Home » हिंदी में टिप्स » सिगरेट पीने की आदत क्यों लगती है ? सिगरेट से छुटकारा पाने की दवा

सिगरेट पीने की आदत क्यों लगती है ? सिगरेट से छुटकारा पाने की दवा

सिगरेट पीने की लत से छुटकारा

दोस्तों सभी नौजवानों में पाई जाने वाली आदतें सिगरेट की लत है। देखने जाए तो 100% में 70% सिगरेट की लत से घिरे हुए हैं। आखिर क्यों लगती है, उन्हें सिगरेट पीने की आदत? क्या कारण है? इसके पीछे। की इन सभी सवालों के जवाब में आपको आज देने वाला हु। सिगरेट पीना अच्छा है या बुरा आपको आज बताने वाला हूं।

दोस्तों सिगरेट बनती है तंबाकू से जो तंबाकू को लोग उगाते हैं। अपने खेतों में। उसका एक अलग तंबाकू तम्बाकू की वनस्पति आती है। जिसे लोग अपने खेतों में लगा करके तंबाकू का उत्पादन करता है। देखा जाए तो तंबाकू यह किसी भी राह चलते कचरे से कम नहीं है, इसे आप कचरा भी समझोगे तो भी यह उचित रहेगा। और उसी कचरे को जलाकर उसका धुंआ हम हमारे शरीर के भीतर छोड़ते है। अब इसमें आप ही समज जाओगे की सिगरेट शरीर के लिए हानिकारक है? या लाभदायक है? यानी कचरे के धुंए को अपने शरीर मे डालना यह अच्छा होगा तो आपके लिए तो आप पी सकते है। अब आते है।

अहम मुद्दे पर सिगरेट पीने की आदत कैसे लगती है? सिगरेट पीने की लत (आदत) दोस्तो की की जाने वाली जबरदस्ती की वजह से लगती है। जैसे आप अगर ऐसे दोस्तो के साथ रहते हो जिन्हें सिगरेट पीने की आदत हो तो 99% चांस है। कि आपको भी उसकी आदत लग जायेगी। और दूसरा एक कारना है।

सिगरेट पीने की आदत कैसे लगती है ?

सिगरेट पीने की आदत
सिगरेट पीने की आदत

दोस्तो सिगरेट की आदत लगने का कारण ही पैसिव स्मोकिंग, पैसिव स्मोकिंग याने अगर आप ऐसे दोस्तो के साथ रहते हो जो लगातार सिगरेट पीते है। और आप उस दौरान उनके साथ रहते है। तो उनके पिये जाने वाली सिगरेट से निकलने वाला धुंआ आपके नाक या मुह से आपके शरीर के अंदर जाता है। जिसे हम पैसिव स्मोकिंग कहते है। यानी इंडिरेक्टली स्मोकिंग करते हो आप। और जिनको सिगरेट पीने की आदत है। उन्हें अधेसिव स्मोकिंग कहते है। अब पैसिव स्मोकिंग से होता यह है कि वो धुंआ लगातार आपके शरीर के अंदर जा जा कर आपके शरीर को उस धुंए की आदत हो जाते है। जिससे आपको डायरेक्ट सिगरेट पीने की आदत आसानी से हो जाती है।

अब कुछ ऐसे भी कारण है। जिनमे कुछ अहमियत नही है, लेकिन फिर भी उन कारणों की वजह से सिगरेट पीने की आदत हो जाते है।

  • दोस्तो द्वारा दी जाने वाली झूटी कसमे :

कुछ नही होता सिगरेट पीने से देख तू नही पियेगा तो अपनी दोस्ती खतम तुझे मेरी कसम है। क्या तू चाहेगा तेरा दोस्त मर जाए।

  • दोस्तो के द्वारा दी जाने वाली गलत जानकारी :

जैसे आपको अगर कुछ टेंशन हो घरके , पढ़ाई के, एग्जाम के, पैसो के, या गर्लफ़्रेंड के, तो सिगरेट पीने वाले दोस्त आपको कहेंगे कि चल एक कस मार ले याने सिगरेट पी ले सारे तनाव और टेंशन भाग जाएंगे। इस चीज़ से भी आपको आदत लगती है।

  • फ्रस्ट्रेशन, दोस्तो के चिढ़ाने के कारण लोगो की टिप्पणी के कारण :

फ्रस्ट्रेसशन कब आता है। जब आपको घर मे बाहर लगतार आपका विरोध हो कोई आपकी बात सुनने को तैयार नही हो तब आप अकेले पैड जाते हो उस वक्त आप सिगरेट, ड्रिंक्स के शिकार बन जाते हो।

  • प्यार में धोका खाने से भी लगती है, सिगरेट की लत :

प्यार में धोका खाया हुआ इंसान अपना शरीर किसी के भी हवाले करने के लिए तैयार हो जाता है। क्यों कि उसे जीने में कोई चाहत नही होती, क्योंकि उसकी चाहत ही उसे छोड़कर चली जाती है। तो इसका दुष्परिणाम वह खुद को इन कामो में धकेल देता है। जैसे सिगरेट पीने या ड्रिंक करना , नशा करना।

  • घरवालो को शक :

अगर आप को किसी भी चीज़ की आदत नही है। लेकिन फिर भी आपके घरवाले दुसरो की गलत जानकारी बताने पर आप पर शक करते हो। तो आप सिगरेट पीना ड्रिंक करना पसंद करते है।

क्यों कि? ऐसे लोगो में यह स्वभाव निर्माण हो जाता है। कि में सिगरेट नही पिता फिर भी घरवाले शक करते है। तो पीकर करे। तो इन कारणों के वजह से आप को सिगरेट पीने की आदत लगती है।

सिगरेट पीने से क्या नुकसान होता है ?

सिगरेट पीने से क्या नुकसान
सिगरेट पीने से क्या नुकसान

दोस्तो ऐसी ऐसी खतरनाक और भयंकर बीमारिया और दुष्परिणाम होता है। जिनके में आपको कुछ तस्वीर दिखा देता हूं। जिससे आप आगे की जानकारी पढोगे नही। पैरो के नीचे की जमीन खिसक जाएगी। 

स्मोकिंग करने से –

  1. आपके लंग्स (फुफ्फुस) सड़ जाते है।
  2. लंग्स कैंसर होता है।
  3. थ्रोट कैंसर होता है।
  4. आपका गला सड़ जाता है।
  5. मुह का कैंसर होता है ।
  6. आपका खाना कम हो सकता है।
  7. लीवर हो जाती है फेल। जिसके बाद आपका शरीर भोजन पाचन करने में असमर्थ हो जाता है।
  8. सिगरेट पीने से हो जाएगी आपकी मौत।
  9. आता है, हार्ट अटैक।
  10. सिगरेट की आदत से हो जाएगा लकवा।(पैरालिसिस)
  11. आपके शरीर का नियंत्रण छूट जाएगा।
  12. दिमाग की क्षमता हो जाएगी खोखली।
  13. छाती में होते है बलगम। (कफ)
  14. हाथ पाव थर थराने लगते है।
  15. सिगरेट पीने से होता है शीघ्रपतन

सिगरेट नहीं छोड़ी तो क्या होगा ?

सिगरेट नहीं छोड़ी तो क्या होगा
सिगरेट नहीं छोड़ी तो क्या होगा

अगर आप सिगरेट के लत से घिरे हुए है। तो आप अपनी गंधी तरह मौत पक्की समज ले। अगर आपको अपनी मौत अच्छी तरह चाइये होगी तो आज ही सिगरेट बन्द कर दे। दोस्तो मौत होना या ना होना यह आपके हाथ मे नही है। लेकिन मौत कैसे आये यह आपके हाथ मे है।

अगर आप अपनी आदते नही छोड़ते तो आप हॉस्पिटल में ही तड़प तड़प कर मरोगे जिससे न ही तो आपको शांति मिलेगी न ही, आपके आत्मा को शांति मिलेगी। लगातार सिगरेट पीने से आपका शरीर सिगरेट के धुएं की तरह खोकला हो जाएगा। उससे आपके शरीर के अंग पिघलने लगेंगे छाती की हड्डियां खोखली होती रहेगी। आप खतरनाक बीमारी को न्योता दे रहे हो।

अगर आप सिगरेट नही छोड़ते हो तो आप को लंग्स कैंसर हो जाएगा। जिससे आपके श्वसन क्रिया पर साइडइफेक्ट होकर आपको को सांस लेने में तकलीफ होकर आपको हार्ट (दिल) की बीमारी; या फुफ्फुस की बीमारी हो जाएगी। और आपके जिंदगी का हर एक पल ,हर एक दिन जीने के लिए तड़पेगा। इसीलिए आज ही सिगरेट पीना बन्द करे।

सिगरेट छोड़ने वाली दवाई की जानकारी :

सिगरेट छोड़ने वाली दवाई
सिगरेट छोड़सिगरेट छोड़ने वाली दवाईने वाली दवाई

दोस्तो अगर आपको सिगरेट पीने की आदत है। और आप उसे छोड़ना चाहते हो लेकिन खुद की क्षमता से असमर्थ हो रहे हो तो में आपको कुछ सिगरेट से छुटकारा दिलाने वाली दवाइयों के बारे में जानकारी देता हु। 

निकोटेक्स (nicotex) :

निकोटेक्स
निकोटेक्स

निकोटेक्स दवा के बारे में बहुत से लोग जानते ही है। जो कि सिगरेट छुड़ाने में मदद करती है। यह दवा आपको किसीभी मेडिकल स्टोर पर टेबलेट के रूप के मिल जाएगी। यह दवा च्विंगम जैसी होती है जिसे चबाकर फेकना होता है। जब भी आपका दिल सिगरेट पीने को चाहे तब आपने निकोटेक्स की एक टेबलेट चबाना है। इससे आपकी सिगरेट पीने की इच्छा पूरी होकर के आपको सिगरेट छोड़ने में मदद होगी। निकोटेक्स की दवा आपको डॉक्टर के सलाह के अनुसार लेनी है क्योंकि इसमें आपको शुरुआती दौर में छोटे-मोटे साइड इफेक्ट हो सकते हैं। जैसे कि उल्टी होना, चक्कर आना, सर दर्द होना, खांसी होना, या पेट में दर्द होना, पेट में दर्द होना किया और भोजन पाचन करने में प्रॉब्लम आना।

क्विकनिक (kwiknic) :

क्विकनिक
क्विकनिक

यह भी एक च्विंगम वाली दवा है जिससे आप अगर इसे चलाते हो तो इसके लेबर से आप खुद को फ्रेश महसूस करा ओके और आपको सिगरेट पीने की इच्छा नहीं होगी। यह भी निकोटेक्स दवा की तरह किसी भी आपको जब दिल चाहे सिगरेट पीने का उस वक्त 2 एमजी का एक टेबलेट जमाना है यह टेबलेट जब आते वक्त आपको उल्टी जैसा महसूस हो सकता है या थोड़ा सर दर्द कर सकता है क्योंकि यह दवा आपके शरीर में सिगरेट पीने की इच्छा मारने में मदद करता है। जिससे वह आपके कुछ हार्मोन से अंदर ही अंदर लड़ता है। उस वजह से आपको सामना करना पड़ता है। किसी भी आपको डॉक्टर की सलाह अनुसार लेना है।

2 बैको निल च्विंगम (2baconil chewing) :

2 बैको निल च्विंगम

दोस्तों इस च्विंगम का नाम ही टोबैको नील च्विंगम है। इसमे आपको किसी भी टोबैको से भरी चीज को इस्तेमाल ना करना पसंद करोगे। इस दवा को आप आपके सिगरेट पीने के हिसाब से लेना है। जैसे अगर आप दिन में 15 से 20 सिगरेट के ऊपर पीते हैं। तो आपको टोबैको नील के 5 से 6 टेबलेट खानी है। इसी से आपकी सिगरेट पीने की लत धीरे-धीरे करके छूट जाएगी अगर आप दिन में 20 सिगरेट पीते हो तो वह आपकी 10 सिगरेट पर आ जाएगा। फिर उसके बाद 5 और उसके बाद आप एक भी सिगरेट पीने नहीं जाओगे ।

अगर इस दवाई का रेगुलर इस्तेमाल करते हो तो यह दवाई आपको डॉक्टर की जानकारी के अनुसार लेना है। जिसे डॉक्टर आपके शरीर को मध्य नजर रखते हुए इसकी सलाह देता है। कि कैसे और कब ले और कितने दिनों तक लेना है।

रिडतोबाक लिक्विड (rid tobak liquid) :

दोस्तों रीड टो ब्लैक लिक्विड यह कंपलीटली आयुर्वेदिक प्रोडक्ट है। और यह 100% निकोटिन फ्री दवा है जो कि दुनिया की पहली टेस्टलेस याने इसको किसी भी प्रकार का स्वाद नहीं है। और ओडोरलेस दवा है।

इसके रोजाना 30ml इस्तेमाल से आप अपनी सिगरेट पीने की लत छुड़ा सकते हो। रोजाना आपको इस पर 30ml दवा को पीना है। जिससे आपको किसी प्रकार के साइड इफेक्ट नहीं होंगे क्योंकि यह दवा पूरी तरह हर्बल और नेचुरल तरीके से बनाई गई है। इसे लेते वक्त आपको एक बार डॉक्टर की सलाह लेनी जरूरी है।

निक्सित (nixit) :

निक्सित
निक्सित

दोस्तों निक्सित दवा यह ऊपर दिए गए दवाइयों से अलग है। क्योंकि यह दवा आपको चबाने की कोई जरूरत नहीं है। इसे आपको अपने मुंह में रख कर उसे पुरी तरह खतम होने तक आपको चूसते रहना है। और यह काफी असरदार दवा है ।आपके स्मोकिंग बंद करने के इस में दिन-ब-दिन आप के चांसेस बढ़ जाते हैं। आप स्मोकिंग बन्द कर देंगे। लेकिन इसे लेने के पहले आपको डॉक्टर की सलाह लेनी है।

यह दवा कब लेना है ?

यह लेने में काफी आसान है। ना इसको ज्यादा देर तक चबाए रखना है। ना ही किसी चीज को सेवन करके सीधा पेट के अंदर डालना है। आपको फ्लेवर का मजा लेते हुए इसे इस्तेमाल करना है। जिससे आपको निकोटीन लेने की की इच्छा नहीं होगी और आप सिगरेट पीना छोड़ देंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!