संतरा (orange) खाने के फायदे हिंदी में जानकारी

संतरा खाने के फायदे

संतरा खाने के फायदे
संतरा खाने के फायदे

संतरा ग्रीष्म त्रुतु का फल है | इसमें विटामिन ‘सी’ अधिक होता है | संतरे का रस तथा छिलका दोनों गी प्रयोग में लिए जाते है |
संतरे को इंग्लिश में ऑरेंज कहते है|

ऑरेंज बेनेफिट्स इन हिंदी में जानते है संतरे के गुण. संतरे को खाने का सही टाइम समय ऐसा कुछ नहीं है| संतरे की खेती किसान को अच्छा उत्पाद पैदा कर देती है|
प्रतिदिन संतरा खाने से संक्रमक रोगों से बचाव होता है तथा रोग प्रतिरोधक शक्ति बढती है | इसे खाली पेट खाने से ज्यादा लाभदायक होता है|

इसका रस पाचक होता है | इसमें विटामिन ‘ए ‘ और ‘बी ‘ साधारण मात्रा में तथा विटामिन ‘सी ‘ विशेष रूप में पाया जाता है |

यह प्यास का शमन करने वाला , तरावट लाने वाला तथा बढ़ी हुई उष्णता को संतुलित करने वाला फल है |

पीलिया , ज्वर , ह्रदय रोग तथा दंत रोगों में संतरा बहुत फायदेमंद है | यह आमाशय एव आंतों की सफाई तथा रक्त को शुद्ध करता है |

घरेलू उपाय :

दुर्बलता का इलाज है सन्त्रा :

छोटे शिशु को संतरे का रस प्रतिदिन पिलाने से शरीर हष्ट-पुष्ट होता है , शरीर का विकास अच्छा होता है , हडिडयां मजबूत होती है व् रक्त शुद्ध रहता है |

पीलिया रोग में आराम दिलाने वाला :

२५० ग्राम रस में शक्कर व् पानी डालकर शरबत बना ले | इसमें संतरे का छिलके को दबाकर उसकी २-४ बूंदे डाल दे तथा १ ग्राम मीठा सोडा डालकर पी जाए | प्रतिदिन सेवन करने से मेदे की सूजन व् पीलिया रोग दूर होता है |

अपचन से छुटकारा  :

संतरे की छले हुई फानको पर सौंठ व् काला नमक डालकर खाने से एक सप्ताह में ही अपच रोग दूर हो जाता है |

बच्चो के दांत :

संतरे का रस कुनकुना कर पिलाने से बच्चो के दांत आसानी से निकलते है |

गर्भवस्था में उल्टी :

२५ ग्राम रस में शहद मिलाकर या एक कप रस में मिश्री मिलाकर हर दो घंटे में पीने से उल्टी बंद हो जाती है |

मुहासे-झाई :

संतरे के छिलके पीसकर चेहरे पर लगाने से मुहासे , झाई तथा चेचक के दाग मिट जाते है |

अतिसार में राहत :

संतरे के छिलके सुखाकर बारीक पीस ले इस चूर्ण को चाटकर उपर से संतरे का रस पीने से गर्भवती को वमन और आतिसार में लाभ होता है |

जलोदर रोग का इलाज :

संतरे की शिकंजी बनाकर पीने से जलोदर रोग ठीक हो जाता है|

जी मिचलने का उपचार :

संतरे की फांक चूसने से जी मचलाना बंद होता है |

नेत्ररोग :

संतरे का रस और शहद समभाग मिलाकर २-२ बूंद सुबह और रात को सोते समय आँख में डालने से खुजली , धुंध और कुकरे का रोग दूर होता है |

खाँसी :

प्रतिदिन २-४ चम्मच संतरे का रस पिलाने से बच्चो की खाँसी दूर हो जाती है |

कब्ज :

रात को सोते समय संतरे और सुबह खाली पेट १-२ संतरे खाने से कब्ज की शिकायत दूर होती है |

एसिडिटी का इलाज :

एक गिलास संतरे के रस में भुना जीरा , सेंधा नमक मिलाकर पीने से अम्लपित्त या एसिडिटी में लाभ होता है | रस का सेवन सुबह-शाम खाली पेट करे |

हड्डी पसली का दर्द

संतरे की फांक छीलकर छाया में सुखा ले | पीसकर कपड़े से छानकर चूर्ण बना ले | पानी के साथ इसका सेवन करने से १-२ बार के प्रयोग से लाभ होता है|

सौंदर्यवर्द्धक :

संतरे के ताजा छिलके तथा चिरौंजी पीसकर लेप बना ले | सोते समय यह चेहरें पर लगाए , सूखने पर छुड़ा दे | सुबह चेहरा धोने से कुछ ही दिनों में मुहांसे ठीक होकर त्वचा का रंग निखरता है |

क्या आपको यह लेख पसंद आया ?
Download WordPress Themes Free
Download WordPress Themes Free
Download Best WordPress Themes Free Download
Download Premium WordPress Themes Free
online free course
download mobile firmware
Download WordPress Themes Free
free download udemy paid course

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *