टैम्पोन का इस्तेमाल करने के फायदे और नुकसान

, , Leave a comment

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको पीरियड्स के दौरान टैम्पोन का इस्तेमाल कैसे करते हैं ? और इस टैम्पोन को पहनने के फायदे और नुकसान क्या है ? इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं | वैसे देखा जाए तो कई सारी महिलाओं को टैम्पोन क्या है और टैम्पोन कहा इस्तेमाल किया जाता है ? यह तक पता नहीं होता है, क्योंकि ज्यादातर महिलाएं अपने पीरियड के दौरान सैनिटरी नैपकिन या पैड का इस्तेमाल करती है, क्योंकि वह आसानी से मार्किट में भी उपलब्ध हो जाता है |

पुराने जमाने मैं सेनेटरी पैड्स की जगह पर कपड़े का इस्तेमाल किया जा सकता और इसी के कारण उन्हें इंफेक्शन का सामना भी करना पड़ता था |

आजकल के आधुनिक जीवन में अपनी तबीयत का ख्याल रखने के लिए बाजार में पीरियड के दौरान इस्तेमाल करने के लिए कई सारी चीजें उपलब्ध है | तो हम जानते हैं वैसे यह टैम्पोन क्या होता है ?

टैम्पोन क्या होता है ? What is Tampon in Hindi ?

टैम्पोन
टैम्पोन

जैसे कि हमने आपको पहले ही बताया मासिक धर्म के समय कई सारी महिलाएं सेनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल करती है, जो अधिक समय तक पीरियड में बाहर घूमने के लिए मदद करती है | पीरियड्स के दौरान महिला के शरीर से खून बाहर निकलता है और यह खून उनकी अंडर गारमेंट्स पर ना लगने के लिए और खून बाहर निकलने की समस्या से राहत पाने के लिए सैनिटरी पैड इस्तेमाल किया जाता है |

लेकिन सेनेटरी पैड का इस्तेमाल करते समय भी हमें कुछ नुकसान हो सकते हैं, जैसे कि अधिक समय तक सैनिटरी पैड रखने की वजह से इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है और हैवी पीरियड्स की वजह से वह खून बाहर निकल सकता है |

वैसे देखा जाए तो टैम्पोन यह एक रुई का प्लग होता है, जो पीरियड के दौरान योनि के अंदर डालने से पीरियड्स का पूरा खून अवशोषित कर लेता है | बाजार में टैम्पोन अलग अलग साइज में उपलब्ध है, जैसे कि रेगुलर टैम्पोन और हैवी फ्लो टैम्पोन | रेगुलर टैम्पोन का इस्तेमाल नार्मल पीरियड के दौरान किया जाता है और जिस लड़की को या महिला को ज्यादा खून निकलने की समस्या हो और उसका खून का फ्लो ज्यादा हो, तो वह हैवी फ्लो टैम्पोन का इस्तेमाल कर सकती है |

टैम्पोन का इस्तेमाल करना क्यों फायदेमंद है ? Benefits Of Tampon in Hindi

टैम्पोन का इस्तेमाल
टैम्पोन का इस्तेमाल

मासिक धर्म के दौरान हैवी फ्लो के समय अगर महिलाएं सेनेटरी पैड का इस्तेमाल करती है, तो उसमें से खून बाहर निकलने की संभावना बनी रहती है और इसी के कारण महिलाओं के अंडरवियर पर खून के निशान बन सकते हैं |

अगर आप टैम्पोन का इस्तेमाल करती हो तो आपको पीरियड्स में हैवी फ्लो से डरना नहीं पड़ेगा, क्योंकि टैम्पोन उंगली के आकार का होने के कारण यह योनि के अंदर आसानी से चला जाता है और इससे खून बाहर निकलने का कोई सवाल नहीं होता है |

पीरियड्स में पैड फायदेमंद है या टैम्पोन : (Pads or Tampon in Hindi ?)

पीरियड्स में पैड फायदेमंद है या टैम्पोन
पीरियड्स में पैड फायदेमंद है या टैम्पोन

वैसे देखा जाए तो अधिकतम महिलाएं पीरियड्स के दौरान सेनेटरी पैड का इस्तेमाल करती है तो वह भी फायदेमंद होता ही है, लेकिन अगर आपको कोई मेहनत वाला काम करना है और अधिक समय तक बाहर रहना है, तो आपको टैम्पोन से अच्छा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं है | आप इसका इस्तेमाल सेनेटरी पैड के साथ साथ भी कर सकती हो जिससे आपको खून बाहर निकलने का सवाल ही नहीं पैदा होता है  |

क्या टैम्पोन का इस्तेमाल सेनेटरी पैड के साथ कर सकते हैं ? (Tampon Use with Sanitary Pad in Hindi)

 टैम्पोन का इस्तेमाल सेनेटरी पैड के साथ
टैम्पोन का इस्तेमाल सेनेटरी पैड के साथ

वैसे देखा जाए तो अगर आपको नॉरमल ब्लीडिंग हो रही है, तो आप सिर्फ टैम्पोन का भी इस्तेमाल कर सकते हो और यदि आपको हेवी ब्लीडिंग हो रही है और आपको अधिक समय तक बाहर रहना है, तो आप टैम्पोन का इस्तेमाल करते समय सैनिटरी पैड्स का भी इस्तेमाल कर सकती हो |

टैंपोन योनि के अंदर होने की वजह से जो निकलने वाला पूरा खून अवशेष कर लेता है और अधिक समय तक योनि के अंदर रहने की वजह से थोड़ा बहुत खून बाहर निकल सकता है, तो वह सैनिटरी पैड्स के ऊपर लगेगा जिससे कि महिलाओं की अंडरवियर पर भी कोई दाग धब्बे नहीं होंगे |

लड़कियों ने टैम्पोन का इस्तेमाल करने से पहले क्या ख्याल रखना चाहिए ? (Tampon Use Tips in Hindi)

लड़कियों ने टैम्पोन का इस्तेमाल
लड़कियों ने टैम्पोन का इस्तेमाल

अगर आप पहली बार टैम्पोन का इस्तेमाल करना चाहती हो, तो आपको नॉरमल साइज का टैम्पोन खरीदना चाहिए जोकि हाथ की छोटी उंगली की तरह होता है और आप इसे आसानी से अपनी योनि में डाल सकती हो |

पहली बार टैम्पोन का इस्तेमाल करने से पहले आपने सबसे पहले टैम्पोन के पैकेज के ऊपर लिखी हुई जानकारी पढ़नी चाहिए |

अगर आपको अधिक खून निकलने की समस्या हो रही है, तो आप बड़े साइज़ के टैम्पोन का इस्तेमाल कर सकती हो, लेकिन इससे आपके योनि का सील टूटने में खतरा हो सकता है |

टैम्पोन का इस्तेमाल करने के नुकसान : (Side Effect Of Tampon in Hindi)

टैम्पोन का इस्तेमाल करने के नुकसान
टैम्पोन का इस्तेमाल करने के नुकसान
  • वैसे देखा जाए तो टैम्पोन का इस्तेमाल करने के कोई ज्यादा नुकसान नहीं है लेकिन यदि आप पहली बार इसका इस्तेमाल कर रहे हो, तो आप को हल्के हाथों से इसका इस्तेमाल करना है |
  • अगर यह आपकी योनि में नहीं जा रहा है तो आपको अपने योनि को सबसे पहले गुनगुने पानी से साफ कर लेना चाहिए, जिससे की योनि में ढीलापन आ जाता है और यह आसानी से आपकी योनि में जा सकता है |
  • योनि का हायमन टूटने की संभावना टैम्पोन का इस्तेमाल से ज्यादा होती है, जो कि जब हम योनि के अंदर डालते हैं जिससे कि योनी छेद थोड़ा बड़ा करना पड़ता है |
  • गलती से भी टैम्पोन के नीचे का हिस्सा ज्यादा अंदर तक ना डालें, जिससे कि टैंपोन निकलने में समस्या आ सकती है |
  • टैम्पोन के नीचे के हिस्से में जो रस्सी होती है उसे हमेशा बाहर ही और रखना चाहिए, जिससे कि टैम्पोन के अंदर खून भरने के बाद आप उसको आसानी से खींच कर बाहर निकाल सकते हैं |
  • वजाइनल इन्फेक्शन के समय टैम्पोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, जिससे की योनि में घर्षण की समस्या हो सकती है |
  • टैंपोन का इस्तेमाल करने के बाद योनि में उंगली डालने का प्रयास ना करें, इससे आपको खतरा हो सकता है |
  • एक बार में एक ही टैम्पोन का इस्तेमाल करना चाहिए, अधिक टैम्पोन का इस्तेमाल करने से यह योनि में फंस सकता है |

टैम्पोन का यूज कैसे करें ? How To Use Tampon in Hindi ?

टैम्पोन का यूज
टैम्पोन का यूज

अगर आप पहली बार टैम्पोन का इस्तेमाल पीरियड के दौरान कर रहे हैं, तो आपको नीचे दिए हुए विधि को ध्यान में रखना चाहिए :

  1. टैम्पोन को खरीदने से पहले उस की एक्सपायरी डेट चेक कर ले और हो सके तो कोई अच्छा ब्रांड का टैम्पोन ही इस्तेमाल करें |
  2. टैम्पोन को खोलने से पहले आपको अपने हाथों को अच्छे से साफ करना चाहिए और अपने हाथों को सुखा कर हल्के से टैम्पोन के पैक को खोलना चाहिए |
  3. अगर गलती से टैम्पोन नीचे गिर गया, तो कभी इसका इस्तेमाल ना करें थोड़ा खर्चा हुआ चलता है, लेकिन उस टाइम के बैक्टीरिया के कारण आपको इनफेक्शन भी हो सकता है, इसलिए कभी भी नीचे गिरा हुआ टैम्पोन का इस्तेमाल ना करें |
  4. गुनगुने पानी से नहाने के बाद टैम्पोन का इस्तेमाल करना बहुत ही फायदेमंद है, क्योंकि इससे आपकी योनि मैं टैम्पोन लगाते समय दर्द नहीं होगा |
  5. कुछ महिलाएं टैम्पोन को योनि के अंदर लगाते वक्त खड़ी रह कर धीरे-धीरे टैम्पोन को अंदर डालती है और कुछ महिलाएं नीचे बैठकर पैर चौड़े करके योनि के अंदर इसे धीरे से लगाती है, आपको जिस पोजीशन में आराम मिल रहा है उस पोजीशन में आपको हल्के से टैम्पोन इंसर्ट करना है |

    टैम्पोन का इस्तेमाल
    टैम्पोन का इस्तेमाल
  6. टैम्पोन को अंदर डालते समय अपने हाथ की एक उंगली से धीरे-धीरे टेंपल को अंदर की और धकेलना है और आपको इस बात का ख्याल रखना है कि, टैम्पोन का धागा बाहरी दिशा में रहना चाहिए |
  7. टैम्पोन को अंदर लगाते समय अगर आपको दर्द हो रहा है तो आपको दूसरे हाथ से योनि की बाहरी त्वचा को दोनों उंगलियों से व्ही शेप करने बाहर करना है और हल्के हाथों से बीच वाले उंगली से टैम्पोन को अंदर डालना है |
  8. टैम्पोन को  योनि में डालने के बाद हल्के से अपनी उंगली को बाहर निकालना है और हो सके तो सैनिटरी पैड का इस्तेमाल इसके ऊपर से करना है |
  9. टैम्पोन को बाहर निकालते समय आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपको टैम्पोन का धागा हल्के हाथों से ही बाहर  खींचना है, जल्दबाजी में नहीं खींचना है |
  10. जब टैम्पोन आपकी योनि के अंदर ठीक से लग जाता है, तो आप को योनि में कुछ है ऐसा महसूस नहीं होगा | इसलिए आप को अगर ऐसा लग रहा है कि योनी में कुछ फंसा हुआ है, तो इसका मतलब यह है कि आपने टैम्पोन ठीक से नहीं लगाया है |

टैम्पोन का इस्तेमाल करने से टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम : (Toxic Shock Syndrome)

टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम
टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम
  • वैसे देखा जाए तो ज्यादातर लड़कियों में टैम्पोन का इस्तेमाल करने की वजह से टीएससी यानी कि टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम की समस्या पाई गई है, आमतौर पर यह रोग बैक्टीरिया की वजह से होता है जोर टैंपोन के ऊपरी हिस्से पर लगने की वजह से हो सकता है |
  • कई बार लड़कियां जल्दबाजी में टैम्पोन का पैकेट खोल देती है और इसकी वजह से बाहर ही हवा में मौजूद बैक्टीरिया टैम्पोन के ऊपर बैठ जाती है और यह टैम्पोन योनि में अंदर इनफेक्शन को बढ़ाने का काम कर सकता है, इसीलिए कभी भी टैम्पोन को पहले से ही खुल कर ना रखें |
  • योनि में इन्फेक्शन होने के समय यदि आप टैम्पोन लगाते हो, तो इससे भी आपको बैक्टीरिया बढ़ने का खतरा हो जाता है |
  • इस रोग से बचने के लिए आपको 8 घंटे से ज्यादा टैम्पोन का इस्तेमाल नहीं करना है, अधिक समय तक टैम्पोन योनि में रखने की वजह से भी ईस्ट इंफेक्शन बढ़ जाता है और इससे हमें बहुत नुकसान झेलना पड़ सकता है |’

बाजार में टैम्पोन की कीमत क्या है ? (Tampons Price)

टैम्पोन की कीमत
टैम्पोन की कीमत

मार्किट में अलग अलग प्रकार के टैम्पोन मौजूद होने के कारण अलग अलग ब्रांड के टैम्पोन की प्राइस अलग अलग है | Pee Safe Tampons १६ नग की Price मार्किट में ३२० रुपये के आसपास है और बेला टेम्पो की प्राइस १३३ रुपए है, O.b. Pro Comfort Regular Tampons ४० नग की कीमत ३७० रुपए है और १० नग सोफी टैम्पोन की कीमत १०४ है |

दोस्तों यह थी टैम्पोन का इस्तेमाल और टैम्पोन के क्या फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी | अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है, तो आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं |

 

Leave a Reply