक्त परीक्षण करने से समझ में आता है कि आपके शरीर में कितनी मात्रा में कैल्शियम और यूरिक एसिड है | यूरिक एसिड और कैल्शियम का परीक्षण करने से चिकित्सक को हमारे शरीर में होने वाले पथरी के स्थिति की जांच करने में सहायता मिलती है |

चिकित्सक का कहना है कि आपने पथरी का ऑपरेशन कर लेना चाहिए | दोस्तों ऑपरेशन करने से पहले पेट का एक्सरे, सीटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड यह सारे परीक्षण करना जरूरी होता है |

पथरी का ऑपरेशन करने से पहले आपके पेट में होने वाली पथरी किस वजह से हुई है इस बात का अभ्यास रखें |

पथरी का ऑपरेशन होने के बाद क्या खाना चाहिए ?

पथरी का ऑपरेशन होने के बाद क्या खाना
पथरी का ऑपरेशन होने के बाद क्या खाना
  • पथरी का ऑपरेशन होने के बाद अपने आहार में फल और दूध का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए | ऑपरेशन होने के बाद मांसाहारी चीजों का सेवन बिल्कुल ना करें |
  • जो चीजे डाइजेशन में काफी सरल है उन चीजों का सेवन करना चाहिए, जिससे पथरी नहीं बढ़ेगी और ऑपरेशन के बाद आपका शरीर जल्दी रिकवर होने लगेगा |
  • ऑपरेशन होने के बाद हमारे शरीर में प्रोटीन को सीमित करना काफी ज्यादा जरूरी होता है, अगर आप रोजाना मुर्गी अंडे या समुद्री भोजन करते हो तो ऑपरेशन के बाद डॉक्टर के सलाह से ही मांसाहारी चीजों का सेवन करें | ऑपरेशन के बाद हमारे शरीर में यूरिक एसिड का स्तर संतुलित रहना चाहिए |
  • पथरी के ऑपरेशन के बाद अपने भोजन में चुकंदर, पालक, चॉकलेट,ऑक्सीडेंट चीजें इन चीजों को बिल्कुल ना खाएं | जैसे जैसे आपका शरीर रिकवर होने लगेगा वैसे वैसे डॉक्टर की सलाह से आप अन्य पदार्थों का सेवन कर सकते हो |

पथरी का आयुर्वेदिक इलाज कैसे होता है ?

पथरी का आयुर्वेदिक इलाज
पथरी का आयुर्वेदिक इलाज
  1. गुर्दे की पथरी का आयुर्वेदिक इलाज करते समय चिकित्सक हमें सारे पथरी के घरेलू उपाय करने के लिए कहते हैं |
  2. गुर्दे की पथरी का आयुर्वेदिक इलाज करते समय रोजाना गरम पानी उबालकर इस पानी में अदरक डालना चाहिए और यह पानी पीना चाहिए | जिससे पथरी धीरे-धीरे कम होने लगेगी और पेट दर्द नहीं होगा |
  3. पथरी की समस्या का सबसे रामबाण उपाय होता है रोजाना नींबू पानी का सेवन करना, नींबू में साइट्रिक एसिड होता है जो शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ने से रोकता है | जिससे पथरी कम होने लगती है और धीरे-धीरे मूत्र मार्ग से बाहर निकल जाती है |
  4. जो लोग रोजाना एलोवेरा जूस पीते हैं उन लोगों को पथरी का दर्द कभी भी महसूस नहीं होता है, इसलिए दिन भर में एक बार एलोवेरा जूस पीना ही चाहिए |
  5. रोजाना प्याज के रस में थोड़ी मात्रा में शक्कर मिलाकर यह मिश्रण पीले, यह पथरी के दर्द की दवा काफी असरदार होती है | इस मिश्रण को पीने से शरीर में विटामिन बी और पोटेशियम की मात्रा नहीं बढती है |

किडनी स्टोन होने पर क्या खाएं ?

किडनी स्टोन होने पर क्या खाएं
किडनी स्टोन होने पर क्या खाएं
  1. किडनी स्टोन होने पर ऐसी चीजों का ज्यादा सेवन करें जो चीजे डाइजेशन में काफी नाजुक है, किडनी स्टोन अगर होता है तो नॉन वेजिटेरियन चीजों का सेवन करना थोड़े दिनों के लिए पूरी तरह से बंद कर दे |
  2. जिन चीजों में अतिरिक्त मात्रा में कैल्शियम और प्रोटीन नहीं है उन चीजों का सेवन करना काफी असरदार होता है |
  3. रोजाना मूली के साथ आंवले का चूर्ण खाने से भी पथरी खत्म होने लगती है |
  4. किडनी स्टोन होने पर जो लोग पके हुए प्याज का रस शक्कर के साथ पीते हैं उन लोगों के शरीर में पथरी धीरे-धीरे कम होने लगती है और मूत्र मार्ग से बाहर निकल जाती है |
  5. इन दिनों में अपने भोजन में सलाद का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें, जिससे शरीर में फाइबर की मात्रा संतुलित रहेगी और शरीर की सारी गतिविधियां नॉर्मल रहेगी |

किडनी स्टोन होने पर क्या पीना चाहिए ?

किडनी स्टोन होने पर क्या पीना
किडनी स्टोन होने पर क्या पीना
  1. किडनी स्टोन होने पर रोजाना ४ से ५ लीटर पानी पीना काफी जरूरी होता है, पानी पीने से आप ज्यादा से ज्यादा पेशाब करोगे जिससे पथरी पेशाब के रूप से बाहर निकलने की संभावना बढ़ जाती है |
  2. किडनी स्टोन की समस्या होने पर प्रोटीन शेक या प्रोटीन मिल्क शेक का सेवन बिल्कुल ना करें, इस दौरान अगर आपके शरीर में प्रोटीन और कैल्शियम की मात्रा काफी ज्यादा बढ़ जाती है तो इससे पथरी की समस्या बढ़ सकती है |
  3. इन दिनों में नारियल का पानी पीना काफी अच्छा होता है, जिस वक्त आपको ऐसा लगता है कि आपको भूख लगी है उस वक्त नारियल का पानी पीना चाहिए |
  4. कई बार लोग किडनी स्टोन निकलने के लिए बियर पिटे है | लेकिन कई लोगो की स्टोन की समस्या बियर को पिने से भी कम हुई है |
  5. जिस पेय को पीने से आपके शरीर में एसिडिटी बढ़ेगी उस पेय को बिल्कुल ना पिए |

किडनी स्टोन के लिए योग कैसे करे ?

किडनी स्टोन के लिए योग
किडनी स्टोन के लिए योग
  • किडनी स्टोन होने पर योग करना काफी ज्यादा असरदार होता है, क्योंकि योग करने से आपके शरीर की सारी गतिविधियां प्राकृतिक रूप से काम करने लगती है |
  • योग करते समय हमेशा ध्यान रखें कि आपके पेट पर किसी प्रकार का प्रेशर नहीं आना चाहिए, क्योंकि हमारा शरीर इस दौरान संतुलित रहना चाहिए |
  • रोजाना अनुलोम विलोम, कपालभाति, भुजंगासन यह सारे सामान्य आसन करते रहे जिससे शरीर की सारी गतिविधियां संतुलित रहेगी और किडनी स्टोन बाहर निकलने में मदद मिलेगी |
  • किडनी स्टोन होने पर रोजाना योग करने के साथ-साथ रोजाना एक्सरसाइज करना भी जरूरी होता है | रोजाना एक्सरसाइज करने से शरीर में अतिरिक्त कैल्शियम और प्रोटीन नहीं रहेगा जिससे किडनी स्टोन नहीं होगा |

 

पथरी का इलाज (किडनी स्टोन ट्रीटमेंट विदाउट सर्जरी)
5 (100%) 1 vote[s]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here