Home » कैसे बनाये » शादी के लिए बायोडाटा कैसे बनाएं ? जानिए बायोडाटा कैसे लिखा जाता है ?

शादी के लिए बायोडाटा कैसे बनाएं ? जानिए बायोडाटा कैसे लिखा जाता है ?

शादी के लिए बायोडाटा

नमस्ते दोस्तों, आज इस.लेख के माध्यम से हम आपको बताएँगे की शादी के लिए बायोडाटा कैसे बनाएं ? बायोडाटा का मतलब है कि बायोलॉजिकल डाटा इसमें आपकी पूरी जानकारी होती है। और इसे बनाना बहुत आसान है। लेकिन जैसे बायोडाटा में भी तरह-तरह के प्रकार होते हैं। जैसे कि आप हमेशा प्रोफेशनल यानी की ऑफिस यूज़ के लिए जो डाटा बनाते हैं। वह अलग होता है और बायोडाटा जो शादी के लिए बनाते हैं, वह अलग होता है। इसमें आपके स्कूल के बारे में, आपके माता-पिता, आपके भाई बहन, आपके सगे-संबंधी और आपका एजुकेशन जॉब वगैर सब की जानकारी होती है।

हमारा बायोडाटा परफेक्ट होना बहुत जरूरी है। क्योंकि यह शादी के लिए दीया जाता है। और इससे शादी के संबंध बनते हैं। तो इसमें जो भी जानकारी आप लिखते हैं वह अच्छे से विस्तारित रूप में लिखना बहुत जरूरी है।

Loading...

आपके बारे मे आपकी शैक्षणिक योग्यता, परिवारजनों के बारे में और आप से संबंधित बारे मे वर्णन होना बहुत जरूरी है। क्योंकि जब भी शादी का प्रस्ताव होता है यानी कि अरेंज मैरिज उसने बायोडाटा दिया जाता है। और बायोडाटा का अच्छा होना बहुत जरूरी है यह एक अच्छा प्रभाव करता है।

शादी के लिए बायोडाटा / जीवन वृतांत कैसा होना चाहिए ?

शादी के लिए बायोडाटा
शादी के लिए बायोडाटा

||श्री गणेशाय नम:||

नाम:

जन्म तिथि :

जन्म का समय :

जन्म का स्थान :

वैवाहिक स्थिति: (अविवाहित तलाकशुदा और विवाह)

जाति :

लिंग :

गोत्र :

लंबाई :

रंग :

शैक्षणिक पात्रता :

व्यवसाय/ नौकरी :

जीवन शैली : (शाकाहारी/मांसाहारी)

शौक :

पसंद और नापसंद :

परिवारजनों के बारे में जानकारी :

  • पिता का नाम :
  • व्यवसाय :
  • माता का नाम :
  • व्यवसाय :(यदि वह कोई काम करती है)

भाई बहनों के बारे में :

  • बड़े भाई का नाम :
  • व्यवसाय :
  • बड़ी भाभी का नाम:
  • छोटे भाई का नाम :
  • व्यवसाय :
  • छोटी भाभी का नाम :
  • बहन का नाम इत्यादि. (अगर बहन शादीशुदा है तो वह लिख दीजिए)
  • घर का पता : (यहां पर आपका घर का पता अगर आप कहीं बाहर सिटी में रहते हो, तो वहां का और आपका गांव का पूरा पता पिन कोड के साथ लिखना हैं )
  • मोबाइल नंबर :

बायोडाटा बनाने का तरीका :

बायोडाटा बनाने का तरीका
बायोडाटा बनाने का तरीका
  • बायोडाटा की शुरुआत करने से पहले भगवान का नाम लिखें आमतौर पर श्री गणेशाय नमः ही लिखा होता है। क्योंकि गणेश जी की पूजा सब देवता से पहले की जाती है। इसके लिए गणेश जी का नाम अपने बायोडाटा पर शुरुआत में लिखिए इससे शुभ शकुन माना जाता है और सब शुभ होता है।
  • उसके पश्चात आप से संबंधित सभी जानकारी लिखनी पड़ती है। जिसका विवाह करना है उसका नाम, उसकी जन्म तिथि, कहां जन्म हुआ, जन्म स्थान, जन्म का समय, वैवाहिक स्थिति, आने की जिसकी शादी होनी है वह वैवाहिक तलाक़शुदा या विधवा है, जाति, गोत्र, जो हर एक अलग अलग होता है लंबाई और रंग काला गोरा या सावला जैसा भी लड़का या लड़की का कलर हो वह वर्णन कीजिए।
  • यहां पर जिसकी शादी यह बायोडाटा है उसका शैक्षणिक पात्रता यानी कि वह कहां तक पढ़ा है। और वह क्या-क्या पडढा है वहा वर्णन करें। उसका व्यवसाय या नौकरी के बारे में वर्णन करें। उसके पश्चात उसके जीवन शैली और शाकाहारी है या मांसाहारी है पसंद ना पसंद।
  • उसके पश्चात परिवारजनों के बारे में लिखिए जिसका बायोडाटा है उसकी माता का नाम, पिता का नाम उनका व्यवसाय अभी और करते हैं तो।
  • उसके पश्चात  सगे भाई बहन जैसे कि बड़े भाई का नाम, उनका व्यवसाय, उनके पत्नी का नाम, छोटे भाई का नाम, छोटे भाई का व्यवसाय, छोटे भाई के बीवी का नाम यदि बहन है तो बड़ी बहन का नाम, छोटी बहन का नाम और उनका वैवाहिक जीवन के बारे में वर्णन करें।
  • उसके पश्चात घर का पूरा पता पिन कोड के साथ और घर के बड़े बुजुर्गों का मोबाइल नंबर लिखें। इस तरह से शादी का बायोडाटा मनाया जाता है।

कम उम्र में शादी करने से क्या होता है ?

Loading...

1 thought on “शादी के लिए बायोडाटा कैसे बनाएं ? जानिए बायोडाटा कैसे लिखा जाता है ?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!