Home » प्रेगनेंसी की जानकारी » प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए क्या नही ? प्रेगनेंसी का डाइट प्लान

प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए क्या नही ? प्रेगनेंसी का डाइट प्लान

प्रेगनेंसी का डाइट प्लान

हर प्रेग्नेंट महिला को अपने खानपान की तरफ ध्यान देना बहुत जरूरी होता है क्योंकि वह जो खाना खाती है उसका सीधा असर है उसके होने वाले बच्चों पर पड़ता है | यदि प्रेगनेंसी का डाइट प्लान अच्छा हो तो होने वाला बच्चा तंदुरुस्त पैदा होता है | अच्छे डायट प्लान की वजह से बच्चे में एनर्जी ज्यादा होने की वजह से जब वह पेट से बाहर निकलता है | तब बाहरी दुनिया से लड़ने के लिए वो तैयार होता है |

तंदुरुस्त प्रेगनेंसी होने के लिए महिला के आहार में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स और फैट्स जितना एक गर्भवती महिला के लिए जरूरी है, उतना लेना बहुत जरूरी होता है | महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए ? इस बात का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है |

हर महिला अपना होने वाला बच्चा तंदुरुस्त चाहिए यह चाहती है , लेकिन क्या हर महिला प्रेगनेंसी में अपने खान-पान की तरफ ध्यान देते हैं ?

सूचि देखे :

प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाएं ?

प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाएं
प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाएं

यदि आपको भी एक हट्टा कट्टा बच्चा पैदा करना है तो आपको प्रेगनेंसी का डाइट प्लान की तरफ ध्यान रखना बहुत जरूरी है | गर्भावस्था के समय महिला को अधिक मात्रा में विटामिन और मिनरल की जरूरत पड़ती है | लगभग 300 से 500 कैलोरी रोजाना अधिक मात्रा में जरूरी होती है |

प्रेगनेंसी में अलग अलग महीने जैसे की १ ला महिना, २ रा महिना, ३ रा महिना, ४ था महिना, ५ वा महिना, ६ वा महिना, ७ वा महिना, ८ वा महिना, ९ वा महिना में खाने पिने का ख़याल रखना बहुत जरुरी होता है |

यदि आप प्रेगनेंसी के बाद 300 से 500 कैलोरी की अधिक मात्रा नहीं बरकरार रख पाती है, तो इससे आपके होने वाले बेबी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ सकता है |

यदि आप खुद अपने खानपान की तरफ ध्यान रखती हो तो आपको गर्भावस्था के बाद भी पेट कम करने में कोई परेशानी नहीं होगी | अब हम जानते हैं, प्रेगनेंसी के दौरान हमें क्या खाना चाहिए ?

डेयरी उत्पादों का सेवन :

डेयरी उत्पादों का सेवन
डेयरी उत्पादों का सेवन

गर्भावस्था के दौरान आपको पेट में बढ़ने वाले बच्चों को प्रोटीन और कैल्शियम की मात्रा जरूरी होती है | और इस प्रोटीन और कैल्शियम की मात्रा को भरने के लिए आपको दूध के उत्पादन का सेवन करना चाहिए | दूध के उत्पादन में Casein और Whey प्रोटीन होता है | दूध में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, विटामिन बी अच्छी मात्रा में पाया जाता |

प्रेगनेंसी में गर्भवती महिला को कच्चा दूध का सेवन नही करना चाहिए | उबला हुआ दूध का ही सेवन करने दे | गर्भावस्था के दौरान दही खाना भी महिलाओं के लिए फायदेमंद होता है, क्योंकि दही में प्रोबायोटिक बैक्टीरिया होते हैं जो खाना हजम होने में मदद करते हैं |

नारंगी का सेवन करें :

नारंगी का सेवन करें
नारंगी का सेवन करें

तंदुरुस्त बच्चे के साथ साथ यदि सुंदर बच्चा पैदा करना है, तब आपको गर्भावस्था के दौरान नारंगी का सेवन करना लाभदायक होता है |

पानी का सेवन करते रहे :

पानी का सेवन करते रहे
पानी का सेवन करते रहे

बच्चे की सेहत और माता की सेहत गर्भावस्था के दौरान अच्छी रखने के लिए प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को पानी का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए | यदि आपको पता नहीं है कि गर्भावस्था के दौरान कितना पानी पीना चाहिए ? तब आप डॉक्टर की सलाह से यह जान सकती हो | पानी का नियमित सेवन करने से आपके शरीर में मौजूद खून शुद्ध होता है |

सेब का सेवन करना चाहिए :

सेब का सेवन करना चाहिए

अक्सर आपने सुना होगा नियमित सेब का सेवन करने से आपको डॉक्टर से मिलने की जरूरत नहीं पड़ती है और यह बात बिल्कुल सही है | गर्भवती महिला को स्वस्थ बच्चा पैदा करने के लिए रोजाना दो सेब खाना जरूरी है |

देसी चने का सेवन :

देसी चने का सेवन

गेहूं के साथ देसी जनों को लेकर उसे अच्छे से पिसवाने के बाद उसकी रोटी बनाकर खाना चाहिए | इस रोटी का सेवन करने से आपको बहुत ताकत मिलती है और प्रेगनेंसी के दौरान कमजोरी नहीं आती |

हरी सब्जी का सेवन करना चाहिए :

हरी सब्जी का सेवन
हरी सब्जी का सेवन

गर्भवती महिला को हरी सब्जियों का सेवन करना बहुत ही गुणकारी होता है , हरी सब्जियों में मौजूद फाइबर उनके शरीर में लगने वाले फाइबर की मात्रा को बरकरार रखते हैं |

अब हम जानते हैं प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाने से हमें क्या मिलता है ?

प्रेगनेंसी के दौरान आयरन की कमी को पूरा करने के लिए क्या खाएं ?

आयरन की कमी
आयरन की कमी

गर्भावस्था के समय आयरन महिला के ब्लड के लिए बहुत जरूरी होता है और आयरन की कमी महसूस होती है तो उसे एनीमिया यानी की खून की कमी महसूस होती है |

प्रेगनेंसी के दौरान आयरन की कमी को पूरा करने के लिए आपको खाने में पालक की सब्जी, अंडे का पीला हिस्सा, मसूर की दाल और सोयाबीन खाना चाहिए | यदि आपको डॉक्टर ने आयरन की गोली खाने की सलाह दी है तो आप आयरन की गोली भी खा सकते हैं, इससे आप अपने शरीर में आयरन की पूर्ति कर सकते हो |

प्रेगनेंसी के दौरान कार्बोहाइड्रेट्स की पूर्ति करने के लिए क्या खाएं ?

 कार्बोहाइड्रेट्स की पूर्ति
कार्बोहाइड्रेट्स की पूर्ति

शरीर में कार्बोहाइड्रेट्स एनर्जी पैदा करने की क्षमता रखते हैं यदि आप गर्भावस्था के दौरान कार्बोहाइड्रेट्स की कमी महसूस करती हो, तो आपके शरीर में एनर्जी कम रहेगी और आपका कुछ भी काम करने में मन नहीं लगेगा |

शरीर में कार्बोहाइड्रेट्स मिलने के लिए चावल या आलू का सेवन कर सकते इसके लिए आपको डॉक्टर की सलाह लेनी जरूरी होती है, क्योंकि अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स बढ़ने की वजह से भी आपका वजन बढ़ने का खतरा होता है इससे पेट बढ़ सकता है |

गर्भावस्था में कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए क्या खाना चाहिए ?

कैल्शियम की कमी
कैल्शियम की कमी

गर्भावस्था के दौरान बच्चे का अच्छा विकास होने के लिए और शरीर में मौजूद हड्डियों को ताकत लाने के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी होता है | यदि किसी महिला को कैल्शियम की कमी होती है, तो उसे हड्डियों में दर्द होना ऐसी समस्याओं से जूझना पड़ता है |

शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए आपको रोजाना दो गिलास दूध का सेवन करना चाहिए, इससे आपको गर्भावस्था में कैल्शियम की कमी महसूस नहीं होगी | कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए आप दही का सेवन, साग का सेवन, बादाम और ओट्स का सेवन कर सकती है |

गर्भावस्था में आयोडीन की कमी को पूरा करने के लिए क्या खाएं ?

आयोडीन की कमी
आयोडीन की कमी

आयोडीन की कमी आने की वजह से गर्भावस्था में गर्भपात या बच्चे का मानसिक विकास ना होना ऐसी समस्याएं होती है | इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान आयोडीन युक्त नमक का ही सेवन करना चाहिए |

आयोडीन की मात्रा को बरकरार रखने के लिए आपको डॉक्टर की सलाह लेनी जरूरी होती है |

गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन क्या खाने से मिलता है ?

प्रोटीन क्या खाने से मिलता है
प्रोटीन क्या खाने से मिलता है

गर्भावस्था के दौरान पेट में बढ़ने वाले बच्चा या बच्ची को प्रोटीन बहुत जरूरी होता है क्योंकि हमारे शरीर के अंग विकसित होने के लिए और त्वचा को विकसित होने के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी होता है |

शरीर में संतुलित मात्रा में प्रोटीन होने की वजह से महिलाओं के स्तनों का और गर्भाशय का विकास अच्छे से होता है शरीर में प्रोटीन की कमी को भरने के लिए आप प्रेगनेंसी के डायट चार्ट में डेरी युक्त प्रोडक्ट, सोयाबीन, पनीर, उबला हुआ चना, ड्राई फ्रूट्स और अंडे आदि का सेवन कर सकती हो |

गोरा बच्चा पैदा करने के लिए क्या खाना चाहिए ?

गोरा बच्चा पैदा करने के लिए क्या खाना
गोरा बच्चा पैदा करने के लिए क्या खाना

अक्सर कई सारी महिलाएं गोरे रंग का बच्चा पैदा करना चाहती है | लेकिन हम आपको यह बता दे कि भगवान ने दिया हुआ रूप और रंग जैसा भी है वैसा अच्छा होता है, लेकिन फिर भी यदि आप गोरे बच्चे को जन्म देना चाहती है तो आप अपने आहार में कुछ चीजों को खाकर एक सुंदर गोरे बच्चे को जन्म दे सकती है |

इसके लिए क्या खाना चाहिए ?

गर्भावस्था के दौरान या गर्भावस्था से पहले :

  • बादाम
  • देसी घी
  • संतरा
  • अनानास
  • सौंफ का पानी
  • अंजीर
  • अंगूर
  • आंवले का मुरब्बा
  • नारियल
  • दूध

आदि का सेवन करने से होने वाला बच्चा गोरा पैदा होने की संभावना होती है | अब हम जानते हैं गर्भावस्था के दौरान महिला को क्या नहीं खाना चाहिए जिससे कि उसके पेट में बढ़ने वाले शिशु को कोई नुकसान ना हो ?

प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए ?

प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए
प्रेगनेंसी के दौरान क्या नहीं खाना चाहिए

अक्सर महिलाएं तंदुरुस्त बालक को जन्म देने के लिए जो मिलता है वह खाने लगती है | जो भी हम खाते हैं वह हमारे शरीर के लिए जरूरी है या नहीं यह जानकारी लेकर यदि हम गर्भावस्था में अपने खानपान की तरफ ध्यान रखते हैं, तो होने वाले बच्चे को और मां को कोई खतरा नहीं होता है |

महिलाएं प्रेग्नेंट होने के बाद ऐसी चीजों का सेवन कर लेती है, जिसकी वजह से उन्हें मिसकैरेज या गर्भपात जैसी भीषण समस्या का सामना करना पड़ता है |

गर्भावस्था के दौरान समुद्री जीव खाने से दूर रहे :

अक्सर कई महिलाएं अपने प्रेग्नेंट होने के समय या होने के बाद मछली का सेवन करना चालू रखती है लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान मछली आने की वजह से भी आने वाले समय में परेशानी हो सकती है, इसलिए डॉक्टर की सलाह से ही आपको मछली का सेवन करना है |

रही बात अन्य समुद्री जिओ की तो आपको मछली के अलावा अन्य किसी समुद्री जीव को नहीं खाना चाहिए, इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होने से मिसकैरेज हो सकता है |

खाना पका कर ही खाना चाहिए :

प्रेगनेंसी के दौरान कच्चा खाना खाने की वजह से इंफेक्शन का खतरा पड़ता है क्योंकि बच्चे सब्जी में या अन्य किसी वस्तु में बैक्टीरिया होने का खतरा रहता है | गर्भावस्था के दौरान पका हुआ खाना खाने की वजह से उसमें मौजूद बैक्टेरिया नष्ट हो जाते हैं |

प्रेगनेंसी के दौरान पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए :

ज्यादातर महिलाओं को पता है कि पपीता खाने की वजह से बच्चा गिर जाता है यानी कि मिसकैरेज हो जाता है | लेकिन कई महिलाएं ऐसी भी है जिन्हें इस बात का पता नहीं इसलिए हम आपको सलाह देना चाहते हैं कि कभी भी प्रेग्नेंसी के दौरान पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए |

नशीली चीजों से दूर रहे :

अगर आपको प्रेगनेंसी से पहले नशा करने की आदत है तो आपको सबसे पहले अपनी नशा करने की आदत को बंद करना है क्योंकि गर्भावस्था के दौरान दारु, सिगरेट, तंबाकू आने की वजह से बच्चे की सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ता है | जितना हो सके उतना खयाल रखना बहुत जरूरी होता है |

हरी सब्जियां और फलों को साफ करने के बाद ही खाना चाहिए :

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को बाजार से लाई हुई सब्जियां और फलों को सबसे पहले अच्छे पानी से या गुनगुने पानी से साफ करने के बाद ही खाना चाहिए, क्योंकि ज्यादा समय तक ताजा रहने के लिए मार्केट में फलों और सब्जियों के ऊपर रासायनिक द्रव्य डाले जाते हैं | इसलिए जो भी आप बाजार से लाती हो उसे साफ करके ही खाना चाहिए |

तो दोस्तों यह था प्रेगनेंसी का डाइट प्लान और गर्भावस्था के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं की जानकारी | यदि आपको किसी भी प्रकार का सवाल है, तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकती है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!