कैसे करे

Kaise Kare in Hindi

HIV Aids की जानकारी एचआईवी एड्स के लक्षण कारण और उपाय हिंदी में

(Last Updated On: September 4, 2018)

HIV Aids in hindi की जानकारी हिंदी में एचआईवी एड्स कैसे होता है एड्स कसा होतो माहिती मराठी मध्ये hiv aids in hindi जानने के लिए आपको हमारा लेख पूरा ध्यान से पढना है .

एचआईवी एड्स की जानकारी हिंदी में :

एचआईवी एड्स की जानकारी

एचआईवी एड्स की जानकारी

  • एचआईवी एड्स बहुत ही जानलेवा बीमारी है | यह बीमारी जिस व्यक्ति को होती है उस व्यक्ति का जिंदा रहना मुश्किल होता है | इसीलिए तो कहते हैं कि एचआईवी एड्स सबसे भयंकर रोग है, विश्व एड्स दिवस १ दिसंबर को मनाया जाता है | दुनिया में पहली बार एचआईवी एड्स दिवस १ दिसंबर १९८८ में मनाया गया था |
  • एड्स इस शब्द का इंग्लिश में फुल फॉर्म होता है, एक्वायर्ड इम्यूनो डेफिशियेंसी सिंड्रोम | अक्वायर्ड का मतलब होता है जो आपने प्राप्त किया है, इम्यूनो का मतलब होता है आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता, डेफिशियेंसी का मतलब होता है कमी होना और सिंड्रोम का मतलब होता है संलक्षण होना |
  • देखा गया तो दुनियाभर में अब तक ७ करोड लोग एचआईवी एड्स से पीड़ित हो चुके हैं, जिनमें से लगभग ३.५ करोड़ लोगों की मौत एड्स की वजह से हो चुकी है | वर्तमान में देखा गया तो दुनिया भर में ४ करोड लोग एड्स से बाधित है | यह सारे लोग इस रोग पर उपचार ले रहे हैं, इन सारे लोगों में से २ करोड लोग ऐसे हैं जिनकी उम्र १५ साल से भी कम हैं
  • सबसे पहले एचआवि विषाणु अफ्रीका में मिला था | करीब करीब १० सालों के अंदर यह बीमारी पूरी दुनिया में फैल गई, संशोधन कर्ताओं ने बताया है कि एड्स के ६५% मरीज अफ्रीका में मिलते हैं जिसके कारण उस क्षेत्र में एचआईवी एड्स की मात्रा बहुत ज्यादा है |
  • जो व्यक्ति एचआईवी एड्स से पीड़ित हैं उस व्यक्ति के साथ कभी भी शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए | भारत में ३% ऐसी कॉल गर्ल्स है जो एड्स से बाधित है | कई बार दूषित खून होने के कारण भी एचआईवी एड्स होता है |
  • समलैंगिक संबंध बनाने कारण भी एचआईवी एड्स हो सकता है | इसलिए हर किसी ने इन छोटी-छोटी बातों को ध्यान में लेकर खुद की निगाह रखना चाहिए | कई बार डॉक्टर से दूषित सुई का इस्तेमाल करने से भी हमें यह रोग हो सकता है, इसलिए इंजेक्शन लेने से पहले डॉक्टर को सुई बदलने के लिए कहे |
  • हर किसी ने एड्स के लक्षण जान लेना चाहिए, जिस व्यक्ति को एड्स होता है उस व्यक्ति का वजन अचानक से कम हो जाता है, खांसी आती है,बार-बार बुखार आता है, शरीर में सूजन आती है, शरीर पर निशान बनने लगते हैं, रात को नींद में पसीना आता है, चमड़ी पर गुलाबी रंग के धब्बे आते हैं, ऐसे बहुत सारे एचआईवी एड्स के लक्षण है |

यह थी एचआईवी एड्स की जानकारी हिंदी में |

loading...

HIV Aids in hindi

hiv aids in hindi information

hiv aids in hindi information

HIV का  Full Form क्या है :

एचआईवी (HIV) का मतलब है Human Immunodeficiency Virus. ये वायरस के कारन आपको एड्स होता है . एच आइ वी (HIV)का असली अर्थ है
एच (Human)से  = मानव
आइ से ईमुनो डेफीसियंसी (Immuno deficiency)= जो आपकी शरीर की प्रतिरक्षा को कम करे
वी से वाइरस (Virus)= जीवाणु है .

Aids का fullform है  AIDS (Acquired Immuno Deficiency Syndrome) इस सिंड्रोम के कारन आपके बॉडी की सभी शक्तिया कम हो जाती है और आपकी मौत हो सकती है|  पुरे दुनिया भर में इस समय लगभग चार करोड़ 20 लाख लोग एच.आई.वी एड्स का शिकार हुए  हैं |

और तो और दुनिया भर में लगभग 14,000 लोग हर दिन  इसका शिकार होने के साथ ही यह डर बन गया है की पुरे आशिया में कब्ज़ा करने में देर नहीं लगेगी, अगर इसका कोई अच्छा इलाज नहीं हुआ तो और आपने अपने सेहत के बारेमे विचारपूर्वक नहीं सोचा तो |

एड्स से बचने का सबसे असं तरीका यही है की इसको होने से बचे और इसकी सावधानिया बरते | एड्स खुद एक बीमारी नहीं है बस इस के कारण से आपके शरीर की प्राकृतिक प्रतिरोधक शक्ति कम होती है|

एचआईवी एड्स के लक्षण क्या है ?

ज्यादातर HIV संक्रमण  मैं लोगों को कम से कम समय के लिए फ्लू जैसे लक्षण को दिखाते हैं और यह एचआईवी एड्स का संक्रमण होने के बाद दो से 6 हफ्ते के बाद दिखाई देते हैं |

निष्कर्ष में ऐसा पाया गया है कि एचआईवी संक्रमित 80% लोग फ्लू जैसी बीमारियों से परेशान होते हैं और अगर वह इसकी तरफ ध्यान ना दे तो उन्हें पता नहीं चलता है कि उन्हें ऐड हुआ है या नहीं, इसलिए एचआईवी एड्स के लक्षण अगर आपको दिखाई दे रहे हैं तो आपको तुरंत एचआईवी टेस्ट करनी चाहिए |

तो क्या है एचआईवी एड्स होने के लक्षण :

  1. एड्स होने के बाद मरीज को बुखार ज्यादा होता है और यह जाता नहीं है |
  2. गले में खराश होना भी एचआईवी का लक्षण है |
  3. शरीर पर चकत्ते आना और बार-बार थकान महसूस होना एचआईवी एड्स का प्रमुख लक्षण है |
  4. जोड़ों में दर्द होना मांसपेशियों में दर्द होना और शरीर की ग्रंथियों में सूजन आना एचआईवी एड्स का लक्षण है |
  5. एचआईवी एड्स होने के बाद उस व्यक्ति का वजन अचानक से कम होने लगता है और रात को सोते समय इस व्यक्ति को पसीना बहुत आता है |
  6. त्वचा से संबंधित समस्याएं उस व्यक्ति को ज्यादा होती है और वह ठीक नहीं होती है |
  7. एचआईवी एड्स ज्यादा संक्रमित होने के कारण उस व्यक्ति को बहू कालीन दस्त रहता है |
  8. उस व्यक्ति को बार बार संक्रमण होना और गंभीर जानलेवा बीमारियां होना यह आम बात होती है |

एचआईवी एड्स होने के प्रमुख कारण क्या है ?

एचआईवी एड्स होने का प्रमुख कारण आज हम जानेंगे, क्योंकि ज्यादातर लोगों को पता नहीं होता है कि एचआईवी एड्स कैसे फैलता है और एड्स कैसे हो सकता है ?

एचआईवी से संक्रमित होने के लिए एचआईवी एड्स व्यक्ति का वीर्य या योनि का पानी हमारे शरीर में प्रवेश करना होता है और उस व्यक्ति का खून भी हमारे लिए बहुत हानिकारक हो सकता है |

यौन संबंध के द्वारा इसका परिणाम :

अगर आप किसी एड्स पीड़ित व्यक्ति के साथ यौन संबंध बना रहे हो तो अगर आप उसके पति के साथ ही योनी सेक्स, गुदामैथुन या मुखमैथुन जैसे यौन संबंध बना रहे हो, तो आप को एड्स हो सकता है यह वायरस सेक्स के दौरान मुंह में अगर छाले हो रहे हैं और उस व्यक्ति का लिंग अपने मुंह में लिया है या फिर उस औरत योनि को चाट रहे हो तो आप को एड्स की बीमारी हो सकती है |

गर्भावस्था के द्वारा एड्स होना:

अगर किसी औरत को एचआईवी एड्स है और वह औरत बच्चा पैदा करने वाले हैं, तो उस बच्चे को एचआईवी एड्स होने का खतरा बहुत होता है | इसीलिए गर्भावस्था के दौरान डॉक्टर की सलाह लेनी बहुत जरूरी होती है और डॉक्टर HIV टेस्ट करके आपको उचित सलाह दे सकता है |

खून के कारण एचआईवी एड्स हो सकता है:

अगर आपने किसी एचआईवी पीड़ित व्यक्ति का खून गलती से अपने शरीर में ले लिया है, तो आपको एचआईवी एड्स हो सकता है |  

एचआईवी पीड़ित व्यक्ति की सुई का इस्तेमाल करने से:

यदि आप किसी हॉस्पिटल में जाते हो और अगर हॉस्पिटल में किसी एचआईवी पीड़ित की सुई का इस्तेमाल आपके ऊपर किया जाए, तो आपको एचआईवी एड्स हो सकता है |

एचआईवी एड्स से कैसे बचा जा सकता है ?

एचआईवी एड्स से कैसे बचा जा सकता है

एचआईवी एड्स से कैसे बचा जा सकता है

बाजार में से कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है जिससे कि एचआईवी एड्स से बचा जा सकता है, लेकिन अगर आप HIV से बचना चाहते हो तो आपको कुछ चीजों का ख्याल रखना चाहिए,

जैसे कि –

  1. एचआईवी एड्स का परीक्षण करना चाहिए |
  2. सेक्स करते समय हमेशा कंडोम का इस्तेमाल करना चाहिए, बाजार में महिला कंडोम और पुरुष कंडोम दोनों उपलब्ध है आप किसी भी कंडोम का इस्तेमाल कर सकते हो |
  3. सेक्स करते समय हो सके तो मुख मैथुन करना नहीं चाहिए क्योंकि मुखमैथुन करते समय अगर आपकी मुंह में छाला हुआ है तो आपको एचआईवी एड्स जल्दी हो जाएगा इसीलिए आपको पहले उसे संभाल कर रहना चाहिए |
  4. अस्पताल जाने के बाद इस बात का ख्याल रखे की डॉक्टर या नर्स जो भी आप को इंजेक्शन दे रही है, उस समय उसे नई सुई का इस्तेमाल करने को कहना चाहिए और उनके पास उपलब्ध नहीं है तो उस सुई को गर्म पानी में उबालने को कहना चाहिए |
  5. हो सके तो बाहर से खून की कमी महसूस होने ना दें और अगर आप खून अपने शरीर में लगवाना चाहते हो तो अच्छे अस्पताल से ही खून को लेना चाहिए |

एचआईवी एड्स में क्या परहेज करें ?

एचआईवी एड्स में क्या परहेज करें

एचआईवी एड्स में क्या परहेज करें

अगर आप को एड्स हुआ है तो आपको कुछ चीजों को परहेज करना चाहिए जैसे कि –

  1. कभी भी बिना कंडोम के साथ सेक्स नहीं बनाना चाहिए |
  2. हमेशा स्वस्थ भोजन ही करें बाहर का जंक फूड खाना बंद कर दे |
  3. कभी भी हाथों से कुछ भी काम करने से पहले अपने हाथों को अच्छे से साफ कर ले |
  4. धूम्रपान कभी नहीं करना चाहिए |
  5. अवैध नशीली दवाइयों का सेवन बिल्कुल बंद कर दें |

एचआईवी एड्स में क्या खाना खाना चाहिए ?

एचआईवी एड्स का निदान होने के बाद आप चीजों का सेवन अधिक करना चाहिए,

जैसे कि-

  1. फल और सब्जियों का सेवन अच्छी मात्रा में करें इनमें फाइबर और विटामिन से भरपूर होते हैं, इसीलिए इनका सेवन करना आपके लिए लाभदायक हो सकता है |
  2. मछली अंडे या मीट जैसी चीजों का सेवन करने से आपको प्रोटीन अच्छे से मिलेगा और यह आपके लिए फायदेमंद है|
  3. दूध दही और पनीर जैसे उत्पाद का सेवन ज्यादा करना चाहिए |
  4. ब्राउन राइस, आलू और रोटी जैसी कार्बोहाइड्रेट्स युक्त चीजों का सेवन करना चाहिए |

दोस्तों यह थे एचआईवी एड्स के बारे में क्या ख्याल रखना चाहिए जिससे कि आपको HIV से बचा जा सकता है |

HIV Aids hone ke karan क्या है ?

एच.आई.वी (HIV) का का फैलाव रक्त के अंतरण से , वीर्य, योनिक-द्रव, स्खलन-पूर्व द्रव या मां के दूध से ही होता है. ये कोई हवा में नहीं होता या की पानी में नहीं होता . hiv aids होने के कारण है  असुरक्षित यौनसंबंध सेक्स, संक्रमित हुई सुई,मां का दूध और किसी संक्रमित मां से उसके बच्चे को जन्म के समय होने वाला ऊर्ध्व संचरण से ही होता हैं.

HIV Aids कैसे होता है ?

HIV Aids कैसे होता है

HIV Aids कैसे होता है

आप कभी hiv एड्स से  संक्रमित नही होते हैं. और हो सकता है कि आपको “एच आइ वी” का संक्रमण हो भी सकता है , और हो सकता है कि आपको बाद में एड्स हो, आप किसी भी “एचआइवी” संक्रमित व्यक्ति यानिकी जो व्यक्ति   “hiv positive” भी न हो या बीमार भी न हो, उससे आपको एच आइ वी लग सकता है इसके लिए आप hiv positive है या नहीं इसकी जाँच

एड्स जब CD4+ T  कोशिका की  मात्रा जब २०० कोशिकाएं प्रति μL से कम होजाती हैं . तो तब जबकि एचआईवी संक्रमण के कारण कोई रोग व्यक्ति के शरीर में उत्पन्न होता है. किसी प्रमुख उपचार के अभाव से और अपनी केयर न करने से hiv १० साल में hiv एड्स पैदा होता है.

एड्स होने के कारण कई सारी चीजों पर प्रभाव पड़ता है hiv एड्स के लक्षण क्या होते है आपके शरीर के ऊपर जैसे की

  • आपको बार बार बुखार होता है.
  • सर में दर्द होता रहता है.
  • हमेशा किसी काम को करे बिना ही थकान महसूस होती है.
  • लसीकाओ में यानि आपकी शरीर की नसों में सुजन सी आने लगती है.
  • खाना खाने में मन नहीं लगता है.
  • मतली का आना

एड्स का फैलाव कैसे होता है ?

एड्स का फैलाव

एड्स का फैलाव

  • एड्स का फैलाव असुरक्षित यौन सम्बन्ध के कारण होता है.
  • एड्स के बारेमे जानकारी न होंने से ही एड्स का फैलाव होता है.
  • सेक्स करते वक़्त गर्भनिरोधक जैसे की कंडोम का इस्तमाल न करने से .
  • एड्स हुए व्यक्ती का बॉडी की चोट का खून अपने चोट के खून से मिलने से.
  • एड्स का प्रसार सम्भोग द्वारा ही ज्यादा फैलता है जैसे गुदा मैथुन ,योनि मैथुन और मुख मैथुन से.

पढ़े हस्तमैथून करने के फायदे  हिंदी में .

एड्स से कैसे बचें हिंदी में :

अगर आपको एड्स की बीमारी से बचना है तो आपको कुछ नियमो को अच्छी तरह फॉलो करने है जैसे की :

  • सेक्स करने से पहले लिंग पर कंडोम लगाये या महिला की योनी में female कॉन्डोम लगाये.
  • पति और पत्नी एक दुसरे से वफादार रहे एक से अधिक पुरुष से या महिला से शारीरिक यौन सम्बन्ध ना रखे .
  • खून की कमी के वक़्त किसी का रक्त लेने से पहले खून की जाँच करले खून की टेस्ट करलेना ही सबसे अच्छा तरीका है .
  • आपको अपनी hiv टेस्ट hiv परिक्षण  हॉस्पिटल में जाकर कर लेनी है शादी से पहले .
  • अगर आप hiv positive है तो रक्त दान कभी भी नहीं करना है .

 ध्यान रखिये :

एड्स इन कारणों से नहीं फैलता :

  • एच.आई.वी संक्रमित व्यक्ति के साथ बैठने से नहीं फैलता .
  • एच.आई.वी संक्रमित व्यक्ति के साथ खाना खाने से नहीं फैलता .
  • एच.आई.वी संक्रमित व्यक्ति से बात करने से नहीं फैलता .
  • एच.आई.वी संक्रमित व्यक्ति ने खाना बनाने से नहीं फैलता है .

इसीलिए कभी भी एच.आई.वी संक्रमित लोगो को नजर अंदाज न करे उनको समाज में एक जैसा ही आदर दे .

लडकियों का हस्तमैथून करने के तरीके पढ़े हिंदी में .

 

loading...

The Author

कैसे करे

कैसे करे

दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कैसे करे © 2018