गर्भावस्था के दौरान सावधानियां

3
82
गर्भावस्था के दौरान सावधानियां
गर्भावस्था के दौरान सावधानियां

गर्भावस्था के दौरान सावधानियां

गर्भावस्था के दौरान सावधानियां
गर्भावस्था के दौरान सावधानियां

गर्भावस्था में सावधानियां लेने से बच्चे का पोषण अच्छा होता है| इसलिए गर्भवती महिला को गर्भावस्था में क्या खाए क्या नहीं और गर्भावस्था के दौरान सावधानियां रखनी चाहिए|

गर्भावस्था में खाने पीने पर विशेष ध्यान देना चाहिए, इसलिए गर्भावस्था में क्या खाए क्या नहीं और गर्भावस्था के दौरान सावधानियां यह बातें नीचे दे रहे है। गर्भवती महिला के लिए भोजन क्या करना चाहिए क्या नहीं यह ध्यान रखना चाहिए|

गर्भावस्था में क्या खाए क्या नहीं :

  • गर्भवती महिला को  मिठाईयां ज्यादा नहीं खाना चाहिए।
  • आलू, चावल और ब्रेड में मौजूदा कार्बोहाइड्रेट शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाते हैं जो बॉडी में हो रहे बदलाव के लिए जरुरी है। ख्याल रहे ऐसी चीजें ज्यादा खाने से वजन बढ़ने का खतरा रहता है।
  • बच्चे मे न्यूरल ट्यूब के खतरे को कम करने में फोलिक ऍसिड अहम है। स्ट्रॉबेरी, संतरा, हरी सब्जियां और फ्रूट में फोलिक एसिड की मात्रा अधिक होती है।
  • प्रेगनेंसी में मांस मछली का सेवन ना करें । क्योंकि इन में मरकरी के बढ़े हुए स्तर पाए जाते हैं जो बच्चों के मानसिक विकास पर असर डालते हैं।
  • चाय और कॉफी ज्यादा पीने से बच्चे के विकास में तकलीफ होती है । मानसिक एवं शारीरिक कमी का कारण बन सकता है। इसलिए दिन में दो कप चाय या कॉफी तक ही सीमित रहें इससे ज्यादा चाय और कॉफी का सेवन ना करें।
  • प्रेगनेंसी में मिठाईयों का सेवन ज्यादा न करें। मिठाई आपको किसी प्रकार का पोषण नहीं देती। ज्यादा मीठी चीजों का सेवन करने से आपका वजन बढ़ता है जो बच्चों के जन्म के वक्त परेशानी पैदा करता है।
  • प्रेगनेंसी में शराब और धूम्रपान से दूर रहे। यह मां और बच्चों के लिए हानिकारक है और इन का अधिक सेवन से गर्भपात हो सकता है।
  • सब्जियां और फल कुछ चीजें ऐसी हैं जिन्हें बिना धोए कभी ना खाए । खाना पकाने से पहले सब्जियों को ताजे पानी से अच्छे से धो लें । इसके अलावा खाने से पहले भी अच्छी तरह से धो ले।
  • कच्चा खाना खाने से बचे। कच्चे खाने में वायरस और बैक्टीरिया होते हैं जो शिशु और मैं दोनों को नुकसान कर सकते है इसीलिए अच्छी तरह पका हुआ खाना खाए।

पढ़िए –

प्रेग्नेंट होने के लक्षण / गर्भावस्था के लक्षण.
जुड़वा बच्चे (twins) पैदा करने के लिए क्या करना चाहिए लक्षण हिंदी.
Normal delivery kaise hoti hai हिंदी में जानकारी.
क्या आपको यह लेख पसंद आया ?

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here