प्रेगनेंसी के बाद पीरियड्स कब आते है ? जानिए

0

नमस्ते दोस्तों, आज हम आपको प्रेगनेंसी के बाद पीरियड्स की जानकारी देने वाले हैं | बच्चे को जन्म देने के बाद बहुत सारी महिलाओं को उनकी पहली महावरी के बारे में कई सारे सवाल हमेशा मन में आते रहते हैं | लेकिन बहुत सारी महिलाएं प्रेगनेंसी के बाद पीरियड्स को नजरअंदाज करते हुए हम देखते हैं |

९ महीने तक बच्चे को पेट में रखने के बाद महिला को महावारी आने की आदत नहीं होती है क्योंकि प्रेगनेंसी में पीरियड्स नहीं आते हैं | लेकिन बच्चे को जन्म देने के बाद फिर से जब महावारी आना शुरू हो जाता है तब कई बार महिलाओं को अजीब सा महसूस होता है |

पीरियड्स चक्र की वापसी को प्रभावित करने के लिए काफी हार्मोन जिम्मेदार होते हैं, जिसके कारण प्रेगनेंसी के बाद जब महावरी आना शुरू हो जाता है तब महिलाओं ने इस बात को लेकर ज्यादा चिंतित ना रहते हुए खुश रहना चाहिए |

आमतौर पर देखा जाए तो प्रेगनेंसी के बाद ४ हफ्तों से लेकर ६ हफ्तों के अंदर महिला को कभी भी पीरियड्स आना शुरू हो सकता है | इसलिए ऐसे वक्त अपने शरीर पर नजर रखें, फिर भी प्रेग्नेंसी के बाद पीरियड्स के बारे में हम और जानकारी देखेंगे |

डिलीवरी होने के बाद पीरियड्स कब आते हैं ?

डिलीवरी होने के बाद पीरियड्स
डिलीवरी होने के बाद पीरियड्स
  • विज्ञान के अनुसार देखा जाए तो प्रेगनेंसी के बाद दोबारा पीरियड शुरू होने का संबंध सीधा बच्चे को स्तनपान कराने की स्थिति से जोड़ा जाता है |
  • महिलाओं के स्तनों में जो दूध तैयार होता है उसमें प्रोलैक्टिन हार्मोन जिम्मेदार होता है, अगर महिला बच्चे को स्तनपान करवाती है तो महिला के शरीर में प्रोलैक्टिन हार्मोन ज्यादा काम करेगा जिससे पीरियड्स नहीं आते हैं |
  • कोई महिला अगर अपने बच्चे को स्तनपान नहीं कराती है तो उस महिला को प्रेगनेंसी के ४ से ६ हफ्ते के बाद लगातार मासिक धर्म आना शुरू हो जाता है |
  • महिला रोग तदन्य के अनुसार प्रसूति के बाद महिला को पीरियड समय में महीने भी लग सकते हैं | जिन महिलाओं का शरीर काफी संतुलित होता है उन महिलाओं के पीरियड समय में किसी प्रकार की समस्या नहीं आती है | लेकिन महिला अगर अपने बच्चे को रोजाना दूध पिला रही है तो पीरियड्स आने में काफी वक्त लगेगा |

बच्चे को जन्म देने के बाद पीरियड्स कितने दिन चलते हैं ?

बच्चे को जन्म देने के बाद पीरियड्स
बच्चे को जन्म देने के बाद पीरियड्स
  • अमेरिका के डॉक्टर कहते हैं कि बच्चे को जन्म देने के बाद महिला के पीरियड्स सामान्य रूप से आना शुरू हो जाता है |
  • कई बार बच्चे को जन्म देने के बाद महिला के पीरियड साइकिल में परिवर्तन आ भी सकता है, इसलिए प्रेगनेंसी के बाद पीरियड्स आते समय महिलाओं ने अपने शरीर की सारी गतिविधियों को संतुलित रखना चाहिए |
  • मासिक धर्म के चलते हुए महिलाओं को पेट में काफी दर्द होता है, प्रेगनेंसी के बाद अगर आपको ऐसा महसूस होता है कि आपको बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है तो ऐसे वक्त अच्छे डॉक्टर की सलाह ले |
  • अगर आप बच्चे को स्तनपान कराती हो तो बच्चे को जन्म देने के बाद पीरियड्स कुछ महीनों के बाद भी शुरू हो सकते हैं | एक बार अगर पीरियड्स आना शुरू हो जाता है तो उम्र के ५० तक पीरियड लगातार शुरू रहते हैं |

प्रेगनेंसी के बाद पीरियड कब रेगुलर होते हैं ?

प्रेगनेंसी के बाद पीरियड कब रेगुलर
प्रेगनेंसी के बाद पीरियड कब रेगुलर
  • आमतौर पर देखा जाए तो प्रेगनेंसी के तुरंत बाद पीरियड शुरू हो जाते है ऐसा कुछ महिलाओं का भ्रम होता है |
  • महिलाओं को हम बताना चाहते हैं कि प्रेगनेंसी के बाद पीरियड तुरंत शुरू नहीं होते हैं | प्रेगनेंसी के बाद जब आप बच्चे को स्तनपान कराती हो तब पीरियड्स नहीं आ पाते हैं, क्योंकि इस वक्त आपके शरीर के हॉर्मोन आपके स्तनों में दूध बनाने का काम करते हैं |
  • गायनोकोलॉजिस्ट का कहना होता है कि बच्चे को जन्म देने के ४ से ५ हफ्ते के बाद महिला को पीरियड आना पूरी तरह से शुरू हो जाता है | ऐसे वक्त महिलाओं को पीरियड्स के वक्त अगर असहजता महसूस होती है तो महिला ने तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए |
  • कुछ महिलाएं अपने बच्चों को स्तनपान नहीं करवाती है, जो महिलाएं अपने बच्चे को दूध नहीं पिलाती है उन महिलाओं को प्रेग्नेंसी के तुरंत बाद पीरियड्स आना शुरू हो सकता है |

प्रेगनेंसी के बाद पीरियड्स में खून के थक्के दिखाई देना ?

पीरियड्स में खून के थक्के
पीरियड्स में खून के थक्के

प्रेगनेंसी के बाद जब महावारी आना शुरू होता है तब इस वक्त योनि से अधिक या कम रक्तस्त्राव होने की संभावना होती है | न्यूयॉर्क के डॉक्टर जॉन्स कहती है की अगर आपको लंबे समय तक योनि से रक्तस्राव हो रहा है तो यह बात बिल्कुल भी असामान्य है, इसलिए ऐसे वक्त थोड़े थोड़े वक्त के बाद पैड बदलते रहे जिससे योनि के अंदर संक्रमण नहीं होगा |

कुछ महिलाओं को प्रेग्नेंसी के बाद ७ दिन से अधिक समय तक रक्तस्त्राव होते रहता है, ऐसे वक्त खून के थक्के दिखाई दे सकते हैं |

इसलिए ऐसे वक्त महिलाओं ने अपने शरीर की सारी गतिविधियों पर नजर रखना चाहिए | कई बार पीरियड्स के बीच में स्पॉटिंग भी हो सकती है ऐसे वक्त अपने शरीर को स्वस्थ रखें और कोई समस्या आती है तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें |

गर्भावस्था के बाद पीरियड्स आने से मां के दूध में क्यों कमी आती है ?

पीरियड्स आने से मां के दूध में कमी
पीरियड्स आने से मां के दूध में कमी
  • मां जब बच्चे को स्तनपान कराती है तब मां के शरीर में प्रोलैक्टिन हार्मोन काम करता है जो महिलाओं में दुग्ध उत्पादन के लिए एक जिम्मेदार हार्मोन है |
  • लेकिन धीरे-धीरे मां जब बच्चे को दूध पिलाना कम करती है तब मां के शरीर में ओवुलेशन साइकिल दोबारा से शुरू होना शुरू होता है ऐसे वक़्त मां के शरीर में दूध की कमी आ सकती है |
  • कई बार प्रेगनेंसी के बाद महिलाएं ठीक तरह से अपने शरीर का पोषण नहीं कर पाती है | जिसके कारण भी महिलाओं के स्तनों में दूध की कमी आ सकती है इसलिए महिलाओं ने संतुलित जीवनशैली का इस्तेमाल करने के साथ-साथ अपने भोजन में सारे पोषक तत्व खाना चाहिए |
  • महिला को जब ऐसा लगता है कि उसके शरीर में बिल्कुल भी दूध की निर्मिति नहीं हो रही है और उसे उसके बच्चे को दूध पिलाना है तो ऐसे वक्त अच्छे गायनाकोलॉजिस्ट की सलाह लेकर स्तनपान और महावरी के बारे में राय लेनी चाहिए |
प्रेगनेंसी के बाद पीरियड्स कब आते है ? जानिए
5 (100%) 2 votes

Leave A Reply

Your email address will not be published.