उच्च रक्तचाप के लक्षण घरेलू उपचार हिंदी में

उच्च रक्तचाप High BP (high blood pressure) ka gharelu upchar ayurvedik upay hindi me jankari.

उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर)

उच्च रक्तचाप का घरेलु उपाय
उच्च रक्तचाप का घरेलु उपाय

वर्तामान दौर में ब्लड प्रेशर कि समस्या तेजी से बड रही है | आज की भागमभाग की जीवन शैल्ली ने इस बिमारी को भी बढ़ावा दिया है |

उच्च रक्तचाप एक ऐसी बिमारी है ,जो खानपान में बरती लापरवाही और अनिमिताओ के कारण आज हर तीसरे व्यक्ति को अपने शिंकजे में जकड़े हुए है |

यदि समय रहते सावधानी न बरती जाए तो इसका शरीर के विभिन्न अंगो पर बुरा असर तो पड़ता ही है .
किसी भी व्यक्ति का सामान्य रक्तचाप निम्म्तम ८० व् उच्चतम १२० होता है |

इसके बाद की स्थिति में निचे का ८० से ९० हो जाता है और ऊपर का १२० से बढ़कर १४० तक पहुच जाता है |

इस स्थिति को उच्च रक्तचाप की प्री –हाइपर टेशन कहा जाता है |

इसके बाद की स्थिति , जिनमे निम्मतम रक्तचाप ९० से १०० और उच्चतम रक्तचाप १४० से १६० हो जाता है ,इस बिमारी की यह पहली अवस्था है |

रक्तचाप इससे भी अधिक हो जाए तो यह दूसरी अवस्था होती है | रक्तचाप इससे भी अधिक हो जाए तो यह दूसरी अवस्था होती है |

प्री –हाइपर टेशन में ख़ास शारीरिक लक्षण दिखाई नही देते | यह बिमारी ८० -९० प्रतिशत लोगो में आनुवंशिक होती है |

High Blood Pressure Kaise Control Kare in Hindi.

उच्च रक्तचाप के लक्षण :

  • सिरदर्द का होना.
  • कमजोरी महसूस होना.
  • चक्कर आने लगता है.
  • चिडचिडापन होना.
  • नकसीर फूटना

आदि इसके मुख्य लक्षण है |

यह भी देखने में आया है की जिन लोगो की थायरायड ग्रंधी में खराबी हो जाती है , वे भी उच्च रक्तचाप के शिंकजे में आ सकते है |

टाइफाइड का आयुर्वेदिक उपचार लक्षण.

उच्च रक्तचाप का घरेलु उपचार :

रक्तचाप के मरीज अगर अपनी दिनचर्या में थोडा बदलाव करे ,कुछ सावधानिय बरते तो यह नियंत्रण में रहकर जीवन में कठिनाइय पैदा नही करेगा :

  • खान –पान अनिमियत न होने दे |
  • चिकनाई वसावाली चीजे न खाए |
  • गरिष्ठ तथा बासी चीजो के सेवन से बचे |
  • व्यायम करने से बेशक आपका वजन कम हो रहा हो ,पर नियमित व्यायाम से रक्तचाप में कमी की जा सकती है |
  • सुबह जल्दी उठकर भ्रमण पर अवश्य जाए |
  • हलकी दौड़ लगाए ,साइकल चलाए ,अन्य व्यायाम (एक्सरसाइज) जो आपकी शारीरिक दृष्टी से उपयुक्त हो ,अवश्य करे |
  • शारीरिक भोजन करे ,अपने भोजन में मौसम के अनुसार फलो का सेवन करे |
  • खाना खाने  में रेशायुक्त पदार्थ एव हरी सब्जिया अधिक मात्र में ले |
  • नमक के सेवन में नियंत्रण करे ,यह बेहद जरुरी है |
  • अपने वजन पर नियंत्रण रखिए ,अधिक वजन रक्तचाप को बढाता है |
  • मोटापा बिलकुल भी न बढने दे |
  • धुम्रपान न करे ,यह ह्रदय पर बहुत बुरा असर डालता है | यह जीवन के लिए प्राणघातक है |

टीबी का घरेलू इलाज हिंदी में जानकारी.

निमोनिया का घरेलू उपचार आयुर्वेदिक इलाज हिंदी में.

क्या आपको यह लेख पसंद आया ?
Download Premium WordPress Themes Free
Free Download WordPress Themes
Download Premium WordPress Themes Free
Premium WordPress Themes Download
udemy free download
download huawei firmware
Free Download WordPress Themes
udemy paid course free download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *