सुहागरात में पति को दूध
सुहागरात में पति को दूध

Last Updated on

नमस्ते दोस्तों, आज इस लेख के माध्यम से हम आपको सुहागरात में पति को दूध क्यों पिलाते हैं ? (Suhagrat me pati ko dudh pilana) इसकी जानकारी देने वाले हैं। आप लोगों ने कई बार ऐसा सुना होगा कि जब भी शादी होती है और सुहागरात होती है, तब patni pati ko dudh pilane का रिवाज है, लेकिन suhagrat me pati ko doodh क्यों पिलाते हैं ? इसकी जानकारी कई सारे लोगों को नहीं होती है, तो आज हम इस लेख के माध्यम से आपको इसकी जानकारी देने वाले हैं ।

शादी मतलब एक अनोखा बंधन होता है। इसमें दो लोगों का मिलन होता है। सही मायने में 2 लोग एक दूसरे के साथ शादी के बाद एकत्रित आते हैं। हमारे समाज में शारीरिक संबंध बनाना सही मायने में शादी के बाद सही माना जाता है, क्योंकि शादी होने के बाद लड़का लड़की एक दूसरे से शारीरिक संबंध बना सकते हैं ऐसी हमारे यहा प्रथा है और उसी प्रकार के चलते लोगों के दिमाग में शादी से पहले कई सारे सवाल होते हैं, जैसे कि उन्हें इसकी छूट होती है और सुहागरात को लेकर उनके मन में कई तरह के सवालात होते हैं।

शादी के बाद लड़का और लड़की दोनों की जिंदगी बदल जाती है। उनके जीवन में कई सारे बदलाव आते हैं। सुहागरात में पति और पत्नी एक दूसरे से शारीरिक संबंध बनाते हैं और पुरानी कथाओं के अनुसार सुहागरात के दिन पति पत्नी को दूध पिलाती है। जो दूध अलग रहता है उसने ऐसे ही कई सारे पदार्थ डाले जाते हैं जिसके चलते वह दूध एक खास ड्रिंक बन जाता है। उस दूध को अच्छे से उबाला जाता है और उसने मिलाए हुए चीजों से सेक्स पावर को बढ़ाता है और सेक्स करने के लिए उत्तेजित करता है। इसके लिए सुहागरात के दिन पत्नी पति को दूध देती है, क्योंकि सुहागरात के दिन लड़की और लड़की के मन में आत्मविश्वास कम होता है और वही आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए और एक दूसरे को अच्छे से जानने के लिए यह प्रथा बनाई गई है। यह दूध पी के उनको सेक्स करने की इच्छा उत्पन्न होती है और वह शारीरिक संबंध बनाते समय आनंद उठा पाते हैं।

शादी की पहली रात : Marriage First Night in Hindi

शादी एक अनोखा बंधन है, जिसमें 2 लोग सात जन्मों के लिए एक दूसरे के प्रति एक निष्ठ हो जाते हैं और एक बंधन में बंध जाते हैं। पहले के जमाने में लड़का और लड़की मिले नहीं होते थे बिना देखे ही उनकी शादी हो जाती थी, लेकिन आजकल तो लड़का और लड़की सामने सामने मिलते हैं और उसके बाद शादी होती है,.लेकिन फिर भी मन में एक अलग प्रकार की हिचकिचाहट होती है और आत्मविश्वास कम होता है। इसलिए शादी की पहली रात पत्नी पति को दूध पीलाती है। उस दूध को पीकर पति में सेक्स करने की इच्छा जागृत हो जाती है और उनका जो आत्मविश्वास होता है वह बढ़ जाता है और उनको किसी तरह की हिचकिचाहट महसूस नहीं होती है और वह ताजा और रिलैक्स महसूस करते हैं। सुहागरात के दिन लड़के और लड़की दोनों को एनर्जी की बहुत जरूरत होती है। इस दूध को पीकर लड़के में एनर्जी आ जाती है और वह अपने आप को फ्रेश महसूस करता है।

शादी की पहली रात लड़का और लड़की एक दूसरे से शारीरिक संबंध बनाते हैं। इसमें उनको आत्मा विश्वास की बहुत जरूरत होती है। शादी की पहली रात लड़का और लड़की एक दूसरे को जानने की कोशिश करते हैं और यह रात उनको जिंदगी भर याद रहती है।

शादी की पहली रात में पत्नी पति को पीने के लिए गिलास में दूध क्यों देती है ? Shadi ki pehli raat pati patni ka doodh :

honeymoon ka dudh
honeymoon ka dudh

हमारे यहा पर सदियों से यह प्रथा चली आ रही है कि शादी की पहली रात पत्नी अपने पति को पीने के लिए गिलास में दूध देती है। कई लोगों के दिमाग में यह सवाल उठता है कि यह प्रथा क्यों पड़ी है या फिर यह प्रथा क्यों चलाई जा रही है? पहले जमाने में लड़का और लड़की एक दूसरे से मिले नहीं होते थे और सुहागरात के दिन ही एक दूसरे से मिलते थे और इसकी वजह से उनको एक दूसरे को जानने का टाइम ही नहीं मिल पाता था और दोनों में हिचकिचाहट होती थी।

आजकल के जमाने में ऐसा नहीं होता है। दोनों मिलते हैं एक दूसरे को जानते हैं, लेकिन फिर भी शादी के बाद वह सुहागरात के दिन जब शारीरिक संबंध बनाने वाले होते हैं, तब दोनों के मन में कई सारे सवाल होते हैं और आत्मविश्वास की कमी होती है। यह जो दूध होता है इसमें ऐसे पदार्थ मिलाए जाते हैं, जो पुरुष को ताकत देता है और उनकी सेक्स करने की शक्ति को बढ़ाता है। उसी के साथ पीने के बाद वह सेक्स करने के लिए उत्तेजित हो जाते हैं।

सुहागरात वाले दूध में क्या क्या होता है ? Suhagrat ka Dudh :

सुहागरात वाला दूध में ऐसा क्या मिलाया जाता है जिससे कि पुरुष में योन संबंध बनाने की शक्ति बढ़ जाती है, तो चलिए जानते हैं कि सुहागरात वाला दूध कैसे बनाते हैं और उसमें क्या मिलाया जाता है? सुहागरात वाले दूध मे केसर, हल्दी, सोप, बादाम, पिस्ता, काली मिर्च का पाउडर मिलाया जाता है और उस दूध को अच्छे से उबाला जाता है, जैसे कि यदि 2 ग्लास दूध है, तो उसको एक गिलास होने तक उसको बोला जाता है और फिर वह दूध पत्नी अपने पति को देती है।

सुहागरात वाले दिन इससे शरीर की थकावट दूर होती है और इसमें केशर की वजह से पति में योन शक्ति बढ़ती है और उनका शरीर कमजोरी और थकावट महसूस नहीं करता है, क्योंकि शादी के दिनों में कई सारी रीति-रिवाजों के चलते दूल्हा और दुल्हन थक जाते हैं। सुहागरात वाला दिन दोनों के लिए बहुत खास होता है इसके लिए उनके शरीर में एनर्जी होना बहुत जरूरी है। इसके लिए यह दूध पीने से उनकी सारी थकावट दूर हो जाती है।

सुहागरात वाले दिन दूध पीने से क्या होता है ? Honeymoon ka doodh pine se :

सुहागरात वाले दिन दूध पीने से पुरुष के शरीर में ताकत आती है, क्योंकि हम सभी जानते हैं कि शादी से पहले बहुत सारे रसमे होती है, जो तीन-चार दिन तक लगातार चलती रहती है। इन्हीं सब रस्मों की वजह से इंसान थक जाता है और शरीर थकावट महसूस करता है और शरीर में थोड़ी कमजोरी आ जाती है। सुहागरात वाले दूध पीने से शरीर में ताकत आती है और थकावट दूर होती है। यह सबसे मुख्य कारण है सुहागरात वाले दिन पत्नी अपने पति को दूध देती है, पीने के लिए।

थकावट दूर होने के बाद दोनों शारीरिक संबंध बिना रुकावट बना सकते हैं और दूसरा कारण यह है कि लड़का और लड़की पहली बार सेक्स करते हैं, तो उनको किसी भी तरह का इन्फेक्शन ना हो क्योंकि उस दूध में ऐसे पदार्थ मिलाए जाते हैं, जो कि किसी भी तरह का इन्फेक्शन ना होने दें।

उसी के साथ साथ यह दूध पीने से पुरुष में जोश पर ताकत आ जाती है और उनकी यौन शक्ति बढ़ जाती है और उनकी यौन संबंध बनाने की इच्छा तेजी से बढ़ती है।

सुहागरात में दूध पीने से सेक्स से उसका क्या संबंध होता है ? Suhagrat me dudh pine se Sex :

अपने कई सारे फिल्म और सीरियल्स में यह देखा होगा कि सुहागरात वाले दिन पति-पत्नी को दूध पिलाती है और यह प्रथा सदियों से चली आ रही है। यह सिर्फ दूध नहीं होता है इसमें केसर सौप, बदाम और अन्य कई सारी चीजें मिलाई गई होती है, जिससे कि इसके सेवन से शरीर की कमजोरी दूर हो और शरीर में ताकत आए और शरीर उत्तेजित हो जाए यौन संबंध बनाने के लिए। यह दूध पीने से शरीर में ताकत आती है, क्योंकि इसमें मिलाई गई बादाम, केसर और अन्य पदार्थों में भरपूर मात्रा में प्रोटीन होते हैं, जो हमारे शरीर को तुरंत एनर्जी देते हैं और हमारे शरीर की थकावट दूर करते हैं। जब पत्नी अपने पति को यह दूध देती है, तो वह आधा दूध पति पिता है बचा हुआ दूध पत्नी पीती है, तो दोनों में सामान्य रूप में यौन संबंध बनाने की इच्छा जागृत हो जाती है। शारीरिक संबंध बनाने में किसी भी तरह की रुकावट नहीं आती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here