पीरियड्स क्या होता है ? जानिये मासिक धर्म की जानकारी

पीरियड्स क्या होता है -:

पीरियड्स क्या होता है
पीरियड्स क्या होता है
  • १३ से १५ साल की आयु में लड़की के अंडाशय में हर महीने एक अंडा उत्पन्न होना शुरू हो जाता है | यह अंडा उत्पन्न होने के बाद अंडाशय को गर्भाशय से जोड़ता है, उसके बाद यह अंडा गर्भाशय में पहुंचता है  और यह अंडा खून और तरल पदार्थों से पूरी तरह से गाढ़ा हो जाता है | यह गाढ़ा पदार्था महिलाओं के योनि से बाहर निकलता है जिसे ही हम पीरियड्स कहते हैं |
  • जिन लड़कियों को पीरियड आना शुरू हो जाता है उन लड़कियों ने समझ जाना है कि वह प्रेग्नेंट होने के लिए पूरी तरह से तैयार है | क्योंकि महावारी के दिनों में लड़कियों के शरीर में विभिन्न प्रकार के हार्मोन तैयार होते हैं जो अंडे के रुप से भी जाना चाहते हैं | इसीलिए तो कहते है कि पीरियड्स के वक्त सेक्स करने से प्रेगनेंसी की संभावना ज्यादा होती है|
  • देखा गया तो महावरी के दिनों में लड़कियों को बिल्कुल अच्छा महसूस नहीं होता है | क्योंकि इन दिनों में महिलाओं के पेट में बहुत तेज झनझनाहट होती रहती है, कई बार महावरी शुरू होने के बाद महिलाओं के योनि में नमी महसूस होती है जिसके कारण महिलाओं को बिल्कुल भी कंफर्टेबल महसूस नहीं होता है | कई बार इस समस्या को लेकर महिलाएं डॉक्टर से उपचार भी लेती है |
  • महावरी के दिनों में लड़कियां आसानी से नॉर्मल काम कर सकती है | लड़कियों को गलतफहमी रहती है कि महावरी के दिनों में कुछ नहीं करना चाहिए | लेकिन इन दिनों में आपने आपके मां से बातें करते हुए हर कामों में सहभाग लेना चाहिए | पीरियड्स के दिनों में आपकी मां आपकी सबसे अच्छी सहेली होती है |
  • लड़कियों को सवाल होता है कि महावरी के दिनों में योनि से कितना खून बहता है, देखा गया तो महावरी के दिनों में लड़कियों के शरीर से लगभग आधा कप खून बह जाता है | लेकिन चिंता करने की कोई जरूरत नहीं होती है हमारी बॉडी रिकवर होने के लिए हमेशा तैयार रहती है |
  • पीरियड्स के दिनों में महिलाओं ने ज्यादा भारी काम नहीं करना चाहिए, क्योंकि कई बार लड़कियां इन दिनों में बहुत भारी काम करती है | खुद के स्वास्थ्य पर नजर नहीं डालती है जिसके कारण कई बार महिलाएं यह लड़कियां बीमार भी हो जाती है | इसलिए लडकियों ने पोषण युक्त चीजों का सेवन करें और आराम करें |

यह थी पीरियड्स क्या होता है के बारे में जानकारी |

महिला के पीरियड्स के बारे मे जानकारी

महिला के पीरियड्स
महिला के पीरियड्स

Aise kayi sawalo se ladkiya pareshan hai to isme pareshani ki koi baat nahi hum aapko batayenge mc periods kya hota hai.

मासिक धर्म को इंग्लिश में क्या कहते है (MC ka full form kya hai) :

M.c ka full form hai menstrual cycle यानिकी मासिक धर्म, Mc ko asan bhasha me periods bhi kaha jata hai यह mc सिर्फ महिलाओं को ही आती है |

Periods kya hota hai:

मासिक धर्म मतलब menstrual cycle पीरियड्स होता है.यह सब एक ही चीज़ का नाम है. Menses सिर्फ़ लड़कियों को होते हैं.

loading...
periods kya hota hai
periods kya hota hai

हर महीने या ज़्यादा bachedani की line moti हो जाती है तो एक अंडे के ज़रिए औरत प्रेग्नेंट हो सके अगर अंडा ज़रखेज़ न हो तो फिर वो लाइन लड़की के जिस्म से खून की सूरत में chut matlab yoni  से बाहर निकलता है. इस सारे प्रोसेस को  मेन्स्ट्रुयल साइकल कहा जाता है.

Menstrual cycle matlab periods me ladkiyon ko bahut dard hota hai. Har ladki ko mc ka dard kaise kam kare ya periods ka dard kaise kam kare gharelu upay aise kahi sawal ate hai.

मासिक धर्म आने के घरेलू उपाय :

मासिक धर्म आने के घरेलू उपाय
मासिक धर्म आने के घरेलू उपाय

महिलाओ को हर महीने मे एक बार पीरियड्स आना ज़रूरी है| पीरियड्स आने की वजह से महिलाओ की बॉडी मे जमा हुआ खून यानिकी ब्लड निकल ने के बाद वो सेहतमंद महसूस करती है| लड़की को पीरियड्स अपने यौन अवस्था मे आने मे शुरुआत होती है. उमर के १६ साल के बाद आमतौर पर पिरीयड्स आते है | पीरियड्स आने से अगर आपने सेक्स किया होगा तो पता चल जाता है की आप प्रेग्नेंट नही है| अगर आपके पार्ट्नर के साथ संभोग यानिकी सेक्स करने के बाद आपको आपकी डेट पर पीरियड्स नही आये , तो आप प्रेग्नेंट होने के चान्स बढ़ जाएंगे.

Periods ka dard kaise kam kare (पीरियड्स में होने वाला दर्द कम करने के लिए):

  • cycling karne se ya jogging jaise exercise karne se pet ka dard aur periods me hone wala dard kam kar sakte hai.
  • Periods ka dard kam karne ke liye jis dawai me 500 मिलीग्राम पेरासिटामोल aur ६५ मिलीग्राम कैफीन hota hai vo  पेरासिटामोल jyada  शक्तिशाली hoti hai.Paraparacetamol na ki sirf पीठ का दर्द aur मरोड़ ko thik karti hai aur  मासिक धर्म / माहवारी की पीड़ा mahwari pida ko bhi thik karti hai.

Upar diye gharelu upay yaniki gharelu nuskhe ko ap periods ke dard ko kam karne ke liye use kar sakte hai.

Mahvari pida mahilao ko kafi dardnak hota hai. periods ki photo nahi dikha sakte hai kyun ki ladkiyon ke periods bahut dar dene wale hote hai.

देखिये :

लड़की के पीरियड्स की फोटो कैसी होती है ?

ladki ki periods ki photo
ladki ki periods ki photo

पीरियड्स में खून कैसे बनता है ?

महिला के पीरियड्स की फोटो
महिला के पीरियड्स की फोटो

आमतौर पर लड़कियों की पीरियड्स उनके उम्र के 11 से 15 साल के दौरान चालू होती है | कई सारी लड़कियों के पीरियड्स इस उम्र से पहले भी चालू हो सकते हैं, यह हार्मोनल बदलाव के कारण होता है | यदि किसी लड़की के शरीर में हारमोनल बदलाव मैं कुछ ज्यादा ही बदलाव हुआ है, तो उस लड़की के पीरियड्स आने में देरी हो जाती है

औरत के शरीर में दो अंडाशय और एक गर्भाशय होता है, औरत के अंडाशय में हर महीने एक अंडा विकसित होता है और जब यह उस महिला के गर्भाशय की और पहुंचता है | तब उस अंडे का स्तर खून और तरल पदार्थों से गाढ़ा हो जाता है और अगर उस अंडे का पुरुष के वीर्य के साथ मिलन नहीं होता है, तो यह खून में परिवर्तित हो जाता है और यह खून महिला के पीरियड से निकल जाता है और इसी खून को मासिक धर्म या मेंस्ट्रुएशन कहते हैं |

मासिक धर्म का चक्र कैसा होता है?

मासिक धर्म का चक्र
मासिक धर्म का चक्र

ज्यादातर महिलाओं को मासिक धर्म के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है और इसी के कारण लड़कियां परेशान रहती है कि उनका मासिक धर्म कब आएगा और मासिक धर्म आने में देरी क्यों हो रही है, लेकिन सबसे पहले आपको मेंस्ट्रुअल साइकिल के बारे में पता होना जरूरी होता है और यदि आपको मासिक धर्म का चक्र पता है तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है | स्त्री जाती को हर महीने मासिक धर्म का सामना करना पड़ता है, इसमें आमतौर पर मासिक धर्म का चक्र 28 दिनों का होता है |

महिलाओं के पीरियड 3 से 4 दिनों तक चलते कई बार तो यह 7 दिनों तक भी रहते हैं | हर महिला का पीरियड चक्र अलग अलग किस्म का होता है कुछ महिलाओं का 28 दिनों का होता है तो कुछ महिलाओं का 32 दिनों तक होता है | लड़की के पीरियड्स शुरू होने लगते हैं तब लड़की के पीरियड्स कुछ सालों तक इर्रेगुलर पीरियड रहते हैं, यानी कि अनियमित रहते हैं और इस पीरियड्स को नियंत्रित करने के लिए लड़की के शरीर में हारमोंस को कई साल लग जाते हैं |

अनियमित पीरियड होने के कारण लड़की और को बहुत सारे कष्ट झेलने पड़ते हैं जिसने लड़कियों को कमर दर्द होना या पेट दर्द होना आम बात होती है |

महिला के पीरियड कब बंद होते हैं ?

जैसे कि हमने आपको पहले ही बताया है कि हर महिला का पीरियड का चक्र अलग-अलग होता है, इसी तरह महिला के पीरियड बंद होने के लिए अलग-अलग आयु में अंतर पाया जाता है | महिला के पीरियड गर्भावस्था के दौरान बंद रहते हैं क्योंकि उस समय महिला के पेट में बच्चे का विकास होता है |

वैसे आमतौर पर 40 से 50 साल के उम्र के बाद महिलाओं के पीरियड्स नेचुरली बंद हो जाते हैं | अगर कम उम्र में पीरियड्स बंद हो रहे हैं तो महिला को डॉक्टर के सलाह जरूर लेनी चाहिए, क्योंकि कम उम्र में पीरियड्स बंद होना सही बात नहीं है |

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को कैसा लगता है?

लड़की के मासिक धर्म के शुरुआती दिनों में उनकी कमर में हल्का सा दर्द होने लगता है और इसे मासिक धर्म का पहला पड़ाव माना जाता है | जैसे जैसे महिला के शरीर से रक्तस्राव निकलने लगता है, वैसे उसे दर्द भी कम होने लगता है और उन्हें आराम मिलने लगता है | मासिक धर्म के दौरान शरीर में दर्द अधिक होने के कारण उनके स्वभाव में चिड़चिड़ापन आ जाता है, इसीलिए कभी भी महिला के पीरियड के दौरान उन्हें ज्यादा परेशान नहीं करना चाहिए |

Download Premium WordPress Themes Free
Download WordPress Themes Free
Free Download WordPress Themes
Free Download WordPress Themes
online free course
download mobile firmware
Download WordPress Themes
online free course
loading...
loading...