loading...

पेट की वायु का देसी घरेलु इलाज

पेट की वायु का देसी घरेलु इलाज

पेट की वायु

पेट की वायु

पेट की वायु लक्षण व कारण:

पेट की वायु कोई रोग नहीं । लेकिन इससे हमें तकलीफ तो होती ही है। पेट की वायु ज्यादातर प्याज, अंडे, बेसन, रेशेदार पदार्थ, और अधिक प्रोटीन और वसा युक्त भोजन के सेवन से उत्पन्न होती है। कभी-कभी पेट के अल्सर, अपच, पेट में संक्रमण तथा अन्य कारणों से भी यह समस्या हो जाती है। इस रोग में ठंडा व रूखा सूखा नहीं खाना चाहिए। गुदाद्वार से रह रहकर वायु निकलना इसरो का एकमात्र लक्षण है।

पेट की वायु का उपचार :

सेब:

सेब के गूदे में यह विशेषता रहती है कि वह पेट की आंतों तथा पाचक अंगों पर हल्की सी परत बनाकर उनके लिए ढाल की तरह कार्य करता है। इससे पाचन कार्य में सक्रिय अवयव भोजन के बचे हुए अंश के कारण सड़ने से बचे रहते हैं व गैस नहीं बनती। गैस के रोगियों को चाहिए कि सेव का रस पी कर या सेब खाकर गर्म पानी पिए इस से बहुत लाभ होगा।

नारंगी:

इसके सेवन से गैस की समस्या समाप्त हो जाती है। इसके लिए सुबह 1 गिलास नारंगी का रस पिए।

केला:  

देसी घी के साथ केला खाने से गैस की अधिकता दूर हो जाती है। जब जब गैस बनती हो तब तब केले का सेवन करें। इससे गैस में राहत मिलती है।

अमरूद:

अगर आपको गैस की समस्या हुई हो तो अमरुद खाने से गैस दूर होता है। अमृत को काटकर सेंधा नमक के साथ खाए। इससे पाचन क्रिया ठीक होती है और गैस नहीं बनता।

अंजीर:

अंजीर के बीजों के सेवन से पेट साफ रहता है तथा हमेशा बनी रहने वाली गैस भी खत्म होती है।

जायफल:

पेट की वायु दूर करने के लिए जायफल को नींबू के रस में घीसकर चाटने से गैस दूर हो जाती है। जायफल को घिस कर उसमें सोंठ मिलाकर पीने से पेट की वायु दूर हो जाती है।

कब्ज का घरेलु इलाज पेट साफ़ करने के तरीके उपाय
पेट के कीड़े घरेलू इलाज लक्षण Pet Ke Keede
पेट साफ़ करने के उपाय Pet Saaf kaise kare
देसी घरेलु उपाय हिंदी में जानकारी
पेट के रोग वशीकरण के उपाय
चेहरे की सुंदरता नौकरी लगने के टोटके
बालों का इलाज लड़की को पटाने के तरीके
 यौन रोगों का इलाज सपनो का अर्थ स्वप्नफल
प्रेगनेंसी की टिप्स खाने के फायदे
मासिक धर्म(पीरियड्स) दिमाग तेज कैसे करे?
 मोटापा कम करे भगवान की पूजा
 दांत के उपाय स्मोकिंग की आदत से छुटकारा
 बाबा रामदेव योगा लाल किताब के टोटके

Leave a Reply